जानिए कौन हैं ब्रिटेन की नई गृहमंत्री प्रीति पटेल जिन्हें कहा जाता है कट्टर मोदी समर्थक

ब्रिटेन की नई कैबिनेट में भारतीय मूल की प्रीति पटेल को महत्वपूर्ण ज़िम्मेदारी सौंपी गई है. प्रीति पटेल के बारे में ज़रूरी बातें जानने के साथ ये भी जानें कि क्यों उन्हें मोदी समर्थक माना जाता है और प्रीति किन विचारों की समर्थक रही हैं.

News18Hindi
Updated: July 25, 2019, 7:45 PM IST
जानिए कौन हैं ब्रिटेन की नई गृहमंत्री प्रीति पटेल जिन्हें कहा जाता है कट्टर मोदी समर्थक
ब्रिटेन में गृहमंत्री नियुक्त की गईं प्रीति पटेल.
News18Hindi
Updated: July 25, 2019, 7:45 PM IST
ब्रिटेन में हाल में बनी नई कैबिनेट में प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने भारतीय मूल की प्रीति पटेल को गृहमंत्री के तौर पर नियुक्त किया है. ब्रिटेन की कंजरवेटिव पार्टी के सबसे चर्चित चेहरों में शुमार भारतीय मूल की 47 वर्षीय प्रीति अपने दक्षिणपंथी रुझानों के लिए जानी जाती रही हैं. ब्रिटेन में उन्हें मोदी समर्थक के तौर पर भी शोहरत हासिल हो चुकी है और प्रीति ब्रिटेन में ब्रेग्ज़िट समर्थकों के प्रमुख चेहरे के तौर पर उभर चुकी हैं. जानें कौन हैं प्रीति पटेल और उनका ब्रिटेन में इस बड़े पद पर होना भारत के नज़रिये से क्यों महत्वपूर्ण है.

पढ़ें : मक्का कैसे हर साल करता है लाखों हज यात्रियों के लिए इंतजाम

प्रीति को छोड़ना पड़ा था मंत्री पद
2017 में प्रीति पटेल ने इज़रायल की एक निजी यात्रा की थी और उस समय प्रोटोकॉल के उल्लंघन का आरोप उन पर लगा था. आरोप ये था कि ब्रिटिश सरकार या दूतावास को जानकारी दिए बगैर प्रीति ने परिवार के साथ निजी यात्रा के दौरान इज़रायली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू समेत इज़रायली अफसरों से मुलाकात की थी. इस आरोप के चलते प्रीति विवादों में घिरी थीं और उन्हें अंतरराष्ट्रीय विकास मंत्री के पद से इस्तीफा तक देना पड़ गया था.

समलैंगिक शादी का कर चुकी हैं विरोध
ब्रिटेन के नवनियुक्त पीएम बोरिस जॉनसन की तर्ज़ पर ही प्रीति को भी उनके दक्षिणपंथी विचारों के लिए जाना जाता है और ब्रिटेन में दक्षिणपंथियों के बीच वह खासी लोकप्रिय रही हैं. प्रीति ब्रिटेन में उस समय सुर्खियों में थीं, जब समलैंगिकों की शादी को वैध करार दिए जाने का मुखर विरोध किया था. इसके अलावा, अपने प्रचार अभियानों के दौरन 'गौरवशाली ब्रिटेन' और 'कंजरवेटिव विचारों पर गर्व' जैसे जुमलों का इस्तेमाल कर चुकीं प्रीति स्मोकिंग के विरोध में भी मुहिम चला चुकी हैं.

ज़रूरी जानकारियों, सूचनाओं और दिलचस्प सवालों के जवाब देती और खबरों के लिए क्लिक करें नॉलेज@न्यूज़18 हिंदी
Loading...

who is priti patel, britain home secretary, british indian, indian origin minister in britain, british prime minister, प्रीति पटेल कौन हैं, ब्रिटेन गृह मंत्री, ब्रिटेन में भारतीय, ब्रिटेन में भारतीय मंत्री, ब्रिटेन प्रधानमंत्री
मोदी की ब्रिटेन यात्रा की अहम ज़िम्मेदारियां प्रीति पटेल के सुपुर्द थीं.


थेचर की फैन और मोदी समर्थक!
ब्रिटेन की पूर्व प्रधानमंत्री मारग्रेट थेचर को आदर्श मानने वाली प्रीति ब्रिटेन में बसे भारतीयों और भारत में मोदी समर्थक के तौर पर भी लोकप्रिय रही हैं. अस्ल में, इस तरह की चर्चा तब हुई थी जब पूर्व ब्रिटिश पीएम डेविड कैमरून के कार्यकाल में प्रधानमंत्री मोदी ने ब्रिटेन की यात्रा की थी. तब कैमरून ने मोदी की यात्रा की तमाम ज़िम्मेदारियां प्रीति को सौंपी थीं. इसके बाद से प्रीति की लोकप्रियता भारतीयों के बीच बढ़ी और अब आलम ये है कि ब्रिटेन में भारतीय मूल के लोगों के प्रमुख कार्यक्रमों में वो बतौर मेहमान मौजूद होती हैं.

ब्रेग्ज़िट के समर्थन का चेहरा बनीं प्रीति
प्रीति ने 2016 में यूरोपीय संघ से ब्रिटेन के अलग होने की हिमायत करते हुए ब्रेग्ज़िट के समर्थन में कई रैलियां की थीं. 'सेव ब्रिटिश करी' का नारा देकर प्रीति ने खुलकर पूर्व प्रधानमंत्री टेरीज़ा मे का विरोध और आलोचना की थी. इसके साथ ही, प्रीति ने बोरिस जॉनसन को दोबारा प्रधानमंत्री बनाने की मुहिम भी छेड़ी थी और अपनी रैलियों में 'बैक बोरिस' अभियान का खुलकर ज़िक्र किया था.

who is priti patel, britain home secretary, british indian, indian origin minister in britain, british prime minister, प्रीति पटेल कौन हैं, ब्रिटेन गृह मंत्री, ब्रिटेन में भारतीय, ब्रिटेन में भारतीय मंत्री, ब्रिटेन प्रधानमंत्री
प्रीति ने खुलकर पूर्व प्रधानमंत्री टेरीज़ा मे का विरोध और आलोचना की थी.


ऐसा रहा प्रीति का राजनीतिक सफर
युगांडा से ​ब्रिटेन आकर बसे भारत के गुजरात मूल के सुशील और अंजना पटेल की बेटी प्रीति ने ब्रिटेन की कील और एसेक्स यूनिवर्सिटी से शिक्षा हासिल की. ग्रेजुएशन के बाद ही प्रीति ने राजनीतिक जीवन की शुरूआत की थी और पहले वो रेफ्रेंडम पार्टी से जुड़ी थीं लेकिन 1997 में उन्होंने कंज़रवेटिव पार्टी का दामन थाम लिया था. प्रीति ने पहला चुनाव नॉटिंघम सीट से 2005 में लड़ा था लेकिन पहली जीत उन्हें 2010 में तब मिली, जब वो विटहैम सीट से चुनी गईं. 2014 में प्रीति कोष मंत्री और 2015 के चुनाव के बाद रोज़गार मंत्री बनाई गई थीं.

ये भी पढ़ें:
जानें किन हालात ने एक हत्यारे को बना दिया ​'तिब्बत का बुद्ध'
क्या है पैराशूट रेजीमेंट? जिसका हिस्सा हैं महेंद्र सिंह धोनी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए यूरोप से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 25, 2019, 7:23 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...