जेम्स बॉन्ड की कार की तरह कई तकनीकों से लैस है अपाचे हेलीकॉप्टर, एयरफोर्स की बढ़ाएंगे ताकत

अमेरिकी कंपनी बोइंग भारतीय वायुसेना को चार अपाचे हेलीकॉप्टर सौंप चुकी है और अगले एक साल में भारत के पास ये 22 हेलीकॉप्टर होंगे. जानें कैसे हैं ये अपाचे हेलीकॉप्टर और कैसे बढ़ाएंगे हमारी सेना की ताकत.

News18Hindi
Updated: July 28, 2019, 4:48 PM IST
जेम्स बॉन्ड की कार की तरह कई तकनीकों से लैस है अपाचे हेलीकॉप्टर, एयरफोर्स की बढ़ाएंगे ताकत
Taiwan's AH-64E Apache attack helicopter launches flares during the annual Han Kuang exercises in Pingtung County, Southern Taiwan, Thursday, May 30, 2019. (AP Photo/Chiang Ying-ying)
News18Hindi
Updated: July 28, 2019, 4:48 PM IST
अमेरिकी कंपनी बोइंग की घोषणा के मुताबिक, अमेरिका ने अपाचे AH-64E लड़ाकू हेलीकॉप्टरों की पहली खेप के तौर पर 4 हेलीकॉप्टर भारतीय वायुसेना के सुपुर्द कर दिए हैं. पहली खेप गाज़ियाबाद स्थित हिंडन एयरफोर्स स्टेशन पर सौंपे गए. ये अपाचे हेलीकॉप्टर कैसे हैं, कैसे काम करते हैं और इनसे वायुसेना की ताकत में कैसे और कितना इज़ाफ़ा होगा? ये तमाम बातें जानना आपके लिए दिलचस्प हो सकता है क्योंकि इन हेलीकॉप्टरों को हेलीकॉप्टरों की दुनिया में वही दर्जा दिया जाता है, जो कारों की दुनिया में जेम्स बॉन्ड की चमत्कारी कार एस्टन मार्टिन को.

पढ़ें : क्या भारत के खिलाफ बड़ी लड़ाई की तैयारी में जुटा है पाकिस्तान?

खबर है कि अगले हफ्ते चार और अपाचे हेलीकॉप्टर को मिलेंगे और इसके बाद सितंबर में पठानकोट एयरफोर्स स्टेशन पर आठ और अपाचे भारतीय वायुसेना को सौंपे जाएंगे. इस तरह, साल 2020 तक भारतीय वायुसेना के पास 22 अपाचे हेलीकॉप्टर आ जाएंगे. AH-64 अपाचे दुनिया के सबसे एडवांस्ड लड़ाकू हेलीकॉप्टर हैं. इनका इस्तेमाल अमेरिकी सेना के साथ ही अब तक इज़रायल, इजिप्ट, नीदरलैंड्स और यूके जैसे देश भी कर रहे हैं. भारत इस ​फेहरिस्त में शामिल हो गया है. आइए जानें इन अपाचे हेलीकॉप्टरों की खूबियां क्या हैं.

अपाचे हेलीकॉप्टरों की खूबियां

सैन्य सर्वेक्षण और भूभाग की पैमाइश के लिए ये हेलीकॉप्टर सबसे एडवांस्ड तकनीक से लैस हैं. ये आमने सामने की लड़ाई में कारगर होने के साथ ही मोबाइल स्ट्राइक जैसे मिशनों में भी उपयोगी हैं. साथ ही, वर्टिकल हमलों को भी अंजाम दे सकते हैं और वो भी दिन हो या रात, यानी खराब मौसम के दौरान भी. इन खूबियों के बारे में कुछ डिटेल्स भी जानें कि ये सब कैसे संभव होता है.

ज़रूरी जानकारियों, सूचनाओं और दिलचस्प सवालों के जवाब देती और खबरों के लिए क्लिक करें नॉलेज@न्यूज़18 हिंदी

हेलफायर मिसाइलों से लैस हैं अपाचे
Loading...

अपाचे AH-64 दो वर्जनों डी और ई में उपलब्ध हैं और भारत ने ई वर्जन का रक्षा सौदा किया है. ई वर्जन के अपाचे AH-64 अत्याधुनिक तकनीक के लिहाज़ से एडवांस्ड हैं. इन लड़ाकू हेलीकॉप्टरों में ट्विन इंजिन है, चार ब्लेड और एक साथ कई तरह के हमले करने की क्षमता है. इनमें एरियल हथियारों की डिलीवरी के प्लेटफॉर्म बेहतरीन तकनीक के साथ डिज़ाइन किए गए हैं.

apache helicopters, indian airforce power, combat aircraft, india defense deal, US india deal, अपाचे हेलीकॉप्टर, भारतीय वायुसेना ताकत, लड़ाकू विमान, भारत का रक्षा सौदा, भारत अमेरिका डील
2020 तक भारतीय वायुसेना के पास 22 अपाचे हेलीकॉप्टर आ जाएंगे.


अपाचे हेलीकॉप्टरों में हथियारों के प्लेटफॉर्म में M230E1, 30 मिमी ऑटोमैटिक बंदूकें, एरियल रॉकेट सिस्टम के साथ ही पॉइंट टारगेट हथियरों का सिस्टम है जिसे आप हैलफायर मिसाइलों के नाम से आसानी से समझ सकते हैं. ये पूरा सिस्टम स्वचालित, जानलेवा और दुश्मनों के ठिकानों को तबाह करने की क्षमता रखने वाला है. हवा से हवा और हवा से ज़मीन पर 8 किलोमीटर की रेंज तक रणक्षेत्र में इन हेलीकॉप्टरों से हमले को अंजाम दिया जा सकता है.

कुल मिलाकर इन अपाचे हेलीकॉप्टरों के ज़रिए एक ही समय में गोलीबारी की जा सकती है, बम गिराए जा सकते हैं और मिसाइलें तक दागी जा सकती हैं. बताया जा रहा है कि एक बार में चेन गन में 1200 राउंड्स मैगज़ीन में भरे जा सकते हैं और ये बंदूक एक मिनट के भीतर 600 से 650 गोलियां फायर करने की क्षमता रखती है.

कंट्रोल का सिस्टम भी है ज़बरदस्त
रडार से लैस अपाचे हेलीकॉप्टरों में मैकेनिकल हाइड्रोलिक सिस्टम के साथ ही एक डिजिटल स्टैबलाइज़ेशन सिस्टम भी है. इसकी मदद से हाइड्रोलिक सिस्टम हेलीकॉप्टर की उड़ान स्मूथ बनाए रखता है और उड़ान के दौरान हेलीकॉप्टर के मंडराने की गति और दिशा पर पूरा कंट्रोल ज़्यादा असानी रखा जा सकता है. दूसरी ओर, ये भी एक फैक्ट है कि इस हेलीकॉप्टर में जो मिसाइलें हैं, उनमें सेंसर्स और कंट्रोल सिस्टम भी एडवांस्ड तकनीक का है, जिसके ज़रिए इनका निशाना अचूक और सटीक होता है.

ये भी पढ़ें:
क्यों गुमनाम रह गया 200 आविष्कार और 40 पेटेंट हासिल करने वाला ये भारतीय वैज्ञानिक?
मोदी समर्थक मानी जाती हैं ब्रिटेन की नई गृहमंत्री प्रीति पटेल
First published: July 28, 2019, 2:30 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...