जानिए, उस देश को, जो चीन और PAK की नफरत के बीच करता आया भारत की मदद

जानिए, उस देश को, जो चीन और PAK की नफरत के बीच करता आया भारत की मदद
चीन से तनाव के बीच इजरायल लगातार भारत के मित्र देश की भूमिका में है- सांकेतिक फोटो (Photo-pixabay)

India-China Army Clash: चीन से तनाव के बीच इजरायल लगातार भारत के मित्र देश की भूमिका में है. पाकिस्तान से तो इसके रिश्ते बेहद खराब हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 31, 2020, 5:21 PM IST
  • Share this:
चीन ने एक बार फिर सीमा समझौते को तोड़ने हुए पूर्वी लद्दाख में अतिक्रमण करने की कोशिश (India-China LAC clashe) की. इससे पहले 15 जून को भी वो ऐसी कोशिश कर चुका है. इस बीच इजरायल लगातार भारत से मैत्री निभा रहा है. वो सबसे तेज सैन्य हथियारों की आपूर्ति भारत को कर रहा है. दूसरी ओर वो चीन के साथ-साथ उसके मित्र देश पाकिस्तान से भी खासी दूरी बरतता है. बता दें कि खुद पाकिस्तान भी इजरायल से खुलकर नफरत करता है. यहां तक कि उसके पासपोर्ट पर लिखा होता है- इजरायल के अलावा सभी देशों में मान्य.

मजबूत सैन्य शक्ति के पीछे इजरायल में कई बातें काम करती हैं. जैसे इजरायल में हर परिवार से एक शख्स सेना में जरूर शामिल होता है. सेना में जाने के लिए जेंडर से कोई फर्क नहीं पड़ता, यहां लड़कियों का सेना में जाना नॉर्मल है. इजरायल में महिलाओं को भी सेना की ट्रेनिंग लेना अनिवार्य है.

ये भी पढ़ें: क्या है पॉलीग्राफ टेस्ट, जो पकड़ सकता है रिया चक्रवर्ती का झूठ?




इस देश के पास अपना डिफेंस सिस्टम है. इजराइल किसी भी देश से अपने सैटेलाइट साझा नहीं करता. हालांकि भारत से उसकी काफी बड़ी डील हुई है, जिसमें सैन्य हथियार बनाने से लेकर उसके इस्तेमाल को लेकर भी साझेदारी है.

इजरायल का सबसे पवित्र स्थल जेरुसलम में है- सांकेतिक फोटो (Photo-pixabay)


इजरायल के संस्थापक और पहले प्रधानमंत्री डेविड बेन गुरीयन नास्तिक थे. इजरायल यहूदी देश है. यहां की अधिकारिक भाषा हिब्रू के साथ अरबी भी है. कई मुस्लिम देश इसके दुश्मन है. पाकिस्तान अपने नागरिकों को इजरायल जाने से मना करता है. सभी पाकिस्तानी पासपोर्ट पर साफ शब्दों में लिखा रहता है, यह पासपोर्ट इजरायल को छोड़कर दुनिया के सभी देशों के लिए मान्य है.

ये भी पढ़ें: दोस्त इजरायल भारत को देगा अत्याधुनिक तकनीक, चीन को किया इनकार   

इजरायल अब तक 7 बड़े युद्ध लड़ चुका है और हर बार जीता है. इजरायल की थल सेना, नौ सेना और वायु सेना के बीच काफी गहरे संबंध हैं. यानी सेना तीनों विंग एक दूसरे से हर जरूरी सूचना साझा करते हैं, और हर ऑपरेशन की जानकारी तीनों विंग के अफसरों को दी जाती है.

ये भी पढ़ें: यूरोप का वो मुल्क, जहां इंटरनेट फ्री होने के बाद भी नहीं है साइबर क्राइम  

इजरायली नोटों पर ब्रेल लिपि का इस्तेमाल किया जाता है. कृषि उत्पादों के मामले में इजराइल पूरी तरह आत्मनिर्भर है. पिछले 25 सालो में यहां कृषि उत्पादन में 7 गुणा बढ़ोतरी हुई. इस देश में जमीन की खासी कमी है, इसी समस्या से निजात पाने के लिए वहां लोगों ने वर्टिकल फार्मिंग का विचार अपनाया. इसके तहत दीवारों पर खेती की जाती है.

इजरायल में जमीन की कमी के कारण लोगों ने वर्टिकल फार्मिंग का तरीका अपनाया


वर्टिकल फार्मिंग के सरलतम रूप में दीवार पर ऐसी व्यवस्था की जाती है की पौधे अलग से छोटे-छोटे गमलों में लगाए जाते हैं और उन्हें व्यवास्थित तरीके से दीवार पर इस तरह से रख दिया जाता है कि वे गिर न सकें. इनकी सिंचाई के लिए खास तरह की ड्रॉप इरिगेशन (Drop Irrigation) की तरह की व्यवस्था होती है जिससे इन पौधों को नियंत्रित तरीके से पानी दिया जाता है और इससे पौधों को दी जानी वाली पानी की मात्रा तो नियंत्रित होती है, पानी की बचत भी बहुत बचत होती है.

ये भी पढ़ें: अमेरिका में आज तक क्यों किसी महिला को नहीं मिल सका राष्ट्रपति पद?    

इजरायल का सबसे पवित्र स्थल जेरुसलम में हैं. इज़रायल की राजधानी भी जेरुसलम ही है. यहां हर साल गॉड के नाम 1000 पत्र आते हैं. यह दुनिया के सबसे प्राचीन शहरों में से एक है. 18 से 26 साल के यहूदियों के लिए 10 दिन की इजरायल ट्रिप फ्री है. वैसे राजधानी जेरुसलम को दो बार तबाह किया जा चुका है. 23 दफा चारों तरफ से दुश्मन सेना द्वारा घेर लिया गया , 52 दफा आक्रमण हुए, 44 दफा कब्जे में लिया गया. इसके बाद भी ये देश हर बार विजेता रहा.

भारत के साथ भी इस देश के खास संबंध हैं. जब भारत के इंटेलिजेंस एजेंसी की नींव डली, तब भी इजरायल खुफिया एजेंसी मोसाद ने मदद की थी. बाद के समय में संबंध और गाढ़े होते गए. नब्बे के दशक के बाद से दोनों देश एक-दूसरे को सहयोगी राष्ट्र कहने लगे. इजरायल और भारत ने रक्षा सौदों के लिए डील की हुई है, जिसके तहत वो देश भारत में अत्याधुनिक हथियार बनाने की ट्रेनिंग और मदद दे रहा है. इजरायल की कई सारी कंपनियां भारत के साथ पार्टनर हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज