देश में कब-कब हुए अमोनिया रिसाव के बड़े हादसे और कितने गंभीर?

एक प्लांट से गैस रिसाव के लिए प्रतीकात्मक तस्वीर.

एक प्लांट से गैस रिसाव के लिए प्रतीकात्मक तस्वीर.

पूरी दुनिया के लिए दर्दनाक याद बनी भोपाल गैस त्रासदी (Bhopal Gas Tragedy) के समय भी पहले यही समझा गया था कि अमोनिया गैस रिसी लेकिन बाद में MIC रिसना पाया गया था. देखिए कि कैसे देश भर में अमोनिया गैस रिसने (Ammonia Gas Leakage) के हादसे इस साल भी होते रहे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 23, 2020, 10:12 AM IST
  • Share this:

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज (Prayagraj) के फूलपुर (Phulpur) स्थित इंडियन फार्मर्स फर्टिलाइजर कोऑपरेटिव लिमिटेड (IFFCO) में मंगलवार देर रात हुए बड़े हादसे में अमोनिया गैस रिसाव (Ammonia Gas Leak) की चपेट में आने से दो अधिकारियों की जान जाने और कई कर्मचारियों के बीमार होने की खबर के बीच आपको बताते हैं कि इस साल देश में कहां-कहां अमोनिया गैस रिसाव की बड़ी दुर्घटनाएं हुई हैं. आपको ताज्जुब हो सकता है कि इस साल तकरीबन एक दर्जन हादसे ऐसे हुए, जब अमोनिया गैस का रिसाव हुआ.

वास्तव में अमोनिया गैस रिसाव के हादसे आम तौर पर होते हैं और सिर्फ भारत ही नहीं बल्कि इंडोनेशिया, यूरोप और अमेरिका में भी ऐसी घटनाएं होती हैं. सामान्य तौर पर, अमोनिया के रिसाव से बड़ा नुकसान नहीं होता लेकिन ज़्यादा मात्रा में रिसाव की चपेट में आने से मौत तक हो जाती है. जानिए कि इस साल अमोनिया रिसाव ने कहां कितना कहर बरपाया.

ये भी पढ़ें :-

ब्रिटेन में वायरस बेकाबू है, क्या इस बीच 26 जनवरी को मुनासिब होगा "नमस्ते लंदन"?
क्या है ब्रिटेन में फैला कोरोना का नया घातक रूप, क्या वैक्सीन बेअसर होगी?

अमोनिया रिसाव टाइमलाइन

* 9 अक्टूबर को गोवा के मझगांव में कंकोलिम इंडस्ट्रियल एस्टेट में एक ​मछली प्रोसेसिंग प्लांट की कोल्ड स्टोरेज यूनिट में अमोनिया गैस रिसी थी. इस रिसाव की चपेट में आने से 22 साल के एक वर्कर की मौत हो गई थी. जबकि तीन वर्करों की हालत काफी खराब हो गई थी.



* 20-21 अगस्त को आंध्र प्रदेश के चित्तूर में अमोनिया गैस रिसाव की घटना हुई. कम से कम 14 लोगों को अस्पताल में भर्ती करने की नौबत आई जब पुटलापट्टू मंडल के बांदापल्ली में स्थित एक दूध डेयरी यूनिट में गैर रिसाव हुआ.

ये भी पढ़ें :-

आखिरी बार 1964 में कोई पीएम पहुंचे थे एएमयू, तब क्या संदेश गूंजा था?

1948 में पीएम की हैसियत से अलीगढ़ यूनिवर्सिटी पहुंचे नेहरू ने क्या बोला था?

ammonia gas danger, ammonia leak incidents, ammonia formula, ammonia solution, अमोनिया गैस रिसाव, गैस रिसाव दुर्घटना, अमोनिया कैसे बनता है, अमोनिया गैस से हानि
प्रयागराज के इफको प्लांट में गैस रिसाव की दुर्घटना हुई.

* 1 अगस्त को पटना के जनकपुर क्षेत्र में एक मैनुफैक्चरिंग फैक्ट्री में अमोनिया का रिसाव फैलने से तनाव फैला था. फैक्ट्री के एक गैस टैंक से रिसने वाली गैस को एनडीआरएफ टीम ने मौके पर पहुंचकर काबू कर लिया था.

* 27 जून को आंध्र के कुरनूल ज़िले के नांदियाल की एक प्राइवेट फैक्ट्री में गैस रिसाव से एक की मौत हो गई थी और 3 लोगों को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती किया गया था. उस वक्त इस रिसाव के केवल फैक्ट्री क्षेत्र में ही प्रभावी होने की बात कही गई थी.

ये भी पढ़ें :- क्या चांद पर सब्जी उगा सकेगा चीन? चांद से मिले नमूने क्या बताते हैं?

* 7 मई को विशाखापटनम के एक केमिकल प्लांट में अमोनिया रिसाव से कम से कम 11 लोगों की मौत की खबर ने हाहाकार जैसी स्थिति पैदा कर दी थी. इस दुर्घटना में 1000 से ज़्यादा लोगों के बीमार होने की खबरें आई थीं. जिस प्लांट में यह हादसा हुआ था, वह बड़ी दक्षिण कोरियाई पेट्रोकेमिकल कंपनी एलजी चेम के मालिकाना हक वाला था और इस हादसे पर दक्षिण कोरिया के राजदूत ने भी खेद जताया था.

* 19 फरवरी को हरियाणा के कुरुक्षेत्र से 20 किलोमीटर दूर शाहबाद मरकंडा में स्थित एक कोल्ड स्टोरेज यूनिट में गैस रिसाव की चपेट में कम से कम 45 लोग आए थे, जिनमें से कई को अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा था. बड़ा हादसा होने से इसलिए टल गया था ​क्योंकि रिसाव उस वक्त हुआ जब अधिकांश कर्मचारी डिनर के लिए यूनिट से बाहर गए थे.

ये भी पढ़ें :- कौन है जनरल झांग, जिसे भारत के खिलाफ खड़ी चीनी सेना की कमान मिली

* 2 फरवरी को उत्तर प्रदेश के नोएडा स्थित हल्दीराम बिल्डिंग में अमोनिया गैस लीक होने से 42 वर्षीय एक वर्कर की मौत हो गई थी और गैस रिसाव के असर को देखते हुए आसपास के इलाके से 300 लोगों को हटाया गया था. फौरन नेशनल डिसास्टर रिस्पॉंस फोर्स के फायरफाइटरों की मुस्तैदी से बड़ा हादसा होने से बाल-बाल बचा था.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज