जानें इजरायल क्यों बनाएगा ऐसे मास्क, जिसमें छिप जाए लंबी दाढ़ी

जानें इजरायल क्यों बनाएगा ऐसे मास्क, जिसमें छिप जाए लंबी दाढ़ी
कोरोना से बुरी तरह प्रभावित इस मुल्क में धार्मिक कारणों से दाढ़ी रखने का चलन है

इजरायल (Israel) अब इस तरह के मास्क (mask) बनाने की तैयारी में है, जिनमें लंबी-लंबी दाढ़ियां भी छिप जाएं. बता दें कि कोरोना (coronavirus) से बुरी तरह प्रभावित इस मुल्क में धार्मिक कारणों से दाढ़ी रखने का चलन है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 7, 2020, 10:33 AM IST
  • Share this:
एक तरफ ज्यादातर देश मास्क की कमी से जूझ रहे हैं तो दूसरी ओर इजरायल (Israel) नई तरह की तैयारी में लगा है. यहां कस्टम-मेड मास्क (custom-made mask) बनाए की कोशिश हो रही है ताकि लोगों को मास्क पहनने के लिए अपनी दाढ़ी (beards) शेव करने की जरूरत न पड़े.

इजरायल में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या 8,904 हो चुकी है. इसी बीच पिछले ही हफ्ते अधिकारियों ने लोगों को बाहर निकलते हुए मास्क पहनने की सलाह दी. लेकिन वहां के लोगों को इसमें कुछ बुनियादी दिक्कतें हो रही हैं. जैसे यहां की बड़ी आबादी, जो कि यहूदी, मुस्लिम या कैथोलिक भी है, अपनी धार्मिक मान्यताओं के चलते लंबी दाढ़ी रखती है. चूंकि दाढ़ी के साथ मास्क पहनने में दिक्क्त होती है इसलिए 6 अप्रैल को यहां की सरकार ने कहा कि वो मास्क को नई तरह से बनाने की कोशिश कर रही है.

दाढ़ी के साथ मास्क पहनने में दिक्क्त होती है




इस बारे में स्वास्थ्य मंत्रालय के एसोसिएट डायरेक्टर जनरल Itamar Grotto ने लोगों को आश्वस्त करते हुए कहा कि मास्क इसी तरह से तैयार होंगे कि दाढ़ियां कटानी न पड़ें. Army Radio में अपनी बात रखते हुए Grotto ने बताया कि वे ऐसे मास्क के लिए इंडस्ट्रियल सर्टिफिकेट बनवा रहे हैं. यानी कुछ ही दिनों में अलग-अलग साइज के मास्क मार्केट में होंगे और लोग अपने अनुसार मास्क ले सकेंगे. यानी मास्क के लिए दाढ़ी हटाना इजरायल का एजेंडा नहीं है.



इस बीच इजरायल में रह रहे फ़िलिस्तीनियन नागरिकों को लग रहा है कि उनके साथ भेदभाव हो रहा है और कोरोना से बचाव के तरीकों में उन्हें शामिल नहीं किया जा रहा. इस देश की कुल आबादी का 20% फ़िलिस्तीन के लोगों से है. इस बारे में फ़िलिस्तीनियों के लीडर Ahmad Tibi ने अलजज़ीरा से एक इंटरव्यू में असंतोष जताते हुए कहा कि यहां की सरकार जांच उतनी तेजी से नहीं कर रही, जितनी होनी चाहिए.

कुछ ही दिनों में अलग-अलग साइज के मास्क मार्केट में होंगे और लोग अपने अनुसार मास्क ले सकेंगे


Ahmad Tibi के अनुसार इजरायल की सरकार उन शहरों में तो काम कर रही है, जहां यहूदियों की आबादी ज्यादा है लेकिन अरब लोगों की आबादी वाले इलाकों में कोरोना को लेकर काम नहीं हो रहा.

कोरोना संक्रमण लगातार बढ़ने के बीच इजरायल में अलग-अलग मजहबों के बीच घमासान मचा हुआ है. कई स्थानीय रिपोर्ट बताती हैं कि संक्रमित हुए मरीजों में आधे से ज्यादा वे हैं, जो ultra-Orthodox हैं. जैसे एक शहर Bnei Brak, जहां इन्हीं की आबादी ज्यादा है, वहां कोरोना संक्रमितों की संख्या दूसरे नंबर पर है, जबकि ये शहर आबादी के लिहाज से देश का सातवां शहर है. इसी तरह से जेरुशलम में भी ultra-Orthodox लोग बड़ी संख्या में बसे हुए हैं और यही शहर कोरोना का हॉटस्पॉट बना हुआ है. हालांकि इस तरह के डाटा आने के बाद से यहां हंगामा मचा हुआ है, जिसमें ultra-Orthodox समूह का कहना है कि उन्हें साजिश के तौर पर बीमारी फैलाने के लिए जिम्मेदार ठहराया जा रहा है. टाइम्स ऑफ इजराइल में इस आशय की एक खबर छपी है.

स्त्रोत- Centers for Disease Control and Prevention (CDC)


लंबी दाढ़ी या मूंछों पर Centers for Disease Control and Prevention (CDC) ने एक स्टडी भी कही, जो बताती है कि फैशन या धार्मिक कारणों से दाढ़ी-मूंछ रखना कोरोना का खतरा बढ़ाता है. वैसे साल 2017 में यह देखने केलिए ये स्टडी हुई थी कि मास्क संक्रामक बीमारियों से कैसे और कितना बचा पाता है. इसी दौरान कुछ निष्कर्ष निकलकर आए. अब कोरोना के वक्त में दोबारा इस स्टडी को देखे जाने की जरूरत है. ये स्टडी बताती है कि मुंह के आसपास जितने ज्यादा बाल होंगे, मास्क को फिट होने में उतनी दिक्कत होगी. कुछ खास तरह की दाढ़ियों की स्टाइल, जिनमें लंबी दाढ़ी भी शामिल है, मास्क के असर को एकदम कम कर देती है.CDC ने शौकीनों के लिए 12 स्टाइल भी सुझाए जो मास्क लगाने में आड़े नहीं आते हैं.

यह भी पढ़ें:

30 देशों ने भारत से की Hydroxychloroquine की मांग, विदेश मंत्रालय लेगा अंतिम फैसला

Coronavirus: इन दिनों दुनियाभर के सबसे बड़े धार्मिक स्थलों के क्या हालात हैं

आखिर कैसे ट्रंप प्रशासन ने गंवाया कोरोना की तैयारी में जरूरी समय

कोविड-19 शवों को दफनाने या जलाने में से क्या बेहतर, जानिए पूरा सच

दस्ताने पहनने के बावजूद कैसे तेज़ी से फैल सकते हैं जर्म्स?

कैसे केरल का हेल्थ सिस्टम कोरोना पर सबसे अच्छा काम कर रहा है
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading