समुद्र यात्रा पर निकला ये कपल 25 दिन तक कोरोना वायरस से दुनिया में मची तबाही से रहा अनजान

समुद्र यात्रा पर निकला ये कपल 25 दिन तक कोरोना वायरस से दुनिया में मची तबाही से रहा अनजान
ब्रिटेन में मैनचेस्‍टर के रेयान और एलिना को करीब एक महीने तक पता ही नहीं चला कि दुनिया कोरोना वायरस की चपेट में आ चुकी है.

ब्रिटेन के मैनचेस्‍टर में रहने वाला एक कपल (British Couple) फरवरी में अपनी नाव लेकर अटलांटिक महासागर (Atlantic Ocean) की यात्रा पर निकला था. दोनों को करीब एक महीने तक कोरोना वायरस (Coronavirus) से दुनियाभर में मची तबाही के बारे में कोई जानकारी ही नहीं मिली.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 25, 2020, 5:04 PM IST
  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
कोरोना वायरस (Coronavirus) ने पूरी दुनिया में तबाही मचा रखी है. ऐसे में ज्‍यादातर लोग हर घंटे की खबरों से अपडेट रहना चाहते हैं. लोग जानना चाहते हैं कि दुनियाभर में कितने लोग संक्रमित हो चुके हैं. कितने लोगों की मौत हो गई है. किस देश में वैक्‍सीन बनाने को लेकर कितना काम निपट गया है. सरकारें इससे निपटने के लिए क्‍या कदम उठा रही हैं. इलाज में कौन सी नई दवा या तकनीक का इस्‍तेमाल किया जा रहा है. मतलब लोग हर पल सब कुछ जानना चाहते हैं.

इसी बीच एक कपल ऐसा भी है, जो अपनी नाव पर अटलांटिक महासागर में घूमता रहा और 25 दिन तक दुनियाभर में फैल चुकी इस वैश्विक महामारी (Pandemic) से अनजान रहा. उन्‍हें कोरोना वायरस के बारे में जानकारी तब मिली, जब 25 दिन की लगातार यात्रा करने के बाद उन्‍होंने मार्च के मध्‍य में एक छोटे से द्वीप पर रुकने का फैसला किया.

कैनरी द्वीप से कैरेबियाई द्वीप तक यात्रा कर रहा था कपल
ब्रिटेन (Britain) के मैनचेस्टर का रहने वाला यह कपल फरवरी आखिर से अटलांटिक महासागर (Atlantic ocean) में कैनरी द्वीप से लेकर कैरिबियन द्वीप तक घूमता रहा. जब ये दोनों द्वीप पर पहुंचे और उनका फोन सिग्नल मिला तो उन्हें पता चला कि द्वीप की सीमाएं बंद हैं. इसके बाद उन्‍होंने सीमाएं बंद होने की वजह पूछी तो उन्हें पता चला कि पूरी दुनिया कोरोना वायरस से जूझ रही है.



एलिना बताती हैं कि फरवरी में हमने चीन में किसी वायरस के संक्रमण की बात सुनी तो थी, लेकिन हमें इसकी ज्‍यादा जानकारी नहीं थी. हमने सोचा कि 25 दिन बाद हमारे कैरिबियाई द्वीप पर पहुंचने तक यह खत्म हो चुका होगा. वहीं, रेयान ने कहा कि हमें द्वीप पर पहुंचने के बाद कोरोना वायरस के पूरी दुनिया में फैलने की बात पता लगी.



फरवरी में दोनों ने यात्रा शुरू करते समय अपने करीबियों को कोई भी बुरी खबर नहीं सुनाने के लिए कहा था.


यात्रा शुरू करते समय कहा था, हमें न दी जाए बुरी खबर
एलिना और रेयान चीन के वुहान में कोरोना वायरस के संक्रमण की शुरुआत के बाद ज्यादातर वक्त समुद्र में ही रहे. दोनों कभी-कभी इंटरनेट और परिवार के संपर्क में आते थे. इसलिए उन्‍हें संक्रमण की गंभीर स्थिति का पता ही नहीं चला. एलिना का घर इटली के सबसे बुरी तरह से संक्रमित क्षेत्र लोम्बार्डी में है. एलिना ने बताया कि उन्‍होंने अपने नजदीकी लोगों से यात्रा के दौरान किसी भी तरह की बुरी खबर नहीं बताने को कहा था. इसलिए उन्‍होंने हमें कभी इसके बारे में बताया ही नहीं.

अब इसके बारे में सुनना बहुत बुरा लग रहा है. रेयान ने बताया कि पहले हमने कैरिबियन क्षेत्र के एक फ्रेंच इलाके में उतरने की कोशिश की. जब हम वहां पहुंचे तो उस इलाके की सीमाए बंद थीं. साथ ही दूसरे द्वीप भी बंद हो रहे थे. हमें लगा कि पर्यटकों के आने का सीजन होने के कारण ऐहतियातन यह कदम उठाया जा रहा है.

सेंट विंसेट पहुंचने से पहले महामारी के बारे में पता चला
दोनों ने द्वीप से नाव में लौटने के बाद ग्रेनाडा की ओर यात्रा शुरू कर दी. इसी दौरान समुद्र में एक जगह उन्हें 4जी के अच्‍छे सिग्नल मिलते. तब उन्हें पता चला कि दुनिया में क्या हो रहा है. एलिना ने बताया कि हमारी एक दोस्त सेंट विंसेट में पहले से थीं, जहां पहुंचने के लिए हम बढ़ रहे थे. वहां पहुंचने से 10 घंटे पहले हमारी उनसे बात हुई.

एलिना और रेयान 2017 से अपनी नाव के जरिये समुद्र यात्रा करते रहते हैं. इस दौरान दोनों अनुभवों का वीडिया बनाकर सोशल मीडिया पर शेयर करते हैं.


एलिना ने बताया कि मेरे इटली की नागरिक होने के कारण मुझे सेंट विंसेट में नहीं उतरने दिया जाएगा. बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, किस्मत से जीपीएस की मदद से दोनों यह साबित करने में कामयाब रहे कि वो महीनों से इटली नहीं गए हैं. साथ ही बता पाए कि 25 दिन से समुद्र में सबसे अलग आइसोलेशन में रह रहे हैं. इस तरह उन्हें जमीन पर उतरने का मौका मिल पाया.

फ्रीलांस राइटिंग और ग्राफिक डिजाइन से कमाते हैं पैसे
द गार्जियन की रिपोर्ट के मुताबिक, दोनों 2017 से नाव के जरिये समुद्र यात्राएं करते हैा. ये कपल समुद्र यात्रा के अपने अनुभवों को यूट्यूब चैनल पर दिखाता है. मैनचेस्‍टर में घर नहीं खरीद पाने पर दोनों ने एक नाव खरीदकर दुनिया भर में घूमने की योजना बनाई. ये दोनों अब फ्रीलांस राइटिंग और ग्राफिक डिजाइन के जरिये पैसे कमाते हैं.

रेयान और एलिना के लिए अटलांटिक सागर की लंबी यात्रा काफी चुनौतीपूर्ण थी. इसके लिए दोनों ने काफी समय तक जबरदस्‍त तैयारी की थी. उनके पास कम्‍युनिकेशन के लिए सिर्फ सेटेलाइट डिवाइस था, जिस पर 160 कैरेक्‍टर का संदेश मिल सकता है. इसीलिए दोनों ने यात्रा शुरू करते समय अपने परिजनों और दोस्‍तों से कोई भी बुरी खबर नहीं देने के लिए कहा था.

ये भी देखें:

क्‍या कोरोना वायरस संकट के बीच अर्थव्‍यवस्‍था को संभालने के लिए नए करेंसी नोट छापेगा आरबीआई?

इस स्‍मार्ट गैजेट से कोरोना को मात देने की तैयारी में है सरकार, ऐसे करेगा काम

'गाय' के बिना संभव नहीं होगा कोरोना वायरस का खात्‍मा! जानें इसकी वजह

कोरोना से निपटने में महिला लीडर्स ने किया है सबसे बढ़िया काम
First published: April 25, 2020, 4:33 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading