क्या होती है वो 'मारण शक्ति', जिसके ज़िक्र से साध्वी प्रज्ञा ने मचाई सनसनी

News18Hindi
Updated: August 27, 2019, 6:29 PM IST
क्या होती है वो 'मारण शक्ति', जिसके ज़िक्र से साध्वी प्रज्ञा ने मचाई सनसनी
तंत्र विद्या में शत्रु नाश के लिए विधि बताई जाती है.

अपने बयानों को लेकर पहले भी चर्चा में रह चुकीं भाजपा सांसद प्रज्ञा ठाकुर (BJP MP Pragya Thakur) फिर इसलिए सुर्खियों में हैं क्योंकि उनका कहना है विपक्ष भाजपा नेताओं (BJP Leaders) के खिलाफ 'मारण शक्ति' का प्रयोग कर रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 27, 2019, 6:29 PM IST
  • Share this:
अपने अटपटे बयानों को लेकर चर्चा में रहने वाली भोपाल की सांसद (Bhopal MP) प्रज्ञा ठाकुर (Pragya Thakur) एक बार फिर ताज़ा बयान को लेकर चर्चा में हैं. असल में, भाजपा के दिग्गज नेता अरुण जेटली (Arun Jaitley) और मप्र के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर (Babulal Gaur) के निधन के बाद श्रद्धांजलि कार्यक्रम के मौके पर प्रज्ञा ने कहा कि विपक्ष 'मारण शक्ति' या 'मारक शक्ति' का प्रयोग कर रहा है इसलिए भाजपा नेताओं का एक के बाद एक निधन हो रहा है. हालांकि भाजपा ने प्रज्ञा के बयान पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी, लेकिन इस बयान के बाद से ही चर्चा ये है कि आखिर ये 'मारण शक्ति' (Tantric Power of Killing) होती क्या है, जिसका ज़िक्र प्रज्ञा ने किया.

ये भी पढ़ें : तो क्या नागालैंड का अलग झंडा, अलग संविधान होगा?

गौरतलब है कि पिछले कुछ समय में ही भाजपा के कई बड़े नेता जैसे मनोहर पर्रिकर, सुषमा स्वराज (Sushma Swaraj), अरुण जेटली और बाबूलाल गौर का निधन हुआ है. प्रज्ञा ने इन्हीं तमाम नेताओं की याद के सिलसिले में कहा था, 'मैं जब चुनाव (Lok Sabha Election) लड़ रही थी तब एक महाराज जी आए थे. उन्होंने कहा था कि बुरा समय चल रहा है. विपक्ष एक 'मारक शक्ति' का प्रयोग बीजेपी नेताओं के लिए कर रहा है.' हालांकि, बीजेपी सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने उन 'महाराज जी' के बारे में कुछ नहीं बताया. बहरहाल, जानिए कि इस 'मारण शक्ति' की व्याख्या किस हिसाब से क्या है.

ज़रूरी जानकारियों, सूचनाओं और दिलचस्प सवालों के जवाब देती और खबरों के लिए क्लिक करें नॉलेज@न्यूज़18 हिंदी

tantra mantra, indian tantra skill, tantra mantra killing, enemy killing tantra, enemy killing occult, तंत्र मंत्र, भारतीय तंत्र विद्या, तंत्र मंत्र से हत्या, शत्रु नाश तंत्र मंत्र, मारण शक्ति प्रयोग
अरुण जेटली और बाबूलाल गौर की श्रद्धांजलि सभा में भोपाल में नेताओं की मौजूदगी में सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने 'मारण शक्ति' वाला विवादास्पद बयान दिया.


क्या होती है 'मारण शक्ति'?
असल में, तंत्र मंत्र को विज्ञान बताने का दावा करने वाले और इस पर विश्वास करने वाले लोग इस शक्ति को संभव मानते हैं, जिसके ज़रिए दुश्मन का नाश किया जा सकता है. ऑल वर्ल्ड गायत्री परिवार (AWGP) के पोर्टल पर एक लेख के मुताबिक इस शक्ति का वैज्ञानिक आधार समझाया गया है. कहा गया है कि तंत्र ग्रंथों में मारण, मोहन व उच्चाटन जैसे प्रयोगों का वर्णन है. दुश्मन को नष्ट करने के लिए मारण प्रयोग किया जाता है. यह कई प्रकार का होता है और घात व कृत्या इसके परम प्रयोग हैं.
Loading...

कैसे होता है दुश्मन का नाश?
कुछ धारणाएं कहती हैं कि इस शक्ति के सही तांत्रिक प्रयोग से दुश्मन की जान ली जा सकती है, वहीं तंत्र मंत्र के ​कुछ विद्वान इसे सांकेतिक भी मानते हैं. वेबदुनिया के लेख के मुताबिक विधिपूर्वक अगर सही मंत्रोच्चार किया जाए तो शत्रुता यानी दुश्मन के मन से दुश्मनी की भावना का नाश होता है और इस तरह आपका दुश्मन खत्म हो जाता है.

क्या इसके कुछ खास नियम/शर्तें हैं?
बेशक. तंत्र मंत्र से जुड़े एक पोर्टल मंत्रशक्ति पर मारण शक्ति के प्रयोग से जुड़े कई नियमों को विस्तार से बताया गया है कि कब, कैसे और किस स्थिति में इसका प्रयोग करना चाहिए. वहीं, AWGP के अनुसार धर्म, नीति, मानवता और ईश्वरीय विधान की स्थिरता के लिए ऐसे प्रयोग पूरी तरह से वर्जित और अवांछनीय हैं. कहा गया है कि तंत्र विद्या के भारतीय तांत्रिकों ने इन प्रयोगों को निषेध घोषित कर इससे जुड़ी विधियों को गोपनीय रखा है क्योंकि इसके दुरुपयोग की आशंकाएं ज़्यादा होती हैं.



क्या मप्र में होते हैं ऐसे प्रयोग?
तंत्र मंत्र से जुड़ी पुस्तकें और साहित्य कहते हैं कि इस तरह की क्रिया या प्रयोग घर में नहीं किए जाने चाहिए. ये किसी गुप्त स्थान या श्मशान आदि निर्जन स्थान पर होने चाहिए. कहा जाता है कि तांत्रिक ऐसे प्रयोगों के लिए अक्सर देवी मंदिरों के आसपास की जगह चुनते हैं. पत्रिका की रपट की मानें तो मध्य प्रदेश में दतिया और नलखेड़ा दो स्थानों पर इस तरह 'मारक प्रयोग' किए जाते हैं. कहा जाता है कि दतिया स्थित पीताम्बरा पीठ असल में, शत्रु नाश की अधिष्ठात्री देवी का ही सिद्धस्थल है इसलिए राजसत्ता की आकांक्षा रखने वाले लोग अक्सर पीठ में देवी दर्शन करने आया करते हैं.

ये भी पढ़ें:

कौन थे 'मित्रा'? क्यों उनके नाम से चर्चित है चांद का एक हिस्सा?
जितना दिख रहा है क्या उससे भयानक है देश में जलसंकट? कैसे निपटा जाए?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 27, 2019, 6:06 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...