लाइव टीवी

आसान नहीं गर्मी में मास्क पहनना, जानिए क्या हो सकती हैं मुश्किलें

News18Hindi
Updated: May 18, 2020, 4:55 PM IST
आसान नहीं गर्मी में मास्क पहनना, जानिए क्या हो सकती हैं मुश्किलें
एक्सपर्ट्स के मुताबिक गर्मियों में मास्क पहनना और मुश्किल होने वाला है.

कोरोना वायरस (Corona Virus) को रोकने में मास्क भले ही सहायक हों लेकिन गर्मियों (Summer) में इन्हें पहनना मुश्किलभरा है. स्वास्थ्यकर्मियों के लिए तो समस्या और भी ज्यादा बड़ी है. आइए जानते हैं इस बारे एक्सपर्ट्स की क्या राय है.

  • Share this:
कोरोना वायरस से बचाव के लिए मास्क पहनना बेहद आवश्यक बताया गया है. बड़ी संख्या में लोग  मास्क पहनने की प्रैक्टिस को फॉलो भी कर रहे हैं. लेकिन मास्क इस्तेमाल कर चुके किसी भी व्यक्ति से आप बात करेंगे तो बताएगा कि इसे लगातार पहनने में समस्याएं भी हैं. अब जब कि मौसम का पारा बिल्कुल चढ़ गया है तो मास्क पहनने में कई तरह की समस्याएं आने वाली हैं. गर्मी में पसीना आने की वजह से मास्क पहनना और भी ज्यादा असुविधाजनक होने वाला है. अमेरिका के inquirer.com में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक बढ़ती गर्मियों में कोरोना से बचाव के लिए मास्क पहनना एक मुश्किल भरा काम होगा.

इस मुश्किल से बचने के लिए मास्क के फैब्रिक पर ध्यान दिया जा सकता है. अमेरिका सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल के मुताबिक गर्मियों में बहुत हैवी मास्क की बजाए 100 प्रतिशत कॉटन का मास्क इस्तेमाल किया जा सकता है. एक अमेरिकी विशेषज्ञ के मुताबिक कॉटन पसीने या फिर मॉइस्चर को सोख लेता है इस वजह से कॉटन से बने मास्क पहनने में उतनी दिक्कतों का सामना नहीं करना पड़ता. वहीं पॉलिस्टर और सिंथेटिक से बने मास्क से पसीना फैल जाता है. साथ ही ये गर्मियों में कंफर्टेबल भी कम होता है. सिंथेटिक मैटेरिटल मास्क को ज्यादा गर्म भी रखता है.





फिटिंग जरूर चेक करें



आपके मास्क फिटिंग बेहतर होना बेहद जरूरी है. इसकी पकड़ न बेहद टाइट होनी चाहिए, न ही बहुत ढीली. ज्यादा टाइट पकड़ वाले मास्क आपको सांस लेने में समस्या पैदा करेंगे और ढीली पकड़ से मास्क हमेशा सरकता रहेगा, जिसे आपको बार-बार एडजस्ट करना पड़ेगा. पेंसिलवेनिया यूनिवर्सिटी में डर्मिटोलॉजी के प्रोफेसर कैरी एल. कोवेरिक के मुताबिक हमें कई मास्क ट्राई करने चाहिए और जो सबसे बेहतर फिट हो, उसे ही इस्तेमाल करना चाहिए. सामान्य तौर पर लोग बिना फिटिंग जांचे एक मास्क खरीदते हैं और फिर उसके साथ जूझते रहते हैं. गर्मियों में ये समस्या और बढ़ जाएगी.

कॉटन के मास्क को लेकर भी एक्सपर्ट्स की हिदायत है कि कई मास्क रखने चाहिए. कॉटन मॉइस्चर सोखता है, इसलिए कुछ देर बाद ये गीला भी हो जाता है. ऐसी स्थिति में लगातार मास्क पहने रखना स्किन में दिक्कत पैदा कर सकता है. इस वजह से गर्मियों में कॉटन के कई मास्क रखना जरूरी हैं.

हेल्थ वर्कर्स को तो ये एडवाइस दी जा रही है कि हर दो घंटे के बाद कुछ मिनट के लिए मास्क हटा दें. इससे नाक और आंख के पास की स्किन को हवा मिल सकेगी साथ ही वो थोड़ी देर तक आराम से सांस ले सकेंगे. लेकिन मेडिकलकर्मी सामान्य मास्क नहीं लगा सकते हैं. इस वजह से उनके लिए बड़ी संख्या में विशेष मास्क की जरूरत पड़ेगी. गर्मियों में सरकार के सामने ये भी चैलेंज होगा कि कैसे इसकी आपूर्ति की जाए.

स्वास्थ्यकर्मियों के लिए समस्या और भी ज्यादा बड़ी है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)


स्वास्थ्यकर्मियों को होगी और ज्यादा मुश्किल
गर्मियों में स्वास्थ्यकर्मियों में मास्क को लेकर परेशानी और ज्यादा बढ़ सकती है. सामान्य व्यक्ति को कॉटन के मास्क पहनने की सलाह दी जा सकती है लेकिन स्वास्थ्यकर्मियों को तो एन95 या दूसरे विशेष मास्क ही पहनने होंगे. इन मास्क्स में सर्दियों के मौसम में भी सांस लेने में समस्या होती है. गर्मी का मौसम तो परेशानी और भी ज्यादा बढ़ाने वाला है. स्किन की प्रॉब्लम भी बढ़ सकती है. अगर स्किन में कोई गंभीर समस्या हुई तो फिर मास्क पहनना ही दूभर हो जाएगा. इसके लिए एक्सपर्ट्स मास्क्स की ज्यादा सप्लाई की बातें कह रहे हैं. साथ ही स्वास्थ्यकर्मियों को नाक और आंख के आस-पास स्पेशल स्किन क्रीम लगाने की हिदायत दी जा रही है.

यह भी पढ़ें:

कोरोना वायरस से कैसे लड़ेगा आपका शरीर, Genes करते हैं इसका फैसला

हवा में कैसे फैलता है कोरोना वायरस, Fluid Dynamics से इसे समझिए

तेजी से हो सके कोरोना वैक्सीन ट्रायल, इसके लिए रूस में खास चूहे होंगे तैया

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नॉलेज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 18, 2020, 4:43 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading