कपिल मिश्रा का डल झील पर छठ मनाने का ऐलान, जानिए इस सूबसूरत झील के बारे में

डल झील घाटी में 'श्रीनगर का गहना' के नाम से मशहूर है. ये झील कश्मीर की राजधानी श्रीनगर की वादियों में मौजूद है.

News18Hindi
Updated: July 29, 2019, 12:03 AM IST
कपिल मिश्रा का डल झील पर छठ मनाने का ऐलान, जानिए इस सूबसूरत झील के बारे में
डल झील
News18Hindi
Updated: July 29, 2019, 12:03 AM IST
आप के बागी विधायक कपिल मिश्रा ने ऐलान किया है कि इस साल का छठ पर्व वह कश्मीर के डल झील के किनारे मनाएंगे. इसके लिए कपिल मिश्रा ने लोगों से बाकायदा रजिस्ट्रेशन भी करवाना शुरू कर दिया है. कपिल मिश्रा ने न्यूज 18 हिंदी को बताया कि इस बार कश्मीर की धरती पर डल झील के किनारे ऐतिहासिक छठ पूजा का आयोजन होगा. डल झील के किनारे ही भगवान सूर्य को जल अर्पित किया जाएगा. जिस दिन श्रीनगर की डल झील पर छठ पूजा शुरू हो गई, कश्मीर में कोई समस्या नहीं बचेगी. अभी तक 510 लोगों का रजिस्ट्रेशन हो चुका है. बहुत जल्द ही हमलोग इसके लिए जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल महोदय से अनुमति के लिए आवेदन करेंगे.'

डल झील पर छठ पूजा मनाने को लेकर कपिल मिश्रा का ट्वीट


कपिल मिश्रा अपने इस कैंपेन को युद्धस्तर पर आगे बढ़ा रहे हैं. इस बाबत कपिल मिश्रा ने ट्वीट भी किया है. ट्विटर पर कपिल मिश्रा इस कैंपेन को '#ChhathPujaAtDalLake' हैशटैग के के साथ फैला रहे हैं. लोकसभा चुनाव से ठीक पहले आप के बागी विधायक कपिल मिश्रा ने नरेंद्र मोदी को फिर से प्रधानमंत्री बनाने के लिए दिल्ली में 'मेरा पीएम मेरा अभिमान' नाम से एक अभियान शुरू किया था. इसबार डल झील पर छठ मनाने का अभियान छेड़ा है. आइए जानते हैं कहां है डल झील? और क्यो है इतना मशहूर?

डल झील


डल झील घाटी में 'श्रीनगर का गहना' के नाम से मशहूर है

डल झील घाटी में 'श्रीनगर का गहना' के नाम से मशहूर है. डल झील कश्मीर की राजधानी श्रीनगर की वादियों में मौजूद है. ये एक बेहद ही खूबसूरत और मशहूर झील है. 18 किलोमीटर के इलाके में फैली ये झील तीनों दिशाओं में पहाड़ियों से घिरी हुई है. डल झील जम्मू-कश्मीर की दूसरी सबसे बड़ी झील है. कश्मीर घाटी की अनेक झीलें आकर इसमें जुड़ती हैं. इसके चार प्रमुख जलाशय हैं गगरीबल, लोकुट डल, बोड डल तथा नागिन. लोकुट डल के बीच में रूपलंक द्वीप स्थित है. बोड डल के बीच में सोनालंक द्वीप मौजूद है. भारत की सबसे सुंदर झीलों में इसका नाम लिया जाता है. पास ही स्थित मुगल वाटिका से डल झील का सौंदर्य झवकता है. पर्यटक जम्मू-कश्मीर आएं और डल झील देखने न जाएं ऐसा हो ही नहीं सकता.

खूबसूरत डल झील

Loading...

आकर्षण का केंद्र है यहां के शिकारे और हाउसबोट

हिमालय की तलहटी में स्थित डल झील के मुख्य आकर्षण का केंद्र है यहां के शिकारे और हाउसबोट. सैलानी इन हाउसबोटों में रहकर झील का खूब आनंद उठाते हैं. नेहरू पार्क, कानुटुर खाना, चारचीनारी द्वीपों और हज़रत बल की सैर भी इन शिकारों में की जा सकती है. इसके अलावा दुकानें भी शिकारों पर ही लगी होती हैं. तरह-तरह के नजारे झील की सुंदरता को और निखार देती है. कमल के फूल, पानी में बहती कुमुदनी, झील की सुंदरता में चार चांद लगाते नजर आते हैं. सैलानियों के लिए कई मनोरंजन के साधन जैसे नौका विहा, कायाकिंग, केनोइंग, डोंगी, पानी पर सर्फिंग करना और ऐंगलिंग यहां पर उपलब्ध कराए जाते हैं. ऐंगलिंग मछली पकड़ने का एक तरीका है. डल झील में पर्यटन के अतिरिक्त मुख्य रूप से मछली पकड़ने का काम होता है.

PM मोदी ने बोट से यूं की थी डल झील की सैर


डल झील जाने का रूट

श्रीनगर में अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा है. जम्मू, दिल्ली तथा मुंबई से यहां के लिए नियमित उड़ानें हैं. नजदीकी रेल सेवा जम्मू में है. वहां का नेशनल हाईवे एनएच-1ए कश्मीर घाटी को देश के दूसरे हिस्सों से जोड़ता है. इस यात्रा के दौरान पर्यटक यहां की मशहूर जवाहर सुरंग को निहारते हैं. श्रीनगर रेल मार्ग द्वारा अनंतनाग, क़ाज़ीगुंड तक जुड़ा है. जून 2016 में क़ाज़ीगुंड से बनिहाल तक, भारत की सबसे बड़ी सुरंग के रास्ते रेल सेवा शुरु कर दी गई है.

कश्मीर जाने वाले सैलानियां की पसंदीदा जगह है डल झील


 

पढ़ें : क्या भारत के खिलाफ बड़ी लड़ाई की तैयारी में जुटा है पाकिस्तान?
First published: July 29, 2019, 12:03 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...