लाइव टीवी

इन 20 देशों में जाने के लिए भारतीयों को नहीं है वीजा की जरूरत

News18Hindi
Updated: October 25, 2019, 5:59 PM IST
इन 20 देशों में जाने के लिए भारतीयों को नहीं है वीजा की जरूरत
ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोल्सोनारो ने भारतीय लोगों के लिए वीजा फ्री कर दिया है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ब्रिक्स की मीटिंग में हिस्सा लेने के लिए 13-14 नवंबर को ब्राजील की राजधानी ब्रासीलिया का दौरा करेंगे. हाल के वर्षों में भारत और ब्राजील के बीच द्विपक्षीय संबंध काफी बढ़े हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 25, 2019, 5:59 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. ब्राजील (Brazil) के राष्ट्रपति जेयर बोल्सोनारो (Jair Bolsonaro) ने एक भारतीयों के लिए एक बड़ी घोषणा की है. राष्ट्रपति जेयर ने चीन और भारत के नागरिकों के लिए वीजा की अनिवार्यता को समाप्त कर दिया है. इसके साथ भारत, अमेरिका, कनाडा, जापान और आस्ट्रेलिया की श्रेणी में आ गया है. जिनके नागरिकों को ब्राजील में वीजा की छूट मिली हुई है. गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ब्रिक्स की मीटिंग में हिस्सा लेने के लिए 13-14 नवंबर को ब्राजील की राजधानी ब्रासीलिया का दौरा करेंगे. हालांकि ब्राजील के अलावा और कई ऐसे देश हैं, जहां जाने के लिए भारतीयों को वीजा की आवश्यकता नहीं है.

भारत के पड़ोसी देश नेपाल और भूटान के अतिरिक्त दुनिया के कई ऐसे देश हैं, जहां भारतीयों को जाने के लिए वीजा नहीं लेना पड़ता है. हमारे देश से बेहतर आर्थिक और सांस्कृतिक रिश्तों के चलते कई कैरिबियन देशों के साथ-साथ लैटिन अमेरिका के देश और यूरोपीय देश भी भारतीयों को बिना वीजा के अपने देश में घूमने फिरने के इजाजत देते हैं. वर्तमान समय में 20 ऐसे देश हैं, जहां भारतीयों को वीजा लेने की आवश्यकता नहीं है. जैसे-

प्रशांत महासागर के द्वीपीय देश वानुवातु में भारतीयों को वीजा की आवश्यकता नहीं है.


1- वानुवातू- दक्षिणी प्रशांत महासागर का द्वीपीय देश वानुवातू भारतीयों के लिए 6 महीने तक बिना वीजा के रहने की इजाजत देता है. गौरतलब है कि भारत और प्रशांत द्वीप के देशों के बीच बहुआयामी संबंध हैं जो अगस्त, 2015 में भारत में आयोजित भारत-प्रशांत द्वीप समूह सहयोग मंच (फिपिक) के सफल द्वितीय शिखर सम्मेलन के जरिए और घनिष्ठ हुए हैं.

कैरेबियन देश त्रिनिदाद एंड टोबैको में भारत के लोगों को वीजा नहीं लेना पड़ता.


2- त्रिनिदाद एंड टोबैको- अटलांटिक महासागर के मध्य इलाके में स्थित कैरेबियन सागरीय देश त्रिनिदाद एंड टोबैको से भारत के अच्छे संबंध हैं. साथ ही यहां पर भारतीय मूल के लोगों की अच्छी खासी जनसंख्या है. यहां भी भारतीय बिना वीजा के 6 महीने रह सकते हैं. लेकिन विजिटर के पास भारतीय पासपोर्ट होना चाहिए.

3- सेंट विंसेट एंड द ग्रेनैडिनेस- यह भी एक कैरेबियन सागरीय देश हैं, जहां भारतीय बिना वीजा के 30 दिनों तक रह सकते हैं.
Loading...

4-सेनेगल- पश्चिम अफ्रीका के अटलांटिक तटीय इलाके में स्थित देश सेनेगल में भारतीय बिना वीजा के 90 दिनों तक रह सकते हैं.

सेंट किट्स एंड नेविस में भारतीयों को वीजा की आवश्यकता नहीं है.


5- सेंट किट्स एंड नेविस- भूमध्य रेख के दक्षिण में स्थित यह देश कैरेबियन सागरीय द्वीप पर स्थित है. भारतीयों के लिए 30 दिनों तक बिना वीजा के रहने की अनुमति प्राप्त है.

6- फिलिस्तीन- फिलिस्तीन स्वतंत्रता को लेकर चल रहे संघर्ष के लिए जाना जाता है. भारत फिलिस्तीन आंदोलन का बहुत पुराना सहयोगी रहा है. यहां भारतीय बिना वीजा के रह सकते हैं.

फिलिस्तीन में भारत के लोगों को वीजा की आवश्यकता नहीं होती है.


7- माइक्रोनेसिया- पश्चिमी प्रशांत महासागर में स्थित एक द्वीपीय देश है. जहां भारतीय बिना वीजा के 30 दिनों तक रह सकते हैं.

8- मॉरिशस- दक्षिणी हिंद महासागर में स्थित द्वीपीय देश मॉरिशस में भारतीय मूल के लोगों की अधिकता है. यहां भारतीयों के लिए 60 दिनों तक बिना वीजा के रहने की इजाजत है. गौरतलब है कि मॉरिशस भारतीय के बीच बेहद फेमस टूरिस्ट स्पॉट है.

भारतीय मूल के लोगों के बहुलतावादी देश मॉरिशस में भारत के लोगों की आवश्यकता नहीं है.


9- मकाउ- मकाउ पर्ल नदी डेल्टा पर स्थित है चीन के प्रशासनिक इलाके में आने वाला देश है. इसके दक्षिण और पूर्व में दक्षिण चीन सागर है. भारत के लोग यहां 30 दिनों तक बिना वीजा के ठहर सकते हैं.

चीन प्रशासित देश मकाऊ में भारत के लोगों को वीजा की आवश्यकता नहीं है.


10- जमैका- कैरेबियन सागरीय द्वीप पर स्थित जमैका में भारत के लोग 14 दिनों तक बिना वीजा के रह सकते हैं.

11- इंडोनेशिया- इंडोनेशिया पूर्वी हिंद महासागर पर ज्वालामुखी द्वीप पर स्थित देश है. इंडोनेशिया 3000 द्वीपों से मिलकर बना देश है. जहां भारत के लोग यहां 30 दिनों तक बिना वीजा के रह सकते हैं.

इंडोनेशिया में भारत के लोगों के लिए वीजा की आवश्यकता नहीं है.


12- हैती- हैती भी एक कैरेबियन देश हैं, जहां भारत के लोग 90 दिनों तक बिना वीजा के ठहर सकते हैं. बस आपके पासपोर्ट की वैलिडिटी चेक की जाती है.

13-ग्रेनेडा- मूल रूप से कैरेबियन देश ग्रेनेडा में भारतीय 90 दिनों तक बिना वीजा के रह सकते हैं.

14- फिजी- यह पूर्वी प्रशांत महासागर में स्थित एक द्वीपीय देश है. जहां भारतीय मूल के लोगों की भारी तादाद है. यहां भारत के लोग 120 दिनों तक बिना वीजा के ठहर सकते हैं.

प्रशांत महासागर में स्थित देश फिजी में भी भारतीयों के लिए वीजा फ्री है.


15- सल्वाडोर- यह प्रशांत महासागर में स्थित एक द्वीपीय देश है. भारत के लोग 30 दिन तक रुक सकते हैं. पासपोर्ट की वैलिडिटी अगले छह महीनों के लिए होनी चाहिए.

16-इक्वाडोर- दक्षिण अमेरिका का एक गणतांत्रिक देश है, जो भारत के लोगों के लिए एक साल के भीतर 90 दिनों तक बिना वीजा के ठहरने की इजाजत देता है.

17- डोमेनिका-डोमेनिका वेस्ट इंडीज का एक कैरेबियन देश है. भारत के लोग यहां 6 महीने तक बिना वीजा के रह सकते हैं.

18- नेपाल- भारतीय उपमहाद्वीप में स्थित एक लैंडलॉक्ड देश है. जो भारत से आर्थिक और सांस्कृतिक रूप से बहुत गहराई से जुड़ा हुआ है. जहां जाने के लिए भारतीय लोगों को वीजा नहीं लेना पड़ता है.

भारत के पड़ोसी देश भूटान जाने के लिए भारतीयों के लिए वीजा की आवश्यकता नहीं है.


19- भूटान- भूटान भी भारत का करीबी पड़ोसी देश है. जहां भी भारतीयों के लिए वीजा की आवश्यकता नहीं है.

20- ब्राजील- 25 अक्टूबर को ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोल्सोनारो ने भारत के लोगों के लिए वीजा लेने की अनिवार्यता को खत्म कर दिया है. दक्षिण अमेरिकी देश ब्राजील दुनिया का पांचवां बड़ा देश है.

ये भी पढ़ें: 

हरियाणा चुनाव नतीजे: कौन है वो एक्सपर्ट, जिसने सबसे पहले दिया सटीक अंदाज़ा

भारतीय राजनीति में हरियाणा ने कैसे गढ़ा 'आयाराम-गयाराम' का मुहावरा?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नॉलेज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 25, 2019, 4:18 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...