लाइव टीवी

गूगल सर्च भी कम कर सकती है कोरोना वायरस की महामारी, जानिए कैसे

News18Hindi
Updated: April 7, 2020, 8:49 PM IST
गूगल सर्च भी कम कर सकती है कोरोना वायरस की महामारी, जानिए कैसे
आपकी कंप्यूटर स्क्रीन पर आने वाले विज्ञापन अक्सर आपकी सर्च आदतों (Search Habits) का परिणाम होते हैं. शोधकर्ताओं का मानना है कि बड़े स्तर पर गूगल सर्च पर नजर रखकर कोरोना वायरस जैसी महामारियों को रोका जा सकता है.

आपकी कंप्यूटर स्क्रीन पर आने वाले विज्ञापन अक्सर आपकी सर्च आदतों (Search Habits) का परिणाम होते हैं. शोधकर्ताओं का मानना है कि बड़े स्तर पर गूगल सर्च पर नजर रखकर कोरोना वायरस जैसी महामारियों को रोका जा सकता है.

  • Share this:
दुनिया में प्रतिदिन लाखों की संख्या में लोग गूगल पर अपने स्वास्थ्य लक्षणों (Health Syptoms) की जांच करते हैं. शरीर में हो रही सामान्य तकलीफों के लिए लोग गूगल सर्च का सहारा लेने लगे हैं. ये आदत पूरी दुनिया में फैल रही है. न्यूयॉर्क टाइम्स में छपे एक लेख के मुताबिक गूगल सर्च की यही आदत कोरोना महामारी के खिलाफ अहम हथियार भी साबित हो सकती है. लेख के मुताबिक सर्च पर नजर रख कर भी कोरोना महामारी को फैलने से रोका जा सकता है.

कैसे सहायक हो सकती है गूगल सर्च
लेख में कहा गया है कि अब दुनियाभर में ये साबित हो गया है कि 'सूंघने की क्षमता खो देना' कोरोना को प्रमुख लक्षणों में है. ऐसी स्थिति में 'I cant smell' जैसी गूगल सर्च पर निगाह रखी जा सकती है. कई रिसर्च में ये साबित हो चुका है कि कोरोना के 30 से 60 फीसदी मरीजों में सूंघने की क्षमता समाप्त हो जाती है.

अमेरिका का उदाहरण



अगर अमेरिका की बात की जाए तो बीते सप्ताह न्यूयॉर्क, न्यूजर्सी, लुसियाना, और मिशिगन में सबसे ज्यादा 'I cant smell' सर्च किया गया. दिलचस्प है कि यही वो चार राज्य हैं जहां पर इस समय कोरोना का सबसे घातक प्रभाव है. इसी तरह इटली और ईरान में सूंघने की क्षमता से संबंधित गूगल सर्च की संख्या में तेजी आई थी.



news18

क्या कहते हैं एक्सपर्ट्स
यूनिर्वर्सिटी कॉलेज ऑफ लंदन में कंप्यूटर साइंटिस्ट वैसिलियोस लैम्पोस का मानना है कि कोरोना के लक्षणों से संबंधित गूगल सर्च पर बड़े स्तर पर निगाह रख कर इस महामारी को ट्रैक किया जा सकता है. इस महामारी के लक्षणों  जैसे बुखार, सांस लेने में तकलीफ, सूंघने की ताकत खत्म होना को लेकर की गईं एकमुश्त गूगल सर्च मददगार साबित हो सकती हैं.

इक्वाडोर का उदाहरण
लेख में बताया गया है कि इस समय इक्वाडोर में 'I cant smell' को सबसे ज्यादा गूगल सर्च किया जा रहा है. इसे लोग वहां की भाषा में सर्च कर रहे हैं जिसे ' no puedo oler' कहा जाता है. बीते दिनों में ये सर्च दस गुना ज्यादा बार की गई हैं. इक्वाडोर में fever, chills और diarrhea जैसी बीमारियां भी सर्च की जा रही हैं. हालांकि अभी इक्वाडोर में कोरोना महामारी बहुत भीषण स्तर पर नहीं फैली है. लेकिन सर्च डेटा के मुताबिक देश में कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या काफी ज्यादा हो सकती है.

ये हो सकते हैं सबक
इक्वाडोर एक उदाहरण है. इसी तरह ऐसी जगहों पर निगाह रखी जा सकती है जहां पर अभी कोरोना संक्रमण बहुत ज्यादा नहीं फैला है. साल 2009 में नेचर मैगजीन में प्रकाशित एक रिपोर्ट में बताया गया था कि कैसे फ्लू से संबंधित सर्च पर रिसर्चर्स ने नजर रखी थी.

गूगल पर कोरोना से संबंधित कई तरह के सवाल पूछे जा रहे हैं.


हालांकि तब इस तरीके ने ज्यादा मदद नहीं की थी. क्योंकि तब H1N1 फ्लू फैला हुआ था. ज्यादातर लोग फ्लू से संबंधित खबरों के बारे में सर्च कर रहे थे न कि अपने शरीर के लक्षणों को लेकर. अब हाल में शोधकर्ताओं ने और ज्यादा आधुनिक मॉडल पेश किया है. शोधकर्ताओं के मुताबिक सीधे बीमारी के बारे में ट्रैक करने की बजाए लक्षणों को लेकर की गई सर्च पर ध्यान देना चाहिए. इसे लेकर शोधकर्ताओं ने शुरुआत भी कर दी है.

शोधकर्ताओं के मुताबिक लक्षणों से संबंधित सर्च पर ध्यान देकर एक और बात पता लगाई जा सकती है. वो ये कि बीमारी के वास्तविक लक्षण क्या हैं. यानी अगर हम बड़े स्तर पर सर्च पर डेटा इकट्ठा करते हैं तो हमें बीमारी के लक्षणों का भी बेहतर अंदाजा हो सकता है.

यह भी पढ़ें:-

कोरोना गुड न्यूज: फ्री ई-बुक्स से लेकर 93 साल के बुजुर्ग के ठीक होने की खबरें

कोरोना से पहले किन 4 मौकों पर रानी एलिजाबेथ ने ब्रिटेन को किया था संबोधित

कोरोना वायरस: आखिर मलेरिया की इस दवा के पीछे क्यों पड़े हैं ट्रंप? जानें वजह

Good News: हैरी पॉटर की लेखक ने घर पर ही ऐसे ठीक कर लिए कोरोना वायरस के लक्षण

भारत में कोरोना से उम्रदराज लोगों की तुलना में युवा ज्यादा संक्रमित

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नॉलेज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 7, 2020, 8:28 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading