वो विदेशी महिला, जो बनी पाकिस्तान की सियासत में भूचाल की वजह

वो विदेशी महिला, जो बनी पाकिस्तान की सियासत में भूचाल की वजह
सिंथिया डॉन रिची एक कार्यक्रम में शिरकत करते हुए. फेसबुक पर पोस्ट की गई पुरानी तस्वीर.

पूर्व मंत्री पर RAPE का आरोप, बेनज़ीर भुट्टो (Benazir Bhutto) पर रेप कल्चर को बढ़ावा देने का आरोप और PPP के साथ ही PML(N) और अन्य पार्टियों को बेनकाब करने की धमकियां... कौन है Pakistan में सालों से रह रही एक अमेरिकी महिला, जिसने पाकिस्तान की हाई प्रोफाइल राजनीति को हिलाकर रख दिया है?

  • Share this:
'..इससे याद आता है, जब बेनज़ीर भुट्टो के पति चीट करते थे, तब वो अपने गार्ड्स से उन महिलाओं का बलात्कार करने को कहती थीं, जिनके साथ उनके पति के संबंध होते थे. क्यों महिलाएं इस रेप कल्चर की अनदेखी करती हैं? क्यों पुरुष जवाबदार नहीं ठहराए जाते? इंसाफ कहां है?' अमेरिकी मूल (US National) की एक महिला के इस Tweet के बाद कहानी बहुत आगे बढ़ चुकी है और पाकिस्तान की सियासत (Politics of Pakistan) में तूफान मचा है.

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री यूसुफ रज़ा गिलानी, पूर्व गृह मंत्री रहमान मलिक (Rehman Malik) और पूर्व मंत्री मख्दूम शहाबुद्दीन इस महिला के बलात्कार और Sexual Abuse के आरोपों की ज़द में आ गए हैं. गिलानी आरोपों को खारिज कर चुके हैं. भुट्टो और उनके पति आसिफ अली ज़रदारी की पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी ने फेडरल जांच एजेंसी से शिकायत की है और इस महिला सिंथिया डॉन रिची के खिलाफ मानहानि का करोड़ों का दावा ठोका गया है. जानिए कि कौन है सिंथिया और कितने संगीन हैं इसके आरोप.

ये भी पढ़ें :- क्या होती है वर्चुअल रैली? नई तकनीक से इसमें कैसे होता है कमाल



pakistan politics, pakistan military, pakistan ISI, pakistani american, benazir bhutto, पाकिस्तान राजनीति, पाकिस्तान सेना, बेनज़ीर भुट्टो, पाकिस्तानी अमेरिकी, पाकिस्तान आईएसआई
बेनज़ीर भुट्टो पर इस आरोप के लिए सिंथिया पर कानूनी कार्रवाई की जा रही है.

क्या हैं सिंथिया के आरोप?
बीती 28 मई को सिंथिया ने एक ट्वीट में बेनज़ीर भुट्टो को लेकर यह बात कही थी. इसके बाद से हंगामा हुआ और पीपीपी के समर्थकों व कार्यकर्ताओं द्वारा उन्हें काफी खराब प्रतिक्रियाएं और कानूनी कार्रवाई के नोटिस मिले. तब ​हाल में फेसबुक के ज़रिये सिंथिया ने एक वीडियो पोस्ट कर आरोप लगाया कि 2011 में पीपीपी के शासनकाल में मंत्री रहे रहमान मलिक ने उन्हें ड्रिंक्स में नशीली दवा पिलाकर उनके साथ बलात्कार किया था. जबकि गिलानी और शहाबुद्दीन ने उसके साथ शारीरिक बदसलूकी की थी.

सिंथिया ने किया सबूत होने का दावा
इसी वीडियो में और इसके बाद सोशल मीडिया पर लगातार सिंथिया दावा कर रही हैं कि उनके पास लगाए गए तमाम आरोपों के कई तरह के सबूत मौजूद हैं. सिंथिया खुद को पाकिस्तान की हाई प्रोफाइल सियासत का पीड़ित बता रही हैं और पाकिस्तान के युवाओं व महिलाओं से अपील कर रही हैं देश से रेप कल्चर और गंदी सियासत के खिलाफ आवाज़ उठाई जाए.



सिंथिया दोषी या नामी गिरामी लोग?
इन आरोपों के बाद सिंथिया को लेकर कई सवाल उठ रहे हैं. मसलन, यह महिला कौन है और पाकिस्तान में हाई प्रोफाइल लोगों के साथ कैसे कनेक्टेड रही? पाकिस्तान में सिंथिया कर क्या रही थीं? कोई कह रहा है कि यह महिला अमेरिकी जासूस हो सकती है तो कोई मान रहा है कि किसी और पार्टी के दबाव में सिंथिया ने कीचड़ उछालने की मुहिम शुरू की है.

एक शक सिंथिया के जासूस होने का है जो पीपीपी समर्थक सोशल मीडिया पर जता रहे हैं. दूसरी ओर, पाकिस्तान के एक ब्लॉग में कहा गया है कि पहले सिंथिया पूर्व पीएम गिलानी की खूब तारीफें करती हुई पाई जा चुकी थीं. अचानक उनके सुर कैसे बदल गए!

#मीटू या #हिमटू?
सिंथिया के इन दावों और आरोपों को साफ तौर पर माना जा सकता है कि यह #METOO का मामला है. खुद सिंथिया ने भी इसे अपनी भावनाओं से जुड़ी कड़वी यादें करार दिया है. यह भी कहा कि उन्हें पाकिस्तान में काफी प्यार मिलता रहा है और अच्छा समय भी उन्होंने बिताया है लेकिन इस तरह की यादों से वो आहत भी हैं.

दूसरी तरफ, पाकिस्तानी ब्लॉगर ने खासकर गिलानी के संदर्भ में शक ज़ाहिर किया कि यह #HIMTOO की कवायद भी हो सकती है. वहीं, सिंथिया के समर्थन में फिलहाल सोशल मीडिया पर #pride of Pakistan जारी है. इस पूरे एपिसोड का सच सबको वक्त के साथ पता चलेगा लेकिन फिलहाल जानते हैं कि यह सिंथिया कौन है.

pakistan politics, pakistan military, pakistan ISI, pakistani american, benazir bhutto, पाकिस्तान राजनीति, पाकिस्तान सेना, बेनज़ीर भुट्टो, पाकिस्तानी अमेरिकी, पाकिस्तान आईएसआई
सिंथिया ने ट्वीट कर यह भी आरोप लगाया कि उनके परिवार पर हमले किए जा रहे हैं.


कौन हैं सिंथिया और पाकिस्तान में क्यों?
इन आरोपों से खड़े हुए बवाल के बाद सिंथिया मीडिया के सामने खुलकर आने से बच ही रही हैं. लेकिन, पाकिस्तानी मीडिया में उन्हें लेकर जो सूचनाएं सामने आ रही हैं, उनके मुताबिक सिंथिया पिछले करीब दस साल से पाकिस्तान में हैं. सिंथिया को ब्लॉगर, फिल्ममेकर और सोशल मीडिया व्यक्तित्व के तौर पर देखा जा रहा है. अपने वीडियो में सिंथिया ने कहा कि वह 2010 के आसपास वर्क वीज़ा पर पाकिस्तान आई थीं

सिंथिया के फेसबुक पेज की मानें तो वह अमेरिका के लु​इसियाना प्रांत की रहने वाली हैं और कई यूनिवर्सिटियों से मास कम्युनिकेशन, क्रिमिनल जस्टिस, कॉन्फ्लिक्ट रिजॉल्यूशन, क्लीनिकल साइकोलॉजी और स्ट्रैटजिक पब्लिक रिलेशन में डिग्रियां हासिल कर चुकी हैं. ट्विटर पर परिचय के हिसाब से सिंथिया 'डिफरेंट लेंस प्रोडक्शन' संस्था में निर्माता हैं और कुछ समाचार पत्र पत्रिकाओं के साथ बतौर लेखक जुड़ी हैं.

'पागल गोरी' पाकिस्तान में क्यों?
इंटरनेट सर्च में सिंथिया का ब्लॉग नहीं मिलता. इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट में पाक मीडिया के हवाले से कहा गया है कि सिंथिया ने पिछले 10 सालों में कई बार किसी डॉक्युमेंट्री निर्माण की बात कही लेकिन अब तक एक भी डॉक्युमेंट्री नहीं है. सिंथिया ने एक इंटरव्यू में कहा था कि 2010 में पाकिस्तान में बाढ़ के समय से वह यहां पाकिस्तानी अमेरिकियों के फंड पर यहां आई थीं.

पाकिस्तानी पत्रिका Thexpatt को दिए इंटरव्यू में सिंथिया ने कहा था​​ कि जब उनसे पूछा जाता है कि उन्होंने पाकिस्तान को क्यों चुना तो वह जवाब देती हैं कि पाकिस्तान ने उन्हें चुना. हालांकि, पाकिस्तान में एक वर्ग सिंथिया को 'पागल गोरी' कहकर उनकी पाकिस्तान में मौजूदगी पर शक करता है और सवाल उठाता रहा है कि इस महिला ने पाकिस्तान के सिस्टम और हाई सोसायटी में जगह कैसे बनाई? साथ ही इसे पाकिस्तान में कहीं भी घूमने की इजाज़त कैसे है क्योंकि यह आज़ादी सेना के इस्टैबलिशमेंट के उच्च स्तरीय क्लियरेंस के बाद ही मिलती है.

pakistan politics, pakistan military, pakistan ISI, pakistani american, benazir bhutto, पाकिस्तान राजनीति, पाकिस्तान सेना, बेनज़ीर भुट्टो, पाकिस्तानी अमेरिकी, पाकिस्तान आईएसआई
ट्विटर पर पोस्ट इस तस्वीर के साथ सिंथिया ने लिखा कि 2011 में उनका वीज़ा तब मंत्री रहमान मलिक ने मंज़ूर किया था.


क्या भारत के खिलाफ रही हैं सिंथिया?
सिंथिया के फेसबुक पेज की सक्रियता बताती है कि वह कश्मीर के मुद्दे पर भारत के खिलाफ लॉबी के प्रयास करती रही हैं. इमरान खान की पार्टी PTI से उसके संबंध ज़ाहिर रहे हैं. शक है कि सिंथिया सीआईए का कोई मोहरा हो सकती है. एक वर्ग सोचता है कि सिंथिया पाकिस्तान सेना का मोहरा है जो राजनीति में कुछ पार्टियों को धराशायी करने और किसी पार्टी की छवि बनाने के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है. विशेषज्ञों के मुताबिक सिंथिया की इस मुहिम से वास्तविक मुद्दों से पाकिस्तानी अवाम का ध्यान तो भटका ही है.

सेक्स और सियासत
पाकिस्तान में सिंथिया के आरोपों के बाद सियासत और सेक्स का नैरेटिव चर्चा में है. मानवाधिकार कार्यकर्ता मारवी सरमद के मुताबिक सिंथिया के आरोपों की गहन जांच होना चाहिए. लेकिन इन आरोपों के चलते सिंथिया के खिलाफ चल रही 'स्लट शेमिंग' और रेप की धमकियां बंद होना चाहिए. यह भी जांच होना चाहिए कि सिंथिया इतने अरसे तक चुप क्यों रहीं.

दूसरी तरफ, पाकिस्तान की सियासत में सेक्स और ब्लैकमेलिंग हमेशा रही है, ऐसा उल्लेख भी खबरों में हो रहा है. आखिर में आप ये जानिए कि सिंथिया के जिस ट्वीट से सारी कहानी शुरू हुई, वह किस ट्वीट के जवाब में लिखा गया था. ताज़ीन ट्विटर अकाउंट से ट्वीट किया गया था :

pakistan politics, pakistan military, pakistan ISI, pakistani american, benazir bhutto, पाकिस्तान राजनीति, पाकिस्तान सेना, बेनज़ीर भुट्टो, पाकिस्तानी अमेरिकी, पाकिस्तान आईएसआई
इस ट्वीट के जवाब से सिंथिया ने जो कहानी शुरू की, वह अब क्या रंग लाएगी, इसका इंतज़ार सभी को है.


"मलिक रियाज़ की बेटी का वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें वह अपने घर में गार्डों से दो महिलाओं का यौन शोषण करने को कह रही है और कोई जज इस पर कोई एक्शन नहीं ले रहा है, न पाकिस्तान में सरकार के कान पर जूं रेंग रही है, न ही इस पर टीवी पर कोई बहस है."

ये भी पढ़ें :-

UP में लग रही Truenat मशीन क्या है और कैसे फटाफट बता देती है कोरोना रिज़ल्ट?

जुलाई-अगस्त में क्या बच्चों को स्कूल भेजना आग से खेलना साबित होगा?
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज