Home /News /knowledge /

जर्मनी में हर महीने क्यों आते हैं दो इलेक्ट्रिक बिल? जानिए रोचक कहानी

जर्मनी में हर महीने क्यों आते हैं दो इलेक्ट्रिक बिल? जानिए रोचक कहानी

जर्मनी में घरों को दो तरह के बिजली बिल का भुगतान करना होता है.

जर्मनी में घरों को दो तरह के बिजली बिल का भुगतान करना होता है.

भारत ही नहीं दुनिया के अन्य देशों में भी महंगी होती बिजली चिंता का विषय है. देश के शहरों में एक मध्यवर्गीय परिवार में दो कमरे के घर में तीन से चार हजार रुपये मासिक बिल आ जाता है.

    भारत ही नहीं दुनिया के अन्य देशों में भी महंगी होती बिजली चिंता का विषय है. देश के शहरों में एक मध्यवर्गीय परिवार में दो कमरे के घर में तीन से चार हजार रुपये मासिक बिल आ जाता है. लेकिन आज हम बात अपने देश की नहीं, बल्कि यूरोप के एक सबसे विकसित राष्ट्र जर्मनी की कर रहे हैं. आपको जानकार हैरानी होगी कि जर्मनी में लोगों को दो तरह के बिजली बिल का भुगतान करना होता है.

    किस तरह के होते हैं ये बिल
    दरअसल, जर्मनी एक ठंडा प्रदेश है. यहां घरों को रहने लायक बनाने के लिए उसमें हिटिंग की व्यवस्था की जाती है. इसके साथ ही प्रशासन इन घरों में गर्म पानी की अलग से आपूर्ति करता है. ऐसे में जब आप जर्मनी के किसी शहर के किसी घर में किराये पर रहने जाते हैं तो हिटिंग और गर्म पानी के लिए होने वाले बिजली खर्च का भी भुगतान करना होता है.

    हिटिंग और हॉट वाटर का खर्च आपके घर के ‘वार्म रेंट’ में शामिल होता है. इसे जर्मन भाषा में Warmmiete कहा जाता है. इसे आप अपने मकान मालिक को हर माह भुगतान करते हैं.

    घर के उपकरणों के लिए अलग बिजली बिल
    दूसरे तरह का बिल अपलाइंसेज को यूज करने के बदले आता है. इसका भुगतान आपको पावर कंपनी को करना होता है. आप अपने घर में फ्रीज, वाशिंग मशीन, ओवेन, लाइट, कंप्यूटर आदि के लिए जो बिजली खर्च करते हैं उसका बिल इसमें समाहित होता है.

    कितना आता है Warmmiete
    वार्म रेंट यानी Warmmiete घर को गर्म करने, पानी, कचरा निपटाने और अन्य चीजों के बदले आता है. यह मासिक 50 से 200 यूरो तक आता है. जब आप इंटरनेट पर कोई घर खोजते हैं तो आपको वहां Warmmiete जरूर दिखा जाएगा.

    कितना आता है बिजली बिल
    यह पूरी तरह से बिजली खर्च करने की आपकी आदत पर निर्भर है. एक समान्य घर में प्रति व्यक्ति करीब 1500 से 2000 किलो वाट बिजली खपत होती है. जर्मनी की अधिकतर पावर कंपनियां एक बेस प्राइस के साथ प्रति किलो वाट का चार्ज वसूलती हैं.

    यहां पर बिजली का बिल आपके अनुमानित खर्च पर आधारित है. आप खुद तय कर सकते हैं कि आप हर माह कितना बिजली बिल दे सकते हैं. साल के अंत में यह देखा जाएगा कि आपने कितनी बिजली खर्च की है. अगर आपने अनुमान से अधिक बिजली खर्च की है तो आपको एक बिल थमाया जाएगा, जिसमें एक्सेस खर्च का विवरण होगा और उसका भुगतान करना होगा.

    Tags: Electricity bill, Germany

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर