बिहार चुनाव का क्या है अमेरिका चुनाव से कनेक्शन?

न्यूज़18 क्रिएटिव
न्यूज़18 क्रिएटिव

Bihar Election Result 2020 : अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) की हार बिहार चुनाव से किस तरह सीधे जोड़कर देखी जा रही है? किस तरह जो बाइडन (Joe Biden) और कमला हैरिस (Kamala Harris) का बिहार कनेक्शन (Bihar Connection) चर्चा का विषय बना हुआ है?

  • News18India
  • Last Updated: November 10, 2020, 4:28 PM IST
  • Share this:
बिहार चुनाव (Bihar Polls Results) के नतीजों के दिन सबसे बड़ी चर्चा यही है कि नीतीश कुमार सरकार (Nitish Kumar Government) दोबारा बिहार में काबिज़ होगी या फिर सत्ता परिवर्तन होगा. सत्ता बदलेगी तो तेजस्वी यादव किस तरह सीएम की कुर्सी तक पहुंचेंगे. इस बीच, अमेरिका चुनाव (US Presidential Election) के नतीजों की भी चर्चा ज़ोरों पर है क्योंकि वहां डोनाल्ड ट्रंप की सत्ता जाने और नए राष्ट्रपति के तौर पर डेमोक्रेट नेता जो बाइडन के नए राष्ट्रपति बनने की खबरें आ चुकी हैं. यही नहीं, बाइडन प्रशासन में कमला हैरिस उपराष्ट्रपति होंगी, जिनका भारत के साथ कनेक्शन काफी चर्चित हो चुका है.

इस बीच, सोशल मीडिया के साथ ही राजनीतिक गलियारों में इस तरह का शिगूफा छिड़ चुका है कि बिहार चुनाव को अमेरिका के चुनाव के साथ जोड़कर देखा जाए. इस बारे में सिलसिलेवार आपको बताते हैं, लेकिन शुरुआत करते हैं शिवसेना के ताज़ा बयान से. शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना के संपादकीय में इस तरह की बातें कीं, जो बिहार और अमेरिका चुनाव की चर्चा एक साथ करती दिखीं.

ये भी पढ़ें :- लालू-राबड़ी के 'जंगल राज' पर फोकस करने का एनडीए का दांव क्यों हो सकता है फेल?




अमेरिकी चुनाव नतीजों से भारत ले सबक
शिवसेना ने लिखा कि बिहार में एनडीए गठबंधन को अमेरिका में ट्रंप की हार से सबक लेना चाहिए. 'अमेरिकी जनता ने ट्रंप को हराकर यह साबित किया कि वादे पूरे न करने, झूठ बोलने वाले नेता को खारिज किया जाएगा.' शिवसेना ने लिखा कि अमेरिका में कोविड 19 से ज़्यादा बड़ी समस्या बेरोज़गारी की महामारी की थी, लेकिन ट्रंप ने अपनी नाकामियां छुपाने के लिए सिर्फ सियासी बयानबाज़ी ही की.

US presidential election, Bihar Election Result 2020, tejashwi yadav, bihar election result 2020 live, bihar election result live, bihar election counting, bihar election result live, bihar election counting live, bihar exit poll, bihar election exit poll, bihar election result exit poll, बिहार चुनाव नतीजे, बिहार चुनाव 2020 रिजल्ट, बिहार विधानसभा चुनाव रिजल्ट, बिहार विधानसभा चुनाव नतीजे
न्यूज़18 कार्टून


शिवसेना ने अपने लेख में साफ घोषणा कर दी कि बिहार चुनाव में एनडीए की नीतीश सरकार हार रही है. इसका मतलब साफ है कि लोग नेताओं की गलतफहमी दूर करने के लिए लामबंद हो चुके हैं. पार्टी ने यह भी कटाक्ष किया कि भारत की संस्कृति गलत लोगों के साथ खड़े होने की नहीं रही लेकिन ट्रंप के साथ सुर में सुर मिलाकर भारत ने ऐसा किया.

ये भी पढ़ें :- सबसे कम वक्त के लिए बिहार का सीएम कौन रहा?

शिवसेना ने यह भी साफ तौर पर लिखा कि भारत ने 'नमस्ते ट्रंप' कहा जबकि अमेरिकी लोगों ने ट्रंप को 'बाय बाय' कह दिया. इसी तरह, बिहार में मोदी और नीतीश कुमार जैसे अनुभवी और कुशल नेता एक युवा तेजस्वी यादव के सामने कमज़ोर साबित हो रहे हैं.
बाइडन व हैरिस का बिहार कनेक्शन?सोशल मीडिया पर इस बारे में जो चर्चा हो रही है वो असल में एक क्रिएटिव पोस्ट पर आधारित है, जो बॉलीवुड अभिनेता रीतेश देशमुख ने की है. रीतेश ने अपने ट्वीट में एक चुटकी लेते हुए बाइडन और हैरिस के नाम की स्पेलिंग के अक्षरों के संक्षेप को मिलाकर 'बिहार' बताया तो सोशल मीडिया पर कई लोग इस बारे में चर्चा करने लगे और वर्चुअली एक रिश्ता बिहार और अमेरिका चुनाव के बीच बन गया.ये भी पढ़ें :- क्या होती है त्रिशंकु विधानसभा, क्या वाकई बिहार में इस बार हैं आसार?क्या वाकई बाइडन का कोई भारतीय लिंक है?बतौर अमेरिका के उपराष्ट्रपति 2013 में मुंबई आए जो बाइडन ने 1972 की एक चिट्ठी के बारे में चर्चा की थी. उन्होंने कहा था कि उस समय मुंबई से उन्हें एक खत मिला था, जिसमें कहा गया था कि बाइडन के पूर्वज भारतीय ही थे और 18वीं सदी में ईस्ट इंडिया कंपनी से जुड़े थे. बाइडन ने 2015 में भी इस तरह की चर्चा करते हुए कहा था कि हो सकता है कि उनके किसी पूर्वज ने भारतीय महिला से शादी की हो.ये भी पढ़ें :- बिहार चुनाव : क्यों 'नाम-मात्र' की रह जाती है महिलाओं की भागीदारी?हालांकि बाइडन ने माना था कि वो इस पत्र में मिले तथ्यों का ठीक से पता नहीं लगा सके थे, लेकिन उन्होंने कहा था कि मुंबई में उस समय पांच लोग मिले थे​ जिनका सरनेम बाइडन था, जिसकी जानकारी एक पत्रकार से उन्हें मिली थी. बाइडन ने चुटकी भी ली थी, 'इसका मतलब मैं भारत में भी चुनाव लड़ सकता हूं.'ये भी पढ़ें :- दो साल में कितने राज्यों में हुए चुनाव, कितने गए बीजेपी के खाते में?उमर अब्दुल्ला का ट्वीट भी चर्चिततीन दिन पहले अब्दुल्ला ने एक तरह से भविष्यवाणी करते हुए एक छोटा सा पोस्ट करते हुए लिखा कि 'बिहार और अमेरिका में चुनाव हार जाना, अगले कुछ दिनों में ही खराब वक्त का कारण बनेगा.' हालांकि इस ट्वीट में इशारों में अब्दुल्ला ने बीजेपी या एनडीए को आड़े हाथों लेने की कोशिश की, लेकिन सोशल मीडिया पर उनके ट्वीट को ही निशाना बना लिया गया और उन्हें एक बेवजह की तुलना करने का दोषी ठहरा दिया गया.


कुल मिलाकर, बिहार चुनाव का अमेरिका के चुनाव से कोई सीधा कनेक्शन नहीं है, लेकिन क्रिएटिविटी और सोशल ट्रेंड्स को देखते हुए इस तरह की चर्चा हो रही है और कई एंगलों से बातचीत की गुंजाइश निकाली जा रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज