Home /News /knowledge /

Birthday Stalin : कई महिलाओं से तानाशाह स्तालिन को हुआ प्रेम लेकिन सभी को दिया दगा

Birthday Stalin : कई महिलाओं से तानाशाह स्तालिन को हुआ प्रेम लेकिन सभी को दिया दगा

स्तालिन औरतों के मामले में बहुत कच्चा रहा. हमेशा प्रेमिकाएं बदलते रहे.

स्तालिन औरतों के मामले में बहुत कच्चा रहा. हमेशा प्रेमिकाएं बदलते रहे.

सोवियत संघ (Soviet Union) के निष्ठुर तानाशाह जोसेफ स्तालिन (Dictator Joseph Stalin) आज जन्मदिन है. स्तालिन ने हजारों लाखों की संख्या में लोगों को मरवाया. अपने किसी विरोधी को वो जिंदा नहीं रहने देता था. लेकिन प्यार के मामले में हमेशा गैर वफादार रहा. उसके जीवन में ना जाने कितनी स्त्रियां आईं. वो एक विकृत मानसिकता का प्रेमी था.

अधिक पढ़ें ...
सोवियत संघ के निर्मम तानाशाह रहे जोसेफ स्तालिन का आज जन्मदिन है. वो 1890 में पैदा हुआ था. उसे सोवियत संघ का सबसे निष्ठुर शासक माना जाता है. 1922 से लेकर 1953 तक यानि 31 वर्ष तक उसने वहां राज किया. बड़े पैमाने पर अपने विद्रोहियों को मौत के घाट उतारा. यातनाएं दीं. हजारों को साइबेरिया की जेलों में ठूंसा. बेरहम और कठोर तानाशाह कहा जाने वाला स्तालिन महिलाओं के मामले में बहुत कमजोर था. औरतें उसकी बड़ी कमजोरी थीं. उसकी प्रेमिकाओं की लंबी लिस्ट थी. हालांकि कहना चाहिए कि वो प्रेम के मामले में धोखेबाज और विकृत मानसिकता वाला शख्स था.

रूस की प्रमुख वेबसाइट रसिया बियांड और अन्य रिपोर्ट्स के अलावा कई किताबों में स्तालिन की रंगीन मिजाजी के किस्से प्रकाशित होते रहे हैं.

जब पहली बार 16 साल की लड़की से प्यार हुआ
स्तालिन की पहली बीवी एक्तेरिना स्वेनिद्जे थी. बहुत शर्मीली और साधारण परिवार की लड़की. उसे केटो भी कहा जाता था. स्तालिन से उसका परिचय उसके भाई अलेक्जेंडर ने कराया था. दोनों एक धार्मिक स्कूल में साथ पढ़ते थे. तब स्टालिन 24 साल का था.
स्तालिन मुलाकात के कुछ समय बाद ही उसके प्यार में पागल हो गया. उसने ठान लिया कि शादी करेगा तो केटो से ही.  केटो जार्जियाई मूल की गरीब परिवार से ताल्लुक रखने वाली लड़की थी. उस समय उसकी उम्र महज 16 साल की थी.
एक साल बाद जब स्तालिन ने उसे शादी का प्रस्ताव दिया तो उसने सहमति तो दे दी लेकिन एक शर्त के साथ. शर्त थी कि ये शादी एक चर्च में होगी. 1906 में उनकी शादी हुई. इसी साल केटो ने एक बेटे को जन्म दिया. उसका नाम रखा गया याकोव.  हालांकि इसके एक साल बाद ही केटो की मृत्यु हो गई.

जब स्तालिन 24साल के थे तो उन्हें 16 साल की एक्तेरिना स्वेनिद्जे से प्यार हुआ. फिर एक साल बाद उससे शादी की


ये कहा जाता है कि उसकी मौत टीबी से हुई. लेकिन कुछ रिपोर्ट कहती हैं कि टाइफाइड ने उसकी जान ले ली. स्टालिन उसकी मौत से बुरी तरह विचलित हो गया. जब केटो का अंतिम संस्कार हो रहा था तो स्टालिन विछोह को सहन नहीं कर पा रहा था. उसने खोदी गई कब्र में ही छलांग दी.
हालांकि बाद के बरसों में स्तालिन ने अपनी पहली बीवी के भाई ना केवल कैद में डाला बल्कि यातनाएं भी दिलवाईं. कस्टडी में उसकी मौत हो गई.

तानाशाहों की प्रेम कहानीः ईदी अमीन को डांस करती लड़की पसंद आ गई, फिर क्या हुआ..

साइबेरिया में बनाए कई महिलाओं से संबंध
केटो के निधन के बाद क्रांतिकारी बन चुके स्तालिन  को पांच बार साइबेरिया के लिए निर्वासित किया गया. इस निर्वासन के दौरान दो बार उसका अफेयर उन महिलाओं से हुआ, जिनके मकान में वो किराए से रहने गया. इसमें एक थीं मारिया कुजाकोव.

1911 में एक युवा विधवा ने स्तालिन को किराएदार के तौर पर मकान दिया. उस विधवा के बच्चे भी थे. इसके बाद दोनों में अफेयर शुरू हो गया. वो गर्भवती हो गई. 1912 में स्तालिन का निर्वासन खत्म हो रहा था. वो क्रांतिकारी गतिविधियां जारी रखने के लिए साइबेरिया से बहुत दूर चला गया. ये भी गवारा नहीं किया कि उस युवा महिला से होने वाले अपने बच्चे को देखे. इस बेटे का नाम था कोस्त्या.

जब 14 साल की लड़की के प्यार में हुआ दीवाना 
इसके बाद जो महिला उसकी जिंदगी में आई, उसका नाम लीडा पेरेप्रिगिना थी. तब तक स्तालिन 37 साल का हो चुका था. लीडा 14 साल की खूबसूरत और खुशमिजाज लड़की थी. स्तालिन का उसके साथ 1914 से 1916 तक जबरदस्त अफेयर चला.

स्तालिन को पहली बीवी के निधन के बाद कई महिलाओं से प्रेम संबंध रहे. जिसमें एक 14 साल की लीडा भी थी, जिससे उसको दो संतानें हुईं. बाद में वो उसको छोड़कर चला गया


लीडा से स्तालिन को दो बच्चे हुए. पहले बच्चे का तो जल्दी ही निधन हो गया. दूसरे बेटे का जन्म अप्रैल 1917 में हुआ. गांववालों को इस रिश्ते के बारे में जब पता चला तो वो काफी खफा हुए. उन्होंने स्तालिन पर एक नाबालिग लड़की के साथ संबंध रखने का आरोप लगाया. स्तालिन ने भरोसा दिलाया कि वो लीडा से शादी करना चाहता है. हालांकि इस बार भी निर्वासन की अवधि खत्म होते ही वो वहां से भाग निकला.

बाद में लीडा ने उसको खत लिखकर मदद करने को कहा. स्तालिन ने कोई जवाब नहीं दिया बल्कि इसके उलट 1930 के दशक में लीडा से स्तालिन ने जबरदस्ती कुछ ऐसा कागजों पर साइन कराया कि वो कभी ये दावा नहीं करेगी कि उससे हुए दो बच्चों का पिता वो था.

तानाशाहों की लव स्टोरीः उत्तर कोरिया के किम जोंग को जब हुआ एक चीयरलीडर से प्यार

दूसरी शादी भी अच्छी नहीं रही
स्तालिन की दूसरी शादी करीब 12 साल तक चली. दूसरी बीवी का नाम था नादेज्दा. उससे उसकी मुलाकात तब हुई थी, जब वो कम उम्र की थी. कई किताबों में दावा किया गया कि स्तालिन का काफी समय उसकी मां के साथ बाकू में गुजरा था. बताया जाता है कि नादेज्दा को उसने समुद्र में डूबने बचाया था.

जीवन में कई महिलाओं के आने के बाद स्तालिन ने उम्र में बहुत छोटी एक्तेरिना नेदज्दा से शादी की. हालांकि नेदज्का ने फिर आत्महत्या कर ली थी


नादेज्दा से स्तालिन की मुलाकात दोबारा तब हुई जब वो साइबेरिया में एक और निर्वासन बीताकर लौटा था. तब नादिया यानि नादेज्दा 16 साल की थी. वो 37 साल का. जल्दी ही वो स्तालिन के प्यार में पड़ गई. दो साल बाद उन्होंने शादी कर ली. उस समय जिन लोगों ने इस विवाह को देखा था, उनका कहना है कि ये शादी इसलिए हुई थी क्योंकि दोनों एक दूसरे को प्यार करते थे लेकिन शादी का अंत नादिया की खुदकुशी के साथ हुआ.

स्तालिन के व्यवहार से डिप्रेशन में चली गई थी दूसरी बीवी
1931 में नादेज्दा ने खुद को गोली मारकर जान ले ली. कहा जाता है कि नादिया अपने पति के क्रूर व्यवहार से आजिज आ चुकी थी. वो डिप्रेशन में चली गई थी. रूस की प्रमुख वेबसाइट रसिया बियांड में येकेटेरीना सिनेलचिकोवा की रिपोर्ट के अनुसार, स्तालिन ने कम से कम दस बार नादिया का अबार्शन कराया था. हालांकि नादिया से स्टालिन को दो बच्चे हुए. एक बेटा वैसिली और दूसरी बेटी स्वेतलाना. नादेज्दा की आत्महत्या के बाद ये चर्चाएं रहीं कि स्तालिन का अफेयर अपनी साली से भी चला.

ये भी पढ़ें - KBC : कौन हैं 15 साल के क्विज मास्टर श्लोक सैंड, जो बने केबीसी एक्सपर्ट

बेटी की जिंदगी में किसी लड़के को पास नहीं फटकने देता था
मीडिया में ये भी लिखा गया कि एक जमाने में स्तालिन खुद अपनी बेटी स्वेतलाना पर मोहित रहता था. वो उसकी जिंदगी में किसी लड़के को नहीं आने देना चाहता था. उसने लगातार स्वेतलाना के जीवन में आए पुरुषों को दूर करने का काम किया. बाद में स्वेतलाना ने बगावत कर दी. वो गुपचुप सोवियत संघ से भाग निकली. अब अमेरिका में रहती है.

सिंगर से लेकर डांसर से थे रिश्ते 
कहा जाता है कि स्टालिन का जबरदस्त अफेयर रूस की जानी-मानी बैले डांसर ओल्गा लेपेशिनेस्काया के साथ चला. वो अक्सर उसके शो देखने फूलों के गुलदस्ते के साथ थियटर आता था. कई साल बाद ओल्गा ने कहा, "हम आपस में प्यार में थे. वो लगातार खुद को बहुत स्वीट और बेहतर दिखाने की कोशिश करता था लेकिन अंदर से वो बहुत खराब शख्स था-गुस्सैल और अपनी कमी जरा भी बर्दाश्त नहीं करने वाला."

रूस की जानी-मानी बैले डांसर ओल्गा लेपेशिनेस्काया, जिसके साथ स्तालिन का अफेयर चला, वो हमेशा उसकी परफार्मेंस देखने फूलों का गुलदस्ता लेकर थिएटर पहुंचता था


सोवियत संघ की स्टार ऑपेरा सिंगर वेरा देव्यादोवा का नाम भी स्तालिन से जुड़ा. बाद में उसने अपनी संस्मरण बुक "कंफेसन ऑफ स्तालिन लवर" में अपने संबंधों के बारे में काफी कुछ लिखा. लंदन में प्रकाशित किताब के अनुसार ये रिश्ता करीब 19 सालों तक चला. उसने लिखा, " किस तरह स्तालिन की कार उसे लेने आती थी. स्तालिन को इससे कोई मतलब नहीं होता था कि मेरी सहमति है या नहीं. अगर मैं उसके खिलाफ एक भी शब्द बोल देती तो मेरा सबकुछ बर्बाद हो जाता."

जिस दौरान ये अफेयर चल रहा था, तब स्तालिन ने उसे मास्को में दो बेडरूम का शानदार फ्लैट दे रखा था. इस दौरान उसे तीन बार स्तालिन प्राइज से भी नवाजा गया.

फिर अपनी हाउसकीपर पर मरमिटा
माना जाता है कि स्तालिन के जीवन में आई आखिर औरत वाल्या इस्तोमिना थी. वो स्तालिन की पर्सनल हाउसकीपर थी.स्तालिन का पर्सनल गार्ड्स पलटन का प्रमुख निकोलाई व्लासिक उसे लेकर आया था.  वो स्तालिन की निगाह में चढ़ गई. उसे फौरन स्तालिन के घर में पर्सनल हाउसकीपर बना दिया गया. उसकी सारी पर्सनल बातों का जिम्मा उसे दे दिया गया. वो ना केवल स्तालिन की खाने की टेबल सजाती थी बल्कि घर के इंतजामों पर उसी का हुक्म चलता था.

ये भी पढ़ें - मुर्गी के जैसा दिखने वाले डायनोसोर की खोज ने वैज्ञानिकों को किया हैरान

कई सालों तक वो स्तालिन की सेवा करती रही. एक बार वो बीमार पड़ा, वाल्या किसी कारण उसके पास नहीं पहुंच पाई. स्तालिन नाराज हो गया. उसे यातना कैंप में भेज दिया गया. हालांकि बाद में स्तालिन ने उसे वापस बुला भेजा.

ये स्तालिन के जीवन में आई आखिरी औरत थी-वाल्या. जो स्टालिन की हाउसकीपर थी. घर पर उसी का राज चलता था


स्तालिन की बेटी स्वेतलाना अलिलुयेवा ने अपनी किताब "ट्वेंटी लेटर्स टू ए फ्रेंड" में वाल्या के बारे में लिखा, "स्तालिन के निधन पर वो सोफे के बगल में घुटने के बल बैठ गई. उसने अपना सिर पिता की छाती पर रखा और गांववाली महिलाओं की तरह प्रलाप करने लगी..जब वो मर रही थी तो उसने मान लिया था कि मेरे पिता से बेहतर कोई पुरुष उसके जीवन में नहीं था."

क्रांतिकारी महिलाओं और सहयोगियों की बीवियों से संबंध
स्तालिन  के बारे में कहा जाता है कि उसको हमेशा किसी ना किसी महिला के साथ देखा जाना एक सामान्य बात थी. स्तालिन के संबंध तमाम महिलाओं के साथ थे. उसमें कई वो थीं, जिन्होंने रूसी क्रांति के दौरान उसके साथ काम किया और कुछ वो जो उसके सहयोगियों की बीवियां थीं. स्तालिन के कई बच्चे थे लेकिन किसी के साथ उसके रिश्ते अच्छे नहीं रहे. कुछ संतानें ऐसी भी रहीं, जिन्हें स्तालिन ने ना तो कभी अपना नाम दिया और ना अपनाया. 74 साल की उम्र में उसका निधन हो गया.

Tags: Love Story, Russia

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर