Home /News /knowledge /

international day against drug abuse and illicit trafficking drug challenges in humanitarian crises viks

World Drug Day 2022: मानवीय संकटों ने कठिन बना दिया है नशा विरोधी अभियान

अन्तरराष्ट्रीय मादक द्रव्य निषेध (नशा मुक्ति/निवारण) दिवस (International Day against Drug Abuse and Illicit Trafficking) के अभियानों पर कोविड-19 और अन्य मानवीय संकटों का असर हुआ है.  (प्रतीकात्मक तस्वीर: shutterstock)

अन्तरराष्ट्रीय मादक द्रव्य निषेध (नशा मुक्ति/निवारण) दिवस (International Day against Drug Abuse and Illicit Trafficking) के अभियानों पर कोविड-19 और अन्य मानवीय संकटों का असर हुआ है. (प्रतीकात्मक तस्वीर: shutterstock)

अन्तरराष्ट्रीय मादक द्रव्य निषेध (नशा मुक्ति/निवारण) दिवस (International Day against Drug Abuse and Illicit Trafficking) आज दुनिया के कई संकटों के कारण बहुत ही अधिक चुनौतीपूर्ण हो गया है. कोविड-19 (Covid-19) ने जहां पूरी वैश्विक व्यवस्था को चोट पहुंचाते हुए नशा मुक्ति प्रयासों को धक्का पहुंचाया है तो वहीं अफगानिस्तान (Afghanistan) और यूक्रेन में मानवीय संकटों ने समस्या को और भी जटिल बना दिया है.

अधिक पढ़ें ...

    दुनिया में कई समस्याएं बहुत बड़ी होती है जिस पर सभी का ध्यान होता है तो कई इतनी छोटी की उन्हें बहुत महत्व मिलता ही नहीं क्योंकि उनसे नुकसान बहुत ज्यादा नहीं होता है. लेकिन कुछ समस्या कई दशकों से चली आ रही है और निरंतरता ने उनकी गंभीरता को जैसे छिपा  लिया है. मादक द्रव्यों (Durgs) का नशा भी ऐसी ही कुछ है जो दुनिया की आबादी के एक अच्छे खासे हिस्सो को खत्म कर रहा है. इसीलिए संयुक्त राष्ट्र (United Nations) हर साल 26 जून को अन्तरराष्ट्रीय मादक द्रव्य निषेध (नशा मुक्ति/निवारण) दिवस (International Day against Drug Abuse and Illicit Trafficking) मनाता है.

    एक बड़ा मकसद
    नशे और उससे संबंधित अपराध से निपटने वाली संयुक्त राष्ट्र की सहयोगी संस्था, यूनाइटेड नेशनस ऑफिस ऑन ड्रग्स एंड क्राइम (UNODC) हर साल 26 जून को विश्व मादक द्रव्य निषेध दिवस मनाती है. इसका मकसद  ड्रग्स की लत और इसके दुष्प्रभावों से होने वाली मौतों से लोगों को बचाना है और जागरूक करना है.

    क्या है इस बार की थीम
    संयुक्त राष्ट्र ने अन्तरराष्ट्रीय मादक द्रव्य निषेध दिवस के लिए साल 2022 की थीम “स्वास्थ्य और मानवीय संकटों में मादक द्रव्य चुनौतियों का समाधान” (“Addressing drug challenges in health and humanitarian crises”) को चुना है. इस दिवस के जरिए दुनिया में नशे संबंधित शोध पड़ताल, आंकड़े, और तथ्यों को साझा किया जाता है कि जिससे लोग नशे के भयावह और वास्तविक स्थितियों से परिचित और जागरूक हो सकें.

    35 साल पहले हुई थी शुरुआत
    7 दिसंबर साल 1987 को संयुक्त राष्ट्र की आम सभा ने 42/112 संकल्प को पारित कर हर साल 26 जून को अन्तरराष्ट्रीय मादक द्रव्य निषेध (नशा मुक्ति/निवारण) दिवस मनाने का फैसला किया. इस दिवस का उद्देश्य अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सहयोग बढ़ाते हुए उन प्रयासों को मजबूत बनाना है जिससे अंतरराष्ट्रीय समाज पूरी तरह से नशा मुक्त हो सके.

    International Day against Drug Abuse and Illicit Trafficking, Drug Abuse, Illicit Trafficking, International Day against Drug Abuse and Illicit Trafficking 2022, World Drug Day, UNODC, Covid-19, Afghanistan, Ukraine,

    मादक पदार्थों (Drugs) के सेवन से पीड़ित मरीजों को इलाज प्रदान करना आज भी बहुत ही मुश्किल काम है. (प्रतीकात्मक तस्वीर: shutterstock)

    एक साथ बहुत सारे संकट
    दुनिया के कई हिस्सों में शरणार्थी कैम्प लगे हैं जहां हिंसा के शिकार लोग को मानवीय सहायता की जरूरत है.  कोविड-19 महामारी, जलवायु संकट, खाद्य संकट, ऊर्जा संकट आपूर्ती तंत्र में व्यवधान, जैसे संकटों ने एक साथ हमला कर दुनिया को मंदी की कगार पर लाकर खड़ा कर दिया है.

    World Day to Combat Desertification and Drought: आसान नहीं है सूखे से निपटना

    UNODC का प्रमुख प्रयास
    विश्व मादक पदार्थ दिवस पर UNODC वर्तमान और उभरते हुए पार राष्ट्रीय मादक पदार्थ गतिविधियों से पैदा हुई चुनौतियों से निपटने का प्रयास करता है. UNODC मादक पदार्थों को उपयोग करने वाले बच्चों और युवाओं सहित संवेदनशील लोगों के लिए सेहत के संरक्षण की पैरवी करना जारी रखेगा. इसमें जरूरतमंद लोगों को नियंत्रित दवाओं के आपूर्ति करने के  प्रयास भी शामिल हैं.

    International Day against Drug Abuse and Illicit Trafficking, Drug Abuse, Illicit Trafficking, International Day against Drug Abuse and Illicit Trafficking 2022, World Drug Day, UNODC, Covid-19, Afghanistan, Ukraine,

    मादक पदार्थों (Drugs) को रोकने के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर गंभीर प्रयास करने की जरूरत है. (प्रतीकात्मक तस्वीर: shutterstock)

    UNODC का प्रमुख अभियान
    अपने हैशटैग केयर इन क्राइसिस अभियान के तहत UNODC ने सभी सरकारों, अंतरराष्ट्रीय संगठनों, नगारिक समाजों, वगैरह से लोगों को सुरक्षित करने के लिए आपात कदम उठाने क मांग की है. मादक पदार्थों की अवैध तस्करी को रोकने और मादक पदार्थों को उपयोग की रोकथाम उनके इलाज को मजबूत बनाने की भी मांग की है.

    जलवायु परिवर्तन के कारण ज्यादा भूखे हो रहे हैं महासागर के शिकारी जीव

    अफगानिस्तान में तालिबान की वापसी के बाद से वहां अंतरराष्ट्रीय सहयोग राजनैतिक कारणों से बंद है, जिससे वहां भूकंप के कारण आए प्राकृतिक और पहले से चल रहे आर्थिक संकटों ने वहां की समस्या गंभीर कर दी है. अफगानिस्तान पहले से अफीम की खेती के लिए मशहूर है. तालिबान के आने से मादक पदार्थों की तस्करी आदि समस्याएं गहरा सकती हैं. और यह अकेले अफगानिस्तान की नहीं बल्कि पूरी दुनिया की समस्या है.

    Tags: Drugs Problem, Research, World

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर