Home /News /knowledge /

स्पर्म में कितने दिनों तक ठहर सकता है ज़ीका वायरस?

स्पर्म में कितने दिनों तक ठहर सकता है ज़ीका वायरस?

सांकेतिक तस्वीर

सांकेतिक तस्वीर

जिस इलाके में ज़ीका वायरस फैला हो, वहां से लौटे पुरुषों को कम से कम छह महीने तक सेक्स से अहतयात बरतने की सलाह भी दी गई थी.

    भारत समेत दुनिया के 86 देशों में फैल चुका ज़ीका वायरस पुरुष के सीमन (वीर्य) में तीन महीने से ज्यादा नहीं रुक सकता. ये बात New England Journal of Medicine की एक रिसर्च में कही गई. ये रिसर्च फरवरी में ऑनलाइन पब्लिश की गई थी.

    ये भी पढ़ें- भारत के कौन से राज्य के कितने लोगों में पाया गया जीका वायरस

    इस रिसर्च के लिए Puerto Rico आईलैंड के 95 औरतों और 55 पुरुषों पर जीका वायरस का लेवल चेक किया गया था. हिस्सा लेने वाले लोगों में तभी (रिसर्च के दौरान) इन्फेक्शन पाया गया था.

    रिसर्च के दौरान वैज्ञानिकों ने कुछ वायरस लार और योनिक स्राव में भी पाए थे, लेकिन ये ब्लड सिरम और यूरीन में कुछ हफ्तों के लिए ही ठहर सकते हैं. वहीं पुरुषों के वीर्य से वायरस लगभग 81 दिनों के बाद गायब पाया गया था.

    ये भी पढ़ें- 1947 में यहां पाया गया था जीका वायरस का पहला मामला

    जिस इलाके में ज़ीका वायरस फैला हो, वहां से लौटे पुरुषों को कम से कम छह महीने तक सेक्स से अहतयात बरतने की सलाह भी दी गई थी. जिन पुरुषों में जीका के लक्षण नहीं देखे गए थे, उन्हें भी आठ हफ्तों तक कॉन्डम इस्तेमाल की सलाह दी गई थी.

    ये भी पढ़ें- भारतीय डॉक्टर की खोज जीका वायरस के तोड़ में कैसे मददगार है

    जीका वायरस फ्लाविविरिडए वायरस फैमिली से है. ये मच्छरों से ही फैलता है. ये वायरस दिन में ज्यादा सक्रिय रहता है. खासकर गर्भावस्था में महिलाएं इससे ज्यादा संक्रमित हो सकती हैं. ये एडीज प्रजाति के मच्छरों के काटने से ही फैलता है. ये मच्छर दिन में ही काटते हैं. खासकर सुबह जल्दी, दोपहर बाद और शाम को.

    ये भी पढ़ें- मच्छरों के अलावा और कैसे फैलता है जीका वायरस, क्या हैं इससे खतरे

    Tags: Antivirus, Health News, Health tips, Zika Virus

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर