जाने कौन है वो महिला जो इजराइल की सबसे धनी शख्सियत है, कैसी है उसकी जिंदगी

जाने कौन है वो महिला जो इजराइल की सबसे धनी शख्सियत है, कैसी है उसकी जिंदगी
मरियम एडेल्सन इजरायल की सबसे अमीर शख्सियत हैं.

इजायल की सबसे अमीर महिला मरियम एडेल्सन (Miriam Adelson) का परिवार नाजी तानाशाह हिटलर के अत्याचारों की वजह से जान बचाकर भागा था. पेशे से डॉक्टर मरियम अकूत धन-संपत्ति की मालकिन हैं. उनके पति शेल्डन एडल्सन दुनिया के रईस लोगों में शुमार किए जाते हैं.

  • Share this:
1940 के दशक के शुरुआती सालों में जब नाजी तानाशाह हिटलर यहूदियों पर भीषण अत्याचार कर रहा था तब कई यहूदी अपनी जान बचाकर भागे थे. उसी वक्त पोलैंड से किसी तरह जान-बचाकर एक यहूदी परिवार भी भागा था. 1948 में ये परिवार वर्तमान इजरायल के हैफा शहर में सेटल हो गया. परिवार के पास जो कुछ था वो सबकुछ पोलैंड में छूट गया था. यहूदियों के लिए बनाया गया देश इजरायल एकमात्र सहारा था. इस बात को करीब 72 साल बीत गए हैं. लेकिन अब इसी परिवार की एक बच्ची इजरायल की सबसे धनी शख्सियत है. उनका नाम है मरियम एडेल्सन.

कैसी थी मरियम की शुरुआती जिंदगी?
पेशे से डॉक्टर मरियम एडेल्सन के एकाएक रईस बनने की कहानी बेहद दिलचस्प है. लेकिन पहले उनकी शुरुआती जिंदगी के बारे में जानना जरूरी है. मरियम के पिता पोलैंड से इजरायल पहुंचे थे और फिर उन्होंने धीरे-धीरे करके अपना कारोबार जमाना शुरू किया. जिस हैफा शहर में मरियम का परिवार सेटल हुआ था वहीं से उन्होंने शुरुआती शिक्षा पाई. इजरायल के Sackler Medical School से मेडिकल की डिग्री हासिल करने के बाद मरियम ने डॉक्टर के तौर पर अपने करियर की शुरुआत की. ये बात है 1970 के दशक की. यहीं पर उन्होंने एक डॉक्टर Ariel Ochshorn से लव मैरिज की. इस विवाह से मरियम को दो संतानें हुईं लेकिन ये शादी लंबे समय तक नहीं टिकी.


1986 में मरियम तलाक लेकर एक एक्सचेंज प्रोग्राम के तहत अमेरिका की Rockefeller University चली गईं. इन्होंने वहां पर रिसर्च की शुरुआत की. मरियम की जिंदगी इस यूनिवर्सिटी में बदलने वाली थी, इसका भान उनको शायद ही रहा हो. इस यूनिवर्सिटी में उनकी मुलाकात अमेरिका के बड़े बिजनेसमैन शेल्डन एडल्सन से हुई. पहली डेट के बाद दोनों एक-दूसरे के नजदीक आए और 1991 में दोनों की शादी हुई.



शेल्डन से शादी के बाद की जिंदगी
अब मरियम की जिंदगी बदल चुकी थी. वो अमेरिका के एक बड़े बिजनेसमैन, जो आगे चल कर बड़ा कसीनो टायकून बनने वाला था, की पत्नी थीं. मरियम ने शादी के दो साल बाद युवाओं में ड्रग्स के बढ़ते चलन को लेकर एक रिसर्च सेंटर की शुरुआत की. बिजनेसमैन ताकतवर पति की वजह से मरियम के और भी क्लीनिक अमेरिका में खुले. जिसमें लॉस वेगास में एक बड़ा रिसर्च इंस्टिट्यूट भी शामिल है.

पति शेल्डन एडल्सन के साथ मरियम एडल्सन.


लेकिन इसके बावजदू भी मरियम सार्वजनिक कार्यक्रमों से दूर ही रहा करती थीं. अपने रिसर्च इंस्टिट्यूट और मेडिकल की दुनिया में खोई रहने वाली मरियम को बाहरी दुनिया में हो रही राजनीतिक घटनाओं से कोई लेना-देना नहीं था. हां, बस एक राजनीतिक विचार था. और वो था इजरायल को लेकर. मरियम भले ही अपने देश से दूर अमेरिका में बस गई हों लेकिन वो कहती हैं कि उनका दिल इजरायल में ही रहता है. उनके पति भी अमेरिका में रिपब्लिकन पार्टी के बड़े फंडर में से एक रहे हैं.

माना जाता है कि शेल्डन का झुकाव इजरायल के प्रति करने में मरियम का बड़ा योगदान है. खुद शेल्डन पहले डेमोक्रेटिक पार्टी के समर्थक रहे हैं. लेकिन फिर बाद में उन्होंने अपनी राजनीतिक फंडिंग रिपब्लिकन पार्टी को देनी शुरू की.  मरियम और उनके पति शेल्डन उन खास लोगों में थे जिन्हें राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के शपथग्रहण समारोह में बेहद सम्मान के साथ आमंत्रित किया गया था.

अमेरिका और इजरायल की नागरिकता रखने वाली मरियम पहले भी इजरायल के अमीर लोगों में शुमार की जाती थीं. बड़े मेडिकल प्रोजेक्ट की मालकिन होने के नाते उनकी बड़ी संपत्ति थी. लेकिन 2019 में वो एकाएक पहले नंबर पर आ गईं. माना जा रहा है कि इसका कारण उनके पति द्वारा संपत्ति का ट्रांसफर किया जाना है.

86 वर्षीय शेल्डन एडल्सन गंभीर बीमारी से पीड़ित है और पिछले लंबे समय से पब्लिक अटेंशन से दूर हैं.  कहा जा रहा है कि उनके पूरे कारोबार की जिम्मेदारी मरियम ही संभाल रही हैं. इस वक्त मरियम करीब डेढ़ लाख करोड़ से ज्यादा की संपत्ति की मालकिन हैं.

मरियम के पति शेल्डन एडल्सन दुनिया के बड़े कारोबारियों में शामिल रहे हैं. परिवार के पास अपना प्राइवेट जेट भी है. 2007 और 2008 में शेल्डन अमेरिका के तीसरे सबसे अमीर शख्स थे. हालांकि अपने पति के पास-अकूत धन संपत्ति होने के बावजूद भी मरियम अपने रिसर्च और डॉक्टरी के पेशे में ही लगी रही हैं. दोनों अमेरिका में मजबूत राजनीतिक दखल भी रखते हैं. मरियम की वजह से ही शेल्डन का झुकाव चैरिटी की तरफ भी हुआ.

ये भी देखें:

क्या है दिल्ली के सबसे बड़े रेड लाइट इलाके पर कोरोना लॉकडाउन का असर

इस वजह से भारत के पारसी कोरोना संकट में ईरान की कर रहे हैं खास मदद

एक नहीं, तीन चंद्रमा हैं हमारे पास, वैज्ञानिकों ने खोजे 2 छिपे हुए चंद्रमा

बैक्टीरिया को मारने के लिए बहुत दवाएं हैं लेकिन वायरस से निपटने में क्यों हैं हम पीछे
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज