क्या बुढ़ापे की FAKE तस्वीर देकर आपसे मज़ाक कर रहा है FaceApp?

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे फेसएप को लेकर उठ रहे कई तरह के सवालों के बीच अब ये भी खबरें हैं कि फेसएप आपके बुढ़ापे की जो अनुमानित तस्वीर दिखाता है, वो फेक है. जानें सच क्या है और फेसएप के झूठे होने के तर्क क्या हैं.

News18Hindi
Updated: July 21, 2019, 10:19 PM IST
क्या बुढ़ापे की FAKE तस्वीर देकर आपसे मज़ाक कर रहा है FaceApp?
खबरों के मुताबिक फेसएप अब तक 12-15 करोड़ से ज़्यादा लोगों की तस्वीरों पर अधिकार पा चुका है.
News18Hindi
Updated: July 21, 2019, 10:19 PM IST
अचानक इन दिनों सोशल मीडिया पर बूढ़े चेहरों की तस्वीरों की बाढ़ आ गई है. करोड़ों लोग एक एप का इस्तेमाल करते हुए अपने बुढ़ापे यानी अपने अनुमानित भविष्य की एक तस्वीर शेयर कर रहे हैं. फेसएप के ज़रिए ये मुमकिन हो रहा है, लेकिन इस एप के इस्तेमाल को लेकर आपको सतर्क रहने की ज़रूरत है. ये खबरें आप तक पहुंच चुकी हैं कि फेसएप के ज़रिए आपके पर्सनल डेटा के साथ खिलवाड़ संभव हो सकता है. अब आपको ये जानना चाहिए कि अपने बुढ़ापे की जिस तस्वीर को देखकर आप रोमांचित हो रहे हैं, वह कितना सटीक अनुमान है? आपके मन में ये सवाल नहीं उठता कि क्या सच में आप कुछ सालों बाद ऐसे ही दिखेंगे, जैसी तस्वीर आ रही है? अगर हां, तो जानिए कि सच क्या है.

पढ़ें : आप सिगरेट पीकर फेंक देते हैं, तो ऐसे कुपोषित होते हैं पौधे

फेसएप के इस्तेमाल को लेकर सतर्क रहने की हिदायतें जारी की जा रही हैं. अमेरिका के एक राजनेता ने तो इस एप के ज़रिए करोड़ों लोगों के डेटा में सेंध लगाए जाने को लेकर एफबीआई जांच तक की मांग कर डाली है. लेकिन, अब आपको ये जानकर एक और निराशा हाथ लग सकती है क्योंकि फेसएप आपके बुढ़ापे की जो तस्वीर आपको दे रहा है, वो फ़र्ज़ी या जाली या मनगढ़ंत है, सही अनुमान नहीं. और ये दावा निराधार नहीं है, बल्कि इसके पीछे सबूत सामने आ चुके हैं.

ये केवल मज़ाक है, सीरियस न हों

फेसएप कितनी सही तस्वीर दिखा रहा है? फेसएप का आपके बुढ़ापे को लेकर अनुमान कितना सही है या किस आधार पर है? ये जानने के लिए एक प्रयोग किया गया. एक विशेषज्ञ ने अपनी तस्वीर इस एप पर पोस्ट की और जो अनुमानित तस्वीर उसे मिली, उसमें वह बिल्कुल अपनी मां जैसी दिख रही थी. तो, यह सवाल उठा कि क्या फेसएप किसी किस्म की आनुवांशिकी आधारित तकनीक से अनुमान देता है. लेकिन, सच में ऐसा कोई आधार नहीं था.

ज़रूरी जानकारियों, सूचनाओं और दिलचस्प सवालों के जवाब देती और खबरों के लिए क्लिक करें नॉलेज@न्यूज़18 हिंदी

आपकी एक तस्वीर से आपकी आनुवांशिकी का कोई आधार नहीं जुटाया जा सकता. हेल्थ.कॉम पोर्टल पर त्वचा रोग विशेषज्ञ और स्किन रूल्स किताब की लेखक डेब्रा जैलिमैन के हवाले से लिखा गया है कि ऐसा कोई रास्ता नहीं है, जिससे जाना जा सके कि कोई कैसे बूढ़ा होगा. कोई एप यह अनुमान नहीं लगा सकता कि उम्र के साथ आपकी त्वचा पर कितनी और कहां कहां झुर्रियां आएंगी. ये सिर्फ मौज मस्ती के लिए बनाया गया शिगूफ़ा है, इसे लेकर गंभीर होने की ज़रूरत नहीं है.
Loading...

what is faceapp, is faceapp safe, faceapp threats, social media warning, faceapp fraud, फेसएप क्या है, क्या फेसएप सुरक्षित है, फेसएप के खतरे, सोशल मीडिया सतर्कता, फेसएप फ्रॉड
मशहूर अभिनेता अर्नाल्ड की फोटो के साथ बीबीसी ने प्रयोग किया. फेसएप ने बुढ़ापे की तस्वीर दी (बीच में), वह अर्नाल्ड के वास्तविक बुढ़ापे के चेहरे से मेल नहीं खाती (दाएं तरफ).


दूसरे प्रयोग में ग़लत साबित हुए अनुमान
फेसएप पर दी जा रही तस्वीरों को लेकर एक और प्रयोग करने का दावा बीबीसी ने किया. बीबीसी ने कुछ चर्चित चेहरों की जवानी की तस्वीरें इस एप पर अपलोड कर उनके परिणाम देखे तो पाया कि फेसएप जो तस्वीरें दे रहा है, वो इन व्यक्तित्वों के अस्ल बुढ़ापे के चेहरों से मेल नहीं खातीं. इन तस्वीरों में भी यही देखा गया कि एप दी गई तस्वीर में सिर्फ झुर्रियां या ब्लैक स्पॉट्स जोड़कर आपको वापस कर देता है, यह कोई सटीक अनुमान नहीं बल्कि महज़ बहलावा है.

किन खतरों को लेकर आ चुकी चेतावनी
फेसएप को लेकर कई तरह की सतर्कता बरतने की चेतावनियां दी जा चुकी हैं. आपके पर्सनल डेटा में ये एप सेंध लगाता है क्योंकि इसे इस्तेमाल करने के वक़्त ये आपके मोबाइल फोन की गैलरी का एक्सेस मांगता है. दूसरी ओर, ये एप आपसे टर्म्स एंड कंडिशन्स पर सहमत होने को कहता है और आप बगैर पढ़े 'ओके' करने पर मजबूर होते हैं. इसके नियम व शर्तों में एक ये अहम बिंदु है कि अगर आपने एक बार अपनी तस्वीर एप पर अपलोड की तो आपकी उस तस्वीर के किसी भी तरह के इस्तेमाल के लिए एप स्वतंत्र होगा.

पढ़ें : सावधान! आपके फोटो का यूं गलत इस्तेमाल कर सकता है FaceApp

वहीं, ये भी कहा जा रहा है कि इस एप के पीछे रशियन हैकिंग माफिया है और किसी पॉर्न इंडस्ट्री से इसके तार जुड़े होने की अफ़वाहें भी हैं. हालांकि ऐसी किसी बात को लेकर अब तक कोई पुष्ट खबर नहीं आई है. वहीं, अमेरिका के राजनेता ने एफबीआई जांच की मांग करते हुए ये संदेह ज़ाहिर किया है कि डेटा को लेकर इस एप का मक़सद संदेहास्पद है.

यह भी पढ़ें-
किस रफ्तार से लगातार पिघल रही है आर्कटिक की समुद्री बर्फ?
हाफिज़ सईद ने भारत में खड़ा किया जिसका नेटवर्क, क्या होता है वो 'हवाला'?
First published: July 21, 2019, 7:30 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...