होम /न्यूज /ज्ञान /

अनचाही प्रेग्नेंसी रोकने के लिए डायफ्रेम का इस्तेमाल कैसे करें, जानें

अनचाही प्रेग्नेंसी रोकने के लिए डायफ्रेम का इस्तेमाल कैसे करें, जानें

मंत्री और अन्य मातृत्व भत्ते विधेयक को कैबिनेट ऑफिस मंत्री पेनी मोर्डंट पेश करेंगी.

मंत्री और अन्य मातृत्व भत्ते विधेयक को कैबिनेट ऑफिस मंत्री पेनी मोर्डंट पेश करेंगी.

यौन संबंध (Physical Relation) बनाने के 6 घंटे पहले डायफ्रेम (Diaphragm Into Vagine) को अपनी योनि में डालें और यौन संबंध बनाने के 6 से 12 घंटे बाद इसे निकालें. ध्यान रहे कभी भी 24 घंटे से ज्यादा डायफ्रेम को योनी में ना रखें...

  • Myupchar
  • Last Updated :
    डायफ्रेम जिसे गर्भनिरोधक झिल्ली या सिलिकॉन कप के नाम से भी जाना जाता है. यह महिलाओं के लिए गर्भनिरोधक के रूप में कार्य करता है. यह सिलिकॉन कप शुक्राणुनाशक के साथ योनि में लगाया जाता है, जो गर्भाशय ग्रीवा को कवर करता है. डायफ्रेम का यदि सही ढंग से उपयोग किया जाता है तो यह 94 प्रतिशत तक गर्भनिरोधक का कार्य करता है. इसे लगाना काफी आसान होता है और इसके उपयोग के बाद सेक्स का आनंद निश्चिंत होकर लिया जा सकता है. स्तनपान करने वाली महिलाएं भी इसका उपयोग कर सकती हैं. आइए जानते हैं कि यह डायफ्रेम किस तरह कार्य करता है-

    डायफ्रेम का उपयोग कैसे करें

    myUpchar के अनुसार, डायफ्रेम का उपयोग करते समय शुक्राणुनाशक का भी प्रयोग किया जाता है. यह तब किया जाता है जब यौन संबंध बनाना हो. इस बात की जानकारी अच्छी तरह से ले लें कि डायफ्रेम का उपयोग किस तरह से करना है.

    यौन संबंध बनाने के 6 घंटे पहले डायफ्रेम को अपनी योनि में डालें और यौन संबंध बनाने के 6 से 12 घंटे बाद इसे निकालें. ध्यान रहे कभी भी 24 घंटे से ज्यादा डायफ्रेम को योनी में ना रखें.

    डायफ्रेम लगाने का तरीका

    डायफ्रेम के कप में और उसकी रीम के आसपास लगभग एक बड़ा चम्मच शुक्राणुनाशक डाल लें. फिर इसे अपने हाथ से आधा मोड़कर अपनी योनि में रखें और उंगली के माध्यम से अपनी योनि में डायफ्रेम को जितनी दूर हो सके उतनी दूर तक अंदर करें. जब डायफ्रेम से गर्भाशय ग्रीवा महसूस हो, वहां तक इसे रखें. यदि गर्भाशय ग्रीवा महसूस नहीं हो रही है तो डायफ्रेम निकालकर उसमें फिर से शुक्राणुनाशक डालकर योनि के अंदर डालने का प्रयास करें. यदि 6 घंटे के अंदर ही यौन संबंध बनाने हैं तो डायफ्रेम को अंदर ही रहने दें और उंगलियों के द्वारा योनि में और शुक्राणुनाशक डाल सकते हैं.

    डायफ्रेम को निकालने का तरीका

    डायफ्रेम निकालते समय योनि में उंगली की मदद से हुक की तरह से डायफ्रेम को बाहर की ओर खींचे. myUpchar के अनुसार, डायफ्रेम को निकालते समय इस बात का विशेष ध्यान रखें कि डायफ्रेम में छेद न होने पाए. डायफ्रेम को निकालने के बाद इसे अच्छी तरह साबुन से धोकर सुखा लें.

    डायफ्रेम उपयोग करने के बाद का अनुभव

    • डायफ्रेम का उपयोग करने वाली महिला और उसके साथी को यह महसूस नहीं होता .

    • डायफ्रेम के उपयोग के बाद कुछ महिलाओं को योनि में संक्रमण होने का खतरा हो सकता है.

    • कुछ महिलाओं को शुक्राणुनाशक और डायफ्रेम से एलर्जी की समस्या हो सकती है.


    डायफ्रेम के उपयोग के समय बरतें सावधानी

    • डायफ्रेम का उपयोग तभी करें, जब योनि में कोई संक्रमण न हो। यदि योनि में संक्रमण है तो इसके उपयोग के बाद समस्या हो सकती है.

    • डायफ्रेम का उपयोग हमेशा शुक्राणुनाशक का उपयोग करके ही लगाएं, अन्यथा यह कार्य नहीं करेगा.

    • इसके लगाने का तरीका सही से पता होना चाहिए. यदि डायफ्रेम का उपयोग गलत तरीके से किया गया, तब भी यह प्रभावी नहीं होगा. यदि इसे लगाना नहीं आता है तो महिला किसी गायनेकोलॉजिस्ट से मिलकर इसे लगाने के बारे में सलाह ले सकती है. (अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, डायफ्रेम क्या है, क्यों और कैसे उपयोग किया जाता है पढ़ें।) (न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं। सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है। myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं।)

    undefined

    Tags: Health, Lifestyle, News18-MyUpchar, Women

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर