• Home
  • »
  • News
  • »
  • knowledge
  • »
  • क्या अंधेरे में वाकई चमकती हैं ह्यूमन बॉडीज?

क्या अंधेरे में वाकई चमकती हैं ह्यूमन बॉडीज?

सुबह 10 बजे शरीर की चमक सबसे कम होती है, जबकि शाम के 4 बजते तक रोशनी सबसे तेज हो जाती है (Photo-pixabay)

सुबह 10 बजे शरीर की चमक सबसे कम होती है, जबकि शाम के 4 बजते तक रोशनी सबसे तेज हो जाती है (Photo-pixabay)

इंसानी शरीर से अंधेरे में रोशनी (human body glows) निकलती है. जापान के वैज्ञानिकों (scientists in Japan) को हाल ही में पहली बार इस रोशनी को कैमरे के जरिए देखने में सफलता मिली.

  • Share this:
    सुपर नैचुरल चीजों और कई धर्मों में देवी-देवताओं के सिर और पूरे शरीर के आसपास एक रोशनी निकलती दिखाई देती है. इस रोशनी को औरा (Aura) कहा जाता रहा. कहा जाता है कि यौगिक क्रियाओं के जरिए शरीर के अंदरुनी चक्र जगाए जा सकते हैं, जिससे भी शरीर में प्रकाश दिखने लगा है. लेकिन हाल में साबित हुआ है कि ये लाइट सिर्फ तस्वीरों या यौगिक क्रियाओं तक सीमित नहीं, बल्कि वाकई में इंसानी शरीर से एक खास किस्म की रोशनी निकलती है जो अंधेरे में वैज्ञानिक कैमरे से देखी जा सकती है. जानिए, क्या है इस रोशनी का रहस्य और इससे फायदा हो सकता है.

    काफी लंबे समय से ये बहस चलती आ रही थी कि क्या वाकई जिंदा चीजों से रोशनी निकलती है, जो अंधेरे में देखी जा सके. हाल ही में हुई रिसर्च में ये साबित हो चुका है. ऑनलाइन साइंस जर्नल PLoS ONE में इससे जुड़ी स्टडी प्रकाशित हुई. इसमें वैज्ञानिकों ने बताया कि सिर्फ इंसान ही नहीं, बल्कि जानवरों से भी रोशनी निकलती है, जो खुली आंखों से दिखाई नहीं देती. ये दिखाई दे सकने वाली रोशनी से 1000 गुना कम होती है और इसे देखने के लिए वैज्ञानिकों को अल्ट्रा-सेंसिटिव कैमरे का इस्तेमाल करना पड़ा.

    इसे देखने के लिए वैज्ञानिकों को अल्ट्रा-सेंसिटिव कैमरे का इस्तेमाल करना पड़ा (Photo-pixabay)


    क्यों निकलती है रोशनी
    शरीर में होने वाली कोशिकाओं की क्रिया के कारण अंदरुनी शरीर तो बदलाव होते ही हैं, साथ ही इसका असर बाहरी शरीर पर भी होता है. कोशिकाओं की क्रिया से ऊर्जा निकलती है जो लाइफ के फॉर्म में दिखती है. वैसे ये ऊर्जा इतनी कम होती है कि इससे पैदा रोशनी विजिबल नहीं होती, बल्कि इंफ्रारेड रेडिएशन की तरह होती है यानी रोशनी का वो रूप जो दिखाई न दे.

    स्टडी के लिए जापान की क्योटो यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने खास तरह के कैमरा बनवाए जो इंफ्रारेड रेडिएशन को भी देख सके. शोध के लिए 5 सेहतमंद पुरुषों को लिया गया, जो लगभग 20 साल के थे. पांचों को ही खुले सीने के साथ कैमरे के सामने एकदम अंधेरे कमरे में रख दिया गया. ये प्रयोग एक अंतराल के साथ तीन दिनों तक चलता रहा. इस दौरान देखा गया कि शरीर अंधेरे में धीरे-धीरे चमकना शुरू करते हैं और फिर चमक धीमी होती जाती है.

    कोशिकाओं की क्रिया से ऊर्जा निकलती है जो लाइट के फॉर्म में दिखती है (Photo-pixabay)


    एक और दिलचस्प बात ये निकलकर आई कि सुबह 10 बजे शरीर की चमक सबसे कम होती है, जबकि शाम के 4 बजते तक रोशनी सबसे तेज हो जाती है. इसके बाद चमक कम होना शुरू हो जाती है जो रात होते-होते एकदम मंद पड़ जाती है. रोशनी बढ़ने-कम होने की वजह ये मानी जा रही है कि ये हमारे बॉडी क्लॉक की वजह से होता है. जैसे-जैसे शरीर का मेटाबॉलिक सिस्टम काम करना तेज करता है, ऊर्जा का प्रवाह बढ़ता था और रोशनी तेज होती जाती है.

    पूरे शरीर में चेहरा सबसे ज्यादा ग्लो करता है जबकि बाकी हिस्सों से कम रोशनी निकलती है. इसकी वजह ये मानी जा रही है कि शरीर के दूसरे हिस्सों से चेहरे की रंगत ज्यादा गहरी होती है. सूर्य के प्रकाश में चेहरा ही सबसे ज्यादा एक्सपोज होता है. चेहरे की स्किन में मेलेनिन होता है, जो त्वचा का रंग तय करने के साथ-साथ ऊर्जा का विकिरण भी करता है.

    वाकई में इंसानी शरीर से एक खास किस्म की रोशनी निकलती है (Photo-pixabay)


    शोध में शामिल क्योटो यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिक हितोशी आकामुरा के मुताबिक शरीर से निकलने वाली हल्की रोशनी हमारे मेटाबॉलिज्म (चयापचय) की प्रक्रिया पर निर्भर करती है. यदि हमारा पाचन तंत्र कमजोर तरीके से काम कर रहा है तो कम ऊर्जा पैदा होगी, जिससे रोशनी भी कम होगी. इसी बात को देखते हुए ये माना जा रहा है कि भविष्य में इंसानी शरीर से निकलने वाली रोशनी की मदद से बीमारी पकड़ी जा सकेगी और उसका इलाज हो सकेगा.

    एक और शोधकर्ता मसाकी कोबायशी, जो बायोमेडिकल फोटॉनिक्स विशेषज्ञ हैं वे भी मानते हैं कि शरीर का ग्लो करना मेडिकल साइंस में काफी मददगार हो सकता है. वे कहते हैं कि जब शरीर के बाहर से उसकी चमक देखी जा सकती है तो पूरे शरीर की कंडीशन का पता भी लगाया जा सकेगा.

    ये भी पढ़ें:

    किस खुफिया जगह पर खुलती है वाइट हाउस की सीक्रेट सुरंग

    क्या है ट्रैवल बबल, जो आपको हवाई यात्रा के दौरान सेफ रखेगा?

    कौन हैं काले कपड़ों में वे लोग, जिनसे डरकर डोनाल्ड ट्रंप को बंकर में छिपना पड़ा

    कैसा है व्हाइट हाउस का खुफिया बंकर, जिसमें राष्ट्रपति ट्रंप को छिपाया गया

    क्या है ट्रंप का वो नारा, जिसने अमेरिका में आग लगा दी

    वो राजा, जिसे हिटलर ने तोहफे में दी उस दौर की सबसे आलीशान कार

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज