KBC सवाल: वह ग्रह जो अपनी धुरी पर नहीं घूमता है दूसरे ग्रहों की तरह

ग्रहों (Planet) के घूर्णन (Rotation) से संबंधित यह सवाल बहुत कठिन नहीं था.  (प्रतीकात्मक तस्वीर)
ग्रहों (Planet) के घूर्णन (Rotation) से संबंधित यह सवाल बहुत कठिन नहीं था. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

कौन बनेगा करोड़पति (Kaun Banega Crorepati) में विज्ञान (Science) का रोचक सवाल पूछा गया था जिसमें उस ग्रह (Planet) का नाम बताना था जिसकी घूमने (Rotation) की धुरी (Axis) बहुत ही अलग है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 8, 2020, 6:05 PM IST
  • Share this:
कौन बनेगा करोड़पति (Kaun Banega Crorepati) के 12वें सीजन में बुधवार के एपीसोड में अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) ने हॉट सीट पर प्रतियोगी से विज्ञान (Science) का एक रोचक सवाल पूछा. सवाल यह था हमारे सौरमंडल (Solar System) के ग्रहों (Planets) से सबंधित था. प्रतियोगी से पूछा गया कि कौन सा ग्रह जो अन्य ग्रहों की तरह अपनी धुरी (Axis) पर नहीं घूमता, बल्कि अपनी कक्षा के समक्षेत्र (Plane) से 90 डिग्री कोण में परिक्रमा करता है. आमतौर पर कठिन सा दिखने वाला यह सवाल बहुत मुश्किल नहीं था.

क्या था सही जवाब
इस प्रश्न का उत्तर महाराष्ट्र के लातूर से अस्मिता माधव मोरे से पूछा गया था. इस प्रश्न के उत्तर के लिए उन्हें चार विकल्प दिए गए थे. ये विकल्प थे, शनि, बुध, यूरेनस और मंगल. इस सवाल का सही जवाब यूरेनस ग्रह था. यह सवाल हमारे सौरमंडल के ग्रहों की परिक्रमा से संबंधित है.

क्यों आसान जवाब था यह
हमारे सौरमंडल के नौ ग्रह में से ज्यादातर ग्रह एक ही तरह से सूर्य की परिक्रमा लगाते हैं और अपनी धुरी पर घूमते हैं, लेकिन यूरनेस अन्य ग्रहों से कुछ अलग ही है. इस सवाल का सही जवाब वे सभी लोग दे सके जिन्होंने स्कूल कि दिनों में सौरमंडल के बारे में पढ़ाई करते समय सुना था कि यूरेनस ही सबसे अजीब ग्रह है और दूसरे ग्रहों से अलग ग्रह है.



Uranus, Axis, Rotation
यूरेनस (Uranus) ग्रह की घूर्णन (Rotation) बाकी ग्रहों (Planet) से बहुत अलग उसकी धुरी (Axis) के खास कोण की वजह से है. (प्रतीकात्मक तस्वीर: Pixabay)


ग्रहों का घूर्णन
यह सवाल ग्रहों के घूर्ण न से संबंधित है तो पहले ग्रहों के घूर्णन को समझें. हमारे सौरमंडल में ग्रह सूर्य की दूरी से बुद्ध, शुक्र, पृथ्वी, मंगल, गुरू, शनि, यूरेनस और नेप्च्यून है. अपनी धुरी पर घूर्णन की बात की जाए तो सभी ग्रह अपनी धुरी पर घूमते हैं यूरेनस ग्रह को छोड़कर. अगर शुक्र और यूरेनस  को छोड़ दिया जाए तो बाकी ग्रह घड़ी की सुई की दिशा में घूमते हैं. जबकि शुक्र घड़ी की सुई के विपरीत दिशा में घूमता है. जबकि यूरेनस के घूर्णन की कक्षा सूर्य की परिक्रमा की कक्षा से करीब 97 डिग्री को कोण बनाती है.

क्या कह रही हैं शनि के चंद्रमा टाइटन पर हो रही गतिविधियां

क्या असर होता है यूरेनस पर उसके घूर्णन का
यूरेनस के इस खास तरह के घूर्णन के कारण इस ग्रह पर दूसरे ग्रहों की तुलना में बहुत ही अलग तरह के मौसमी बदलाव देखने को मिलते हैं. लेकिन यूरेनस का यह घूर्णन बहुत तेज होता है. यह अपना खुद का एक चक्कर केवल 17 घंटों में ही लगा लेता है. यूरेनस का एक साल 84 साल का होता है. उसके असामान्य घूर्णन के कारण एक ध्रुव में 42 साल तक दिन भर सूर्य की रोशनी मिलती है जबकि दूसरे 42 साल में उस हिस्से में अंधेरा ही रहता है.

Solar System, Revolving, sun, Orbit
सौरमंडल (Solar System) में सभी ग्रह (Plnaet) सूर्य (Sun) की परिक्रमा एक ही तल पर लगाते हैं. (तस्वीर: Pixabay)


और पृथ्वी की धुरी भी तो है खास
इसके अलावा पृथ्वी की घूर्णन की धुरी करीब 33 डिग्री है जिसकी वजह से पृथ्वी पर मौसमी परिवर्तन होते हैं क्योंकि इसके कारण साल में अलग अलग समय पर सूर्य की किरणें अलग तरह से पृथ्वी पर आती हैं.

क्या शुक्र पर जीवन के हालात बहुत मुश्किल होने के पीछे है गुरू ग्रह का हाथ

इसके बाद बात करते हैं कि ग्रहों के सूर्य की परिक्रमा की. सही नौ ग्रहों की सूर्य की परिक्रिमा का तल एक ही समान है और वे सभी एक ही दिशा में सूर्य का चक्कर लगाते हैं. बुध को छोड़ दिया जाए तो सभी ग्रह की कक्षा लगभग वृत्ताकार है. लेकिन सूर्य से दूरी और सूर्य का चक्कर लगाने की गति के कारण सभी ग्रहों का एक साल अलग अलग है. यूरेनस का अन्य ग्रहों के मुकाबले सबसे लंबा एक साल होता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज