लाइव टीवी

कौन है वो महिला जो रोज बनाती है ट्रंप का मनपसंद खाना, मनमोहन सिंह से 'खास रिश्ता'

News18Hindi
Updated: March 5, 2020, 2:43 PM IST
कौन है वो महिला जो रोज बनाती है ट्रंप का मनपसंद खाना, मनमोहन सिंह से 'खास रिश्ता'
व्हाइट हाउस की चीफ शेफ की नियुक्ति और पूर्व भारतीय पीएम के अमेरिकी दौरे के बीच एक दिलचस्प संयोग है.

क्रिस्टेटा पासिया कॉमरफोर्ड (Cristeta Pasia Comerford) बीते 15 वर्षों से व्हाइट हाउस की चीफ शेफ हैं. उनकी नियुक्ति में तत्कालीन भारतीय प्रधानमंत्री की 'दिलचस्प भूमिका' थी. जानिए क्या है कहानी

  • Share this:
हाल ही में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) और उनकी पत्नी मेलानिया (Melania Trump) परिवार सहित भारत की यात्रा पर आए थे. ट्रंप की यात्रा से पहले भारतीय मीडिया में उनके लिए तैयार किए गए व्यंजनों के बारे में खूब खबरें प्रकाशित हुईं. अमेरिकी राष्ट्रपति की खान-पान की आदतों पर सुर्खियां बनीं. आखिर ट्रंप को खाने की क्या चीजें पसंद हैं? उनके लिए पकवान कौन तैयार करता है? कौन है जो व्हाइट हाउस का किचन संभालता है?

व्हाइट हाउस की चीफ शेफ हैं क्रिस्टेटा पासिया कॉमरफोर्ड. फिलीपींस में पैदा हुईं क्रिस्टेटा बीते 15 सालों से व्हाइट हाउस की चीफ शेफ हैं. यानी वो जॉर्ज बुश जूनियर के समय में व्हाइट हाउस में नियुक्त हुई थीं. फिर 8 सालों तक बराक ओबामा और अब डोनाल्ड ट्रंप के लिए विशेष पकवानों का खयाल रखती हैं. क्रिस्टेटा पहली महिला और पहली एशियाई हैं जो इस पद के लिए चुनी गईं. इससे पहले व्हाइट हाउस में चीफ शेफ सिर्फ पुरुष की ही बने थे.

फिलीपींस से अमेरिका का सफर
फिलीपींस के सामान्य परिवार से ताल्लुक रखने वाली क्रिस्टेटा ने अपनी पढ़ाई लिखाई भी वहीं से पूरी की. उन्होंने यूनिवर्सिटी ऑफ फिलीपींस से फूड टेक्नोलॉजी की पढ़ाई की है. 23 साल की उम्र में ही वो अमेरिका चली आई थीं.



क्रिस्टेटा ने व्हाइट हाउस में चीफ शेफ बनने से पहले कई नामी जगहों पर खानसामे के रूप में काम किया. उनकी पहली जॉब ओ'हेयर इंटरनेशनल एयरपोर्ट के पास मौजूद शेरेटन होटल में खानसामा की थी. इसके बाद उन्होंने होटल की इंटरनेशनल श्रृंखला हयात में भी काम किया.



क्लिंटन के समय में पहुचीं व्हाइट हाउस
व्हाइट हाउस में क्रिस्टेटा पहुंचीं साल 1995 में. उन्हें तत्कालीन चीफ शेफ वाल्टर शिबे ने नियुक्त किया था. तब अमेरिका के राष्ट्रपति बिल क्लिंटन हुआ करते थे. अपने काम में बेहद दक्ष क्रिस्टेटा की बनाई डिशेज सभी की पसंद बनती चली गईं. साल 2005 में जब वाल्टर शिबे रिटायर हो गए तो फिर प्रशासन को इस पद के लिए सबसे उपयुक्त उम्मीदवार क्रिस्टेटा लगीं.

मनमोहन सिंह से क्या है नाता
यह बात अटपटी लग सकती है कि एक पूर्व भारतीय प्रधानमंत्री से व्हाइट हाउस की चीफ शेफ का क्या नाता हो सकता है. लेकिन ये एक दिलचस्प संयोग है कि जब वाल्टर शिबे के रिटायरमेंट के बाद व्हाइट हाउस नए चीफ शेफ की तलाश कर रहा था तब कैसे क्रिस्टेटा की दावेदारी सबसे मजबूत हुई.

अमेरिकी अखबार वाशिंगटन पोस्ट में अगस्त 2005 में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक जब व्हाइट हाउस प्रशासन चीफ शेफ तलाशने में व्यस्त था तभी तत्कालीन भारतीय प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह का अमेरिकी दौरा हुआ था. मनमोहन सिंह के व्हाइट हाउस में भव्य डिनर का आयोजन करवाया गया था. अमेरिका के राष्ट्रपति और भारत के प्रधानमंत्री के अलावा उस डिनर में गणमान्य लोगों की बड़ी संख्या थी.

उस डिनर पार्टी का सारा आयोजन क्रिस्टेटा ने ही संभाला था. वाशिंगटन पोस्ट की रिपोर्ट कहती है कि इस डिनर के सफल आयोजन ने क्रिस्टेटा को दूसरे सभी उम्मीदवारों से मीलों आगे कर दिया. दूसरा उनके पास व्हाइट हाउस में काम करने का दस साल का अनुभव तो था ही. और फिर इसी के साथ व्हाइट हाउस को मिली पहली महिला चीफ शेफ.

ये भी पढ़ें:

जानिए, किसी कोरोना मरीज के कौन-कौन से होते हैं टेस्ट

कोरोना वायरस: इंफेक्‍शन से बचाव में बहुत ज्‍यादा कारगर नहीं है फेस मास्‍क!

सावधान! आपकी मोबाइल स्क्रीन पर भी हो सकता है कोरोना वायरस

फैलने लगा स्वाइन फ्लू, इस उम्र के लोग बनते हैं ज्यादा शिकार

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नॉलेज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 5, 2020, 1:50 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading