होम /न्यूज /ज्ञान /

पाकिस्तान का एयरस्पेस खुलने से भारत को मिलेगी ये राहत

पाकिस्तान का एयरस्पेस खुलने से भारत को मिलेगी ये राहत

बताया जा रहा है कि हैदराबाद से रांची जाने वाली इंडिगो की फ्लाइट में एक यात्री की तबियत अचानक बिगड़ गई.

बताया जा रहा है कि हैदराबाद से रांची जाने वाली इंडिगो की फ्लाइट में एक यात्री की तबियत अचानक बिगड़ गई.

बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान ने अपने एयरस्पेस को बंद कर दिया था, जिसे अब दोबारा खोल दिया गया है. जानें इस वजह से पिछले कुछ महीनों में भारत को कितना नुकसान उठाना पड़ा.

    पाकिस्तान के बालाकोट में आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों पर भारत की तरफ से की गई एयर स्ट्राइक के बाद 26 फरवरी को पाकिस्तान ने अपने एयरस्पेस को बंद कर दिया था, जिसे अब खोलने के आदेश दिए जा चुके हैं. पाकिस्तान के एयरस्पेस बंद करने का मतलब यह था कि किसी और देश की इंटरनेशनल उड़ानें पाकिस्तान के रास्ते नहीं जा सकती थीं. आपके लिए यह जानना दिलचस्प हो सकता है कि महीनों बंद रहने के बाद पाकिस्तान के इस एयरस्पेस के खुलने से भारत को कैसे और कितनी राहत मिलेगी क्योंकि इन महीनों में भारत को बड़ा नुकसान हो चुका है.

    पढ़ें : क्या नील आर्मस्ट्रॉंग ने सच में चांद पर अज़ान सुनी थी? कबूल कर लिया था इस्लाम?

    पाकिस्तान की सिविल एविएशन अथॉरिटी ने एक नोटैम यानी हवाईकर्मियों को नोटिस जारी करते हुए एयरस्पेस को खोलने के निदेश दिए जो भारतीय समय के मुताबिक सोमवार देर रात सुबह 1 बजे से लागू हो गए. उड़ानों का ट्रैकिंग रिकॉर्ड रखने वाली वेबसाइट फ्लाइटराडार24 के मुताबिक पाकिस्तानी एयरस्पेस के करीब चार महीनों तक बंद रहने के कारण दिल्ली से यूरोप जाने-लौटने वाली कई फ्लाइटें दूसरे रास्ते से होकर गुज़रने पर मजबूर थीं.

    अब कम लगेगा समय और ईंधन
    पाकिस्तान का एयरस्पेस खुल जाने के बाद अब यूरोप संबंधी भारतीय उड़ानों को 70 से 80 मिनट तक कम समय लगेगा, क्योंकि पाकिस्तान का रास्ता बंद होने के कारण इन उड़ानों को लंबे रास्ते से होकर जाना पड़ रहा था. लंबे रास्ते के कारण ज़ाहिर तौर पर इन उड़ानों में ईंधन की खपत भी बढ़ गई थी, जो अब फिर कम होगी. ईंधन की खपत बढ़ जाने से​ पिछले चार महीनों में भारत को कितना नुकसान उठाना पड़ा.

    ज़रूरी जानकारियों, सूचनाओं और दिलचस्प सवालों के जवाब देती और खबरों के लिए क्लिक करें नॉलेज@न्यूज़18 हिंदी

    pakistan air route, india pakistan relations, india international flights, pakistan air space, balakot air strike result, पाकिस्तान हवाई रूट, भारत पाकिस्तान संबंध, भारत इंटरनेशल फ्लाइट, पाकिस्तान एयरस्पेस, बालाकोट एयर स्ट्राइक परिणाम
    पाकिस्तान का एयरस्पेस बंद रहने पर भारत आने-जाने वाली उड़ानों को लंबे रास्ते से गुज़रना पड़ा.


    कुल मिलाकर साढ़े पांच सौ करोड़ का झटका
    पाकिस्तान का एयरस्पेस प्रतिबंधित रहने की वजह से लंबे रास्ते से उड़ानों के गुज़रने के कारण भारत की हवाई उड़ानों में ईंधन की खपत बढ़ी और कुल नुकसान साढ़े पांच सौ करोड़ रुपये से भी ज़्यादा का रहा. केवल एयर इंडिया की उड़ानों के सिलसिले में ही 2 जुलाई तक 491 करोड़ रुपये का अतिरिक्त खर्च आया. इसके अलावा, 31 मई तक इंडिगो एयरलाइन को 25 करोड़ से ज़्यादा का नुकसान हुआ. इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट में बताए गए इन आंकड़ों के मुताबिक 20 जून तक स्पाइसजेट की उड़ानों में 30.73 करोड़ और गोएयर को 2 करोड़ रुपये से ज़्यादा का नुकसान हुआ.

    कौन सी उड़ानें कैसे हुईं प्रभावित?
    पूर्व-पश्चिम के बीच की उड़ानें सबसे ज़्यादा प्रभावित रहीं क्योंकि इन्हें पाकिस्तान के रास्ते होकर गुज़रना पड़ता था. इनमें यूरोप से उत्तर भारत के दिल्ली, लखनउ या अमृतसर पहुंचने वाली उड़ानों को गुजरात और महाराष्ट्र के रास्ते से आना-जाना पड़ा. इससे ईंधन के साथ ही 70 से 80 मिनट तक समय भी ज़्यादा लगा.

    इसके अलावा कुछ और असर भी पड़े जैसे एयर इंडिया की दिल्ली से शिकागो फ्लाइट को यूरोप में दोबारा ईंधन भरने के लिए रुकना पड़ा. दिल्ली से इस्तानबुल की इंडिगो की नॉनस्टॉप फ्लाइट्स को भी दोहा में दोबारा ईंधन के लिए स्टॉप लेना पड़ा. साथ ही, स्पाइसजेट की दिल्ली से काबुल फ्लाइट तो रद्द ही करना पड़ी, जो इस रूट पर भारत की इकलौती उड़ान भी थी. अब पाकिस्तान का एयरस्पेस खुलने से भारत से जाने-आने वाले यात्रियों और उड्डयन कंपनियों को राहत मिल सकेगी.

    यह भी पढ़ें-
    पूर्णिमा पर चंद्रग्रहण के वक्त क्यों लाल दिखता है चंद्रमा?
    क्यों गुमनाम है 200 आविष्कार और 40 पेटेंट हासिल करने वाला ये भारतीय वैज्ञानिक?

    Tags: Air india, Airstrike, Balakot, Civil aviation, India pakistan, Pakistan

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर