Home /News /knowledge /

मुंबई-पुणे के बीच साढ़े तीन घंटे का सफर 23 मिनट में ऐसे तय होगा

मुंबई-पुणे के बीच साढ़े तीन घंटे का सफर 23 मिनट में ऐसे तय होगा

मुंबई-पुणे हाइपरलूप प्रोजेक्ट को मंज़ूरी मिली. फाइल फोटो.

मुंबई-पुणे हाइपरलूप प्रोजेक्ट को मंज़ूरी मिली. फाइल फोटो.

हाइपरलूप प्रोजेक्ट को मंज़ूरी मिलने के बाद अब मुंबई और पुणे के बीच की दूरी मिनटों में तय करने का सपना सच हो सकेगा. इस बारे में हर ज़रूरी बात जानें कि ये सब कैसे संभव होगा और हाइपरलूप प्रोजेक्ट क्या है.

    मुंबई और पुणे के बीच का सफर अब 23 मिनट में होने का सपना पूरा हो सकेगा. महाराष्ट्र की राज्य सरकार ने मुंबई और पुणे के बीच एक अल्ट्रा फास्ट हाइपरलूप के प्रोजेक्ट को बुधवार को हरी झंडी दे दी है. मुख्यमंत्री के कार्यालय से जारी हुए बयान में ये भी कहा गया ​है कि राज्य की कैबिनेट ने अनुमति दे दी है कि ओरिजनल प्रोजेक्ट के प्रस्तावक रहे हाइपरलूप टेक्नोलॉजी और डीपी वर्ल्ड एफज़ेडई का एक संयुक्त कंज़ॉर्टियम बनाया जाएगा, जो इस प्रोजेक्ट को अंजाम तक लाने तक सक्रिय रहेगा.

    पढ़ें : कौन और कैसे हैं नए विप्रो प्रमुख रिशाद प्रेमजी

    मुंबई और पुणे के बीच की दूरी तय करने में आपको अभी जितना वक्त लगता है, उससे कई गुना कम वक्त में आपके लिए ये मुमकिन होगा, अगर इस हाइपरलूप प्रोजेक्ट को अंजाम तक लाया जा सका. पीटीआई की खबर के मुताबिक राज्य सरकार ने इस हाइपरलूप का प्रस्ताव मंज़ूर कर लिया है. क्या है ये हाइपरलूप जिससे घंटों का सफर मिनटों का रह जाएगा? इसके बारे में सब कुछ जानें.

    ज़रूरी जानकारियों, सूचनाओं और दिलचस्प सवालों के जवाब देती और खबरों के लिए क्लिक करें नॉलेज@न्यूज़18 हिंदी

    mumbai pune distance, mumbai pune traveling, mumbai pune train, mumbai pune super fast train, mumbai pune hyperloop project, मुंबई पुणे दूरी, मुंबई पुणे यात्रा, मुंबई पुणे ट्रेन, मुंबई पुणे सुपरफास्ट ट्रेन, मुंबई पुणे हाइपरलूप
    मुंबई और पुणे के बीच एक ट्यूब टनलनुमा रूट तैयार किया जाएगा.


    कैसे संभव होगा घंटों का सफर मिनटों में?
    मुंबई-पुणे हाइपरलूप एक अल्ट्रा मॉडर्न तकनीक वाला सुपरफास्ट परिवहन प्रोजेक्ट होगा, जिसके ज़रिए दोनों शहरों को जोड़ा जाएगा. यह प्रोजेक्ट जैसे ही पूरा होग, मुंबई और पुणे के बीच की करीब 200 किलोमीटर की दूरी तय करने में अंदाज़न सिर्फ 23 मिनट का समय लगेगा, जिसे तय करने में अभी ट्रेन से तीन से चार घंटे तक लगते हैं. ये संभव होगा क्योंकि हाइपरलूप ट्रेन मुंबई के बीकेसी यानी बांद्रा कुर्ला कॉम्प्लेक्स से शुरू होगी और पुणे के वाकड़ तक जाएगी, यानी करीब 117.5 किमी का सफर तय करेगी. ये ट्रेन 496 किमी प्रति घंटे की रफ्तार तक दौड़ सकेगी.

    कब तक सच होगा सपना और कैसे?
    एफडीआई के तहत इस पूरे प्रोजेक्ट के लिए 70 हज़ार करोड़ का निवेश होगा. चूंकि यह जनता से जुड़ा इन्फ्रा प्रोजेक्ट है इसलिए वर्जिन के अलावा दूसरी कंपनियां भी इसके लिए प्रस्ताव दे सकेंगी और ठेके दिए जाने की व्यवस्था होगी. हाइपरलूप प्रोजेक्ट जैसे ही शुरू होगा, तबसे करीब 7 साल का समय इसे तैयार होने में लगेगा. और जब इसका पायलट टेस्ट होगा, तब पुणे में पहली ट्रेन करीब 11.8 किमी की दूरी तय करेगी. दूसरे फेज़ में पुणे के वाकड़ से कुर्ला तक कनेक्टिविटी बनाए जाएगी.

    mumbai pune distance, mumbai pune traveling, mumbai pune train, mumbai pune super fast train, mumbai pune hyperloop project, मुंबई पुणे दूरी, मुंबई पुणे यात्रा, मुंबई पुणे ट्रेन, मुंबई पुणे सुपरफास्ट ट्रेन, मुंबई पुणे हाइपरलूप
    हाइपरलूप प्रोजेक्ट के बाद मुंबई पुणे के बीच सफर का समय काफी कम रह जाएगा.


    कबसे शुरू होगा ये प्रोजेक्ट?
    वर्जिन इस साल के आखिर से पहले फेज़ का काम शुरू कर सकती है और पहले फेज़ का काम 2023 तक पूरा होने के आसार हैं. हाइपरलूप ट्रेन के लिए एक सुरंगनुमा रास्ता बनाया जाएगा ताकि ट्रेन हवा का दबाव न होने की वजह से तेज़ रफ्तार से दौड़ सके. टेस्टिंग फेज़ के दौरान वर्जिन नवादा में 7 मील का एक ट्रैक बनाएगी और ये देखेगी कि ट्रेन 800 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ सकती या नहीं. वर्तमान में कंपनी 1640 फीट लंबे और 11 फीट ऊंचे ट्यूब में खाली ट्रेन दौड़ाकर देख रही है और अब तक 390 किमी प्रति घंटे की रफ्तार हासिल की जा चुकी है.

    ये भी पढ़ें:
    NMC बिल में क्या प्रावधान हैं? जिनका विरोध कर रहे हैं डॉक्टर
    24 साल पहले आज ही के दिन बजा था पहला मोबाइल फोन, ये हुई थी बातचीत

    Tags: Express, Maharashtra, Mumbai, Pune, Railway

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर