सरकारी टास्क फोर्स का आकलन, कोरोना में कारगर हो सकती हैं ये दो दवाएं

सरकारी टास्क फोर्स का आकलन, कोरोना में कारगर हो सकती हैं ये दो दवाएं
कोरोना वायरस के इलाज के लिए इस समय दुनियाभर में दवा तलाशी जा रही हैं.

सरकार द्वारा बनाई गई इन टास्क फोर्स ने ऐसी दवाओं का आंकलन किया है जो पहले से मौजूद हैं और जिनमें कोरोना को ठीक करने की क्षमता है. टास्क फोर्स ने 19 दवाओं की लिस्ट बनाई है जिनमें Favipiravir और Tocilizumab को सबसे ऊपर जगह दी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 30, 2020, 6:19 AM IST
  • Share this:
एंटीवायरल दवा Favipiravir और इम्यूनिटी संतुलित करने वाली दवा Tocilizumab कोरोना वायरस के खिलाफ सबसे कारगर दवा साबित हो सकती हैं. ऐसा कहना है भारत सरकार द्वारा बनाई गई टास्क फोर्स का. ये भारत में कोरोना की दवा के लिए अपने तरीके का पहला आंकलन है. इस आंकलन पर अभी और रिसर्च जारी है. तस्वीर और ज्यादा साफ तब होगी जब इसके वैज्ञानिक अध्ययन और क्लीनिकल ट्रायल डेटा का रिव्यू होगा.

इस टास्क फोर्स का नाम task force for repurposing of drug (TFORD) है. इसे सरकार के प्रिंसिपल साइंटिफिक एडवाइजर के विजयराघवन ने बनाया है. इसका काम ऐसी दवाएं तलाशना है जो कोरोना के इलाज में कारगर हो सकती हैं साथ ही इस टास्क फोर्स को कोऑर्डिनेशन और अन्य निर्णय लेने में मदद करनी होगी.

Greater Noida, Government Hospital, Child, Death, Father, Corona Positive, GIMS, ग्रेटर नोएडा, सरकारी अस्पताल, बच्चा, मौत, पिता, कोरोना पॉजिटिव, जीआईएमएस
प्रतीकात्मक तस्वीर




आईसीएमआर ने हेल्थ केयर वर्कर्स को कोरोना से बचाव के लिए एंटी मलेरिया दवा Hydroxchloroquine (HCQ) के इस्तेमाल की सलाह दी है. इस दवा पर भी टास्क फोर्स ने आंकलन किया है. लेकिन ये कोरोना के इलाज के तौर पर ज्यादा कारगर साबित होती नहीं दिख रही है. हालांकि पहले ऐसा लग रहा था कि ये बेहतर दवा साबित हो सकती है लेकिन आंकलन में इस दवा ने कम स्कोर किया है.
Favipiravir एक एंटी वायरल दवा है जो जापान में इन्फ्लुएंजा के इलाज में इस्तेमाल की जाती है. अभी इस दवा पर 18 जगह क्लीनिकल ट्रायल चल रहा जिसमें 2 जगह पॉजिटिव नतीजे सामने आए हैं. अन्य ट्रायल के नतीजों का इंतजार किया जा रहा है. वहीं Tocilizumab एक इम्यूनिटी संतुलन की दवा है जिसका इस्तेमाल ऑटोइम्यून डिजीज में किया जाता है. ऑटो इम्यून डिजीज वो बीमारियां होती हैं जिनमें किसी व्यक्ति का प्रतिरोधक तंत्र भ्रमित होकर सही प्रतिक्रिया नहीं दे पाता है.

इस दवा का दुनियाभर में 24 जगह ट्रायल चल रहा है. इस दवा को कोविड 19 के गंभीर रोगियों के इलाज के लिए कारगर दवा माना जा रहा है. टास्क फोर्स के आंकलन के मुताबिक इन दोनों दवाओं का निर्माण भारत में भी किया जा सकता है. इसके अलावा Hydroxchloroquine (HCQ) और Remdesivir पर स्थिति और ज्यादा साफ तब होगी जब इनके क्लीनिकल ट्रायल के रिजल्ट आ जाएंगे.



TFORD ने दुनियाभर से उन दवाओें की जानकारी जुटाई है जिन पर क्लीनिकल ट्रायल जारी है और जिन्हें कोरोना के इलाज में कारगर दवा के रूप में देखा जा रहा है. इन दवाओं को स्कोरिंग सिस्टम के आधार पर भारत के परिप्रेक्ष्य में तैयार किया गया है. जिससे यह जानकारी हासिल हो सके दुनियाभर में चल रहे विभिन्न दवाओं के ट्रायल में भारत में सबसे ज्यादा कारगर कौन सी दवा साबित होंगी. स्कोरिंग सिस्टम में दवा की उपलब्धता से लेकर क्लीनिकल ट्रायल के नतीजे, सेफ्टी, निर्माण के लिए तैयारी को आधार बनाया गया है. टास्क फोर्स के मुताबिक अभी दुनियाभर में तकरीबन 60 दवाओं पर क्लीनिकल ट्रायल जारी हैं. इनमें से कई भारत में बनाई जाती हैं.

इस टास्क फोर्स के कोऑर्डिनेटर डॉ. वी प्रेमनाथ का कहना है कि यह अपने तरह का पहला आंकलन है. जिन 19 दवाओं को इस लिस्ट में रखा गया है, वो ये हैं- Chlroquine, HCQ, Remdesivir, Lopinavir/Ritonavir, Baloxavir Marboxil, Darunavir, Ribavirin+IFN betam Galidesivir, Oseltamivir, Umifenovir, Camostat mesylate, Ruxolitinib, Interferon beta, Tocolizumab, Ustekinumab, Nigericin, Teicoplanin and Ivermectin.

Remdesivir के तीसरे चरण के ट्रायल में पॉजिटिव नतीजे
इस बीच अमेरिका की फार्मा कंपनी Gilead Sciences Inc की दवा Remdesivir को कोरोना संक्रमण के इलाज के विकल्प के तौर पर देखा जा रहा है. बुधवार को Gilead की तरफ से कहा गया है कि Remdesivir के तीसरे चरण के ट्रायल में भी पॉजिटिव नतीजे सामने आए हैं. लोग बेसब्री के साथ इस दवा के तीसरे चरण के नतीजों का इंतजार कर रहे थे.

ये भी पढ़ें :

कोरोना से बचाने के लिए पुरुषों को क्यों दिया जा रहा है महिलाओं का सेक्स हार्मोन
इस अमेरिकी महिला सैनिक को माना जा रहा कोरोना का पहला मरीज
उत्तर कोरिया में किम जोंग के वो चाचा कौन हैं, जो सत्ता का नया केंद्र बनकर उभरे हैं
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज