लाइव टीवी

ऐसा है कोरोना वायरस को फैलाने वाला चीन का शहर वुहान, फंसे हैं इतने भारतीय छात्र

News18Hindi
Updated: January 29, 2020, 12:46 PM IST
ऐसा है कोरोना वायरस को फैलाने वाला चीन का शहर वुहान, फंसे हैं इतने भारतीय छात्र
कोरोना वायरस की वजह से वुहान के लोग घरों में कैद हैं

कोरोना वायरस (Coronavirus) फैलने से पहले चीन (China) के वुहान (wuhan) शहर के बारे में ज्यादा लोग नहीं जानते थे. अब ये शहर पूरी दुनिया में मशहूर हो चुका है. वुहान चीन की घनी आबादी वाला एक शहर है...

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 29, 2020, 12:46 PM IST
  • Share this:
चीन (China) में फैले कोराना वायरस (Coronavirus) ने सरकार को इसे फैलने से रोकने के लिए कड़े कदम उठाने पर मजबूर कर दिया है. कोराना वायरस चीन के वुहान प्रांत से फैला है. चीन का वुहान प्रांत पिछले 7 दिनों से बंद है. वुहान के लाखों लोग अपने घरों में कैद हैं. इन्हें सरकार ने संक्रमण को फैलने से रोकने के मकसद से अपने घरों में रहने की सलाह दी है. वुहान में भारतीय छात्र भी रहते हैं, उन्हें भी बाकी लोगों की तरह अपने घरों के भीतर रहना पड़ रहा है.

कोरोना वायरस फैलने से पहले चीन के वुहान शहर के बारे में ज्यादा लोग नहीं जानते थे. अब ये शहर पूरी दुनिया में मशहूर हो चुका है. वुहान चीन की घनी आबादी वाला एक शहर है. ये चीन के शंघाई और बीजिंग जैसे मेगा सिटी की तरह है.

चीन के बड़े शहरों में से एक है वुहान
वुहान चीन के हुबेई प्रांत की राजधानी है. सरकारी आंकड़ों के मुताबिक वुहान की आबादी करीब 11 लाख है. चीन के सेंट्रल रीजन का ये सबसे बड़ा शहर है. शंघाई से पश्चिम ये करीब 800 किलोमीटर की दूरी पर बसा है. शंघाई से हाई स्पीड ट्रेन के जरिए यहां सिर्फ 4 घंटे में पहुंचा जा सकता है.

वुहान शहर करीब 8,494 वर्गकिलोमीटर में फैला है. इतने बड़े इलाके को चीन ने केंद्रीय शहर के तौर पर पिछले एक दशक में विकसित किया है. प्राइम लोकेशन की वजह से ये शहर ट्रांसपोर्ट हब के तौर पर जाना जाता है. यहां से चीन के 9 प्रांत जुड़े हुए हैं.

how is chinese city wuhan from where coronavirus spread acroos world indian students stranded
वुहान चीन के बड़े शहरों में से एक है.


चीन का ट्रांसपोर्ट हब है वुहान शहरयहां रेलवे का मजबूत नेटवर्क है. हाई स्पीड ट्रेनों की गुजरने वाले दो रेल लाइनें मौजूद हैं. ये बीजिंग से गुआंगझू और शंघाई से चेंगदू शहरों को जोड़ती हैं. वुहान का इंटरनेशनल एयरपोर्ट केंद्रीय चीन का एकलौता सबसे बड़ा एयरपोर्ट है. यहां से 5 महाद्वीपों के लिए हवाई उड़ानें मिलती हैं. यहां से 20 देशों के 109 जगहों के लिए फ्लाइट मिलती है. इसमें लंदन, मॉस्को, पेरिस, रोम, न्यूयॉर्क, बैंकॉक, टोक्यो और सियोल जैसे जगह शामिल हैं.

कोरोना वायरस के पकड़ में आने के बाद 23 जनवरी को सरकार ने वुहान एयरपोर्ट और रेलवे स्टेशन को बंद करने का फैसला किया. सरकार ने संक्रमण को रोकने के लिए ये कदम उठाया था. शहर का पब्लिक ट्रांसपोर्ट सिस्टम भी बंद कर दिया गया है. लोग अपने घरों में कैद होकर रह गए हैं.

वुहान में बंदी का बड़ा असर देखने को मिल रहा है. चीन में नए साल की छुट्टियां हैं. इसे सेलिब्रेट करने के लिए लोग दूसरे शहरों या विदेश जाते हैं. इनमें से कई फ्लाइट्स वुहान से होकर गुजरती है. लेकिन कोरोना वायरस की वजह से अब उन फ्लाइट्स को कैंसिल कर दिया गया है.

वुहान में फंसे हैं भारतीय छात्र
चीन के शहर वुहान में भारतीय भी रहते हैं. एक रिपोर्ट के मुताबिक वुहान में करीब 700 भारतीय छात्र रहते हैं. ये छात्र वुहान और उसके आसपास में बने यूनिवर्सिटी में पढ़ाई कर रहे हैं. ज्यादातर मेडिकल स्टूडेंट्स हैं. दिल्ली से लेकर असम और पश्चिम बंगाल से छात्र यहां पढ़ने आते हैं.

वुहान में लॉक डाउन की वजह से उनकी स्थिति भी खराब है. अपने घर से दूर उन्हें कैद होकर रहना पड़ रहा है. बीमारी की वजह से उनके खर्चे भी बढ़ गए हैं. हालांकि भारतीय दूतावास सोशल मीडिया के जरिए उनसे संपर्क बनाए हुए है.

कोरोना वायरस की वजह से वहां रहने वाले भारतीय छात्रों में भी दहशत है. लोग डर के साए में जी रहे हैं. हालांकि बीमारी से बचने के वो सारे उपाय कर रहे हैं. लेकिन इस नई मुश्किल ने उन्हें कई तरह से तनावग्रस्त कर दिया है. बाहर से आकर वुहान में रहने वाले लोगों की सुरक्षित वापसी के उपाय किए जा रहे हैं.

how is chinese city wuhan from where coronavirus spread acroos world indian students stranded
वुहान के मीट मार्केट में कई तरह के जानवरों के मांस मिलते हैं. यहीं से कोरोना वायरस फैला.


वुहान में कैसे फैला कोरोना वायरस
वुहान में मीट का बड़ा मार्केट है. इसमें कई तरह के जानवरों के मीट मिलते हैं. यहां सिर्फ मुर्गा, अंडा या मछली का मांस नहीं मिलता. एक अनुमान के मुताबिक यहां करीब 112 प्रकार के जानवरों के मांस मिलते हैं. इसके साथ ही मरे हुए जानवर अलग से मिलते हैं.

यहां सांप से लेकर भालू, ऊंट, चमगादड़, गधा, मोर के मांस लेकर कई तरह के कीट पतंगे भी मिलती हैं. चीन के लोग इन जानवरों के मांस खाने के शौकीन हैं. इन्हीं जानवरों में से कोरोना वायरस सांप के शरीर में पहुंचा और सांप को खाने की वजह से ये ह्यूमन बॉडी में पहुंचा है. इसके बाद एक ह्यूमन बॉडी से दूसरे में ये संक्रमण फैलता ही चला गया. वुहान से ही ये बीमारी दूसरे देशों में फैली.

ये भी पढ़ें: 

कोरोना वायरस से अर्थव्यवस्था पर बुरा असर, क्या भारत भी होगा प्रभावित?

चाइल्ड पॉर्नोग्राफी पर चिंताजनक रिपोर्ट, देश में बन रहे हैं हजारों अश्लील वीडियो

कोरोना वायरस : आखिर चीन से ही क्यों फैलती हैं नई-नई महामारियां

लाला लाजपत राय ने रखी थी पहले स्वदेशी बैंक की नींव

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नॉलेज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 29, 2020, 12:46 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर