UN में ऐसे रहे भारत और पाकिस्तान के पिछले 5 एनकाउंटर

News18Hindi
Updated: September 12, 2019, 12:07 PM IST
UN में ऐसे रहे भारत और पाकिस्तान के पिछले 5 एनकाउंटर
पीएम मोदी और इमरान खान यूएन में आमने सामने होंगे.

UNHRC में भारत ने पाकिस्तान को करारा जवाब दे दिया है लेकिन इसी महीने पीएम मोदी (PM Modi) और इमरान खान (Imran Khan) एक बार फिर यूएन (UN) में आमने सामने होंगे. दोनों देशों के बीच इस बार कश्मीर (Kashmir) किस तरह गूंजेगा?

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 12, 2019, 12:07 PM IST
  • Share this:
स्विटजरलैंड स्थित जिनेवा (Geneva Meet) में संयुक्त राष्ट्र की मानवाधिकार परिषद (Human Rights Council) की बैठक में मंगलवार को भारत और पाकिस्तान आमने सामने रहे और पाकिस्तान ने कश्मीर मुद्दे (Kashmir Issue) पर भारत को घेरने की कोशिश की. भारत के करारे जवाबों से पाकिस्तान को फिर मुंह की खानी पड़ी. इस बैठक में भारत के विदेश मंत्रालय (Ministry of External Affairs) के दूतों ने भाग लिया लेकिन बड़ी रस्साकशी अभी बाकी है. आगामी 27 सितंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) संयुक्त राष्ट्र की साधारण सभा को संबोधित करेंगे और उनके बाद पाकिस्तानी पीएम इमरान खान.

ये भी पढ़ें : प्रदूषण और ग्लोबल वॉर्मिंग बढ़ाने में आप कितने भागीदार हैं, ऐसे नापें

यूएन की जनरल एसेंबली (UN General Assembly) में दोनों देशों के बीच हर साल कुछ न कुछ उठापटक होती रही है. इस बार जम्मू और कश्मीर (Jammu & Kashmir) राज्य के पुनर्गठन किए जाने के बाद से ही पाकिस्तान बौखलाया हुआ है और अब तक हर मंच पर भारत को घेरने की नाकाम कोशिशें कर चुका है. सिवाय चीन (China) के पाकिस्तान को किसी का साथ हासिल नहीं हुआ है और भारत ने दुनिया भर का समर्थन जुटाया है. इन हालात में यूएन की साधारण सभा में दोनों देशों के शीर्ष नेताओं (Top Leaders) का टकराना दिलचस्प होगा. इससे पहले जानें कि पिछले पांच सालों में इस मंच पर दोनों देशों के बीच क्या कुछ घट चुका है.

वर्ष 2014

उस साल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने साधारण सभा को संबोधित करते हुए कहा था, 'भारत अपने पड़ोसियों के साथ संबंध बेहतर करने का पक्षधर है. एक देश का भाग्य उसके पड़ोसियों से भी जुड़ा होता है इसलिए भारत विकास के लिए एक शांतिपूर्ण माहौल चाहता है. दोस्ती और आपसी सहयोग को बढ़ाना मेरी सरकार की प्राथमिकताओं में है'.

ज़रूरी जानकारियों, सूचनाओं और दिलचस्प सवालों के जवाब देती और खबरों के लिए क्लिक करें नॉलेज@न्यूज़18 हिंदी

pakistan at unhrc, pakistan to go unhrc, unhrc session live, unhrc meet on kashmir, unhrc meet with Pakistan, unhrc में पाकिस्तान, कश्मीर पर unhrc सम्मेलन, संयुक्त राष्ट्र संघ क्या है, इमरान खान नरेंद्र मोदी, यूएन में भारत पाकिस्तान
पीएम मोदी 2014 के बाद इस साल पहली बार यूएन की साधारण सभा को संबोधित कर सकते हैं.

Loading...

वहीं पाकिस्तान के तत्कालीन पीएम नवाज़ शरीफ ने कहा था 'कश्मीरियों की कई पुश्तें हिंसा और उनके मूलभूत अधिकारों के हनन के साये में गुज़र गईं. ये अंतर्राष्ट्रीय समुदाय की ज़िम्मेदारी है कि कश्मीरियों को हक मिले. हम कश्मीर के मुद्दे पर किसी परदे में नहीं छुप सकते और जम्मू कश्मीर के लोगों के दिल की बात सुनकर ही आगे बढ़ा जा सकता है'.

2015
उस साल भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने इस सभा को संबोधित करते हुए आतंकवाद के मुद्दे पर पाकिस्तान को शर्मसार किया था. सुषमा ने कहा था 'भारत के हिस्से के कश्मीर में पाकिस्तान की तरफ से लगातार आतंकवाद और गैरकानूनी हिंसा का माहौल जारी है. पाकिस्तान के चार सूत्रों की ज़रूरत नहीं है बल्कि सिर्फ एक सूत्र ही ज़रूरी है कि पाकिस्तान आतंकवाद खत्म करे और शांति से बैठकर बातचीत करे'. तब शरीफ ने वही राग अलापते हुए कहा था कि कश्मीरी बरसों से खौफ और हिंसा के साये में जी रहे हैं और उन्हें उस माहौल से आज़ादी मिलना चाहिए.

2016
उस साल नवाज़ शरीफ ने आतंकी बुरहान वानी की मौत के मुद्द को उठाते हुए भारत पर मानवाधिकारों के हनन का आरोप लगाया था और वानी की मौत को भारतीय सेना द्वारा की गई हत्या करार दिया था. इसे सिरे से खारिज करते हुए स्वराज ने कहा था 'पाकिस्तान के आरोप निराधार हैं. भारत की तरफ से मानवाधिकारों का कोई हनन नहीं किया जा रहा है, अलबत्ता पाकिस्तान सरकार अपने ही देश और बलूचिस्तान के लोगों के साथ बर्बर सलूक कर राज्य की दमनकारी नीतियों को उजागर कर रही है'.

2017
इस साल पाकिस्तानी प्रधानमंत्री शाहिद खाक़ान अब्बासी ने इस मंच से भारत पर कश्मीर में पैलेट गन के इस्तेमाल को मुद्दा बनाकर कश्मीर में भारत के कदमों की अंतर्राष्ट्रीय जांच की मांग की थी यानी इस बार भी मुद्दा कश्मीर में मानवाधिकारों के हनन का ही था. भारत की तरफ से इस बार स्वराज ने कुलभूषण जाधव की गिरफ्तारी और पाकिस्तान द्वारा उसे मौत की सज़ा दिए जाने के मुद्दे पर पाकिस्तान को कठघरे में खड़ा किया और पाकिस्तान को आतंक का सौदागर बताते हुए उसे 'टैरर फैक्टरी' करार दिया.

pakistan at unhrc, pakistan to go unhrc, unhrc session live, unhrc meet on kashmir, unhrc meet with Pakistan, unhrc में पाकिस्तान, कश्मीर पर unhrc सम्मेलन, संयुक्त राष्ट्र संघ क्या है, इमरान खान नरेंद्र मोदी, यूएन में भारत पाकिस्तान
लगातार चार सालों तक सुषमा स्वराज ने संयुक्त राष्ट्र में भारत का प्रतिनिधित्व किया था.


2018
पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह मेहमूद कुरैशी ने पेशावर स्कूल और मस्तुंग आतंकी हमले के लिए भारत को ज़िम्मेदार ठहराया और दावा किया कि कुलभूषण जाधव के खिलाफ उसके पास पर्याप्त सबूत थे. वहीं स्वराज ने फिर पाकिस्तान के आरोप खारिज करते हुए साफ कहा 'पाकिस्तान खुद आतंक का पोषक रहा है और भारत पर आतंकवाद के झूठे आरोप मढ़ रहा है'. पाकिस्तान को हत्यारों का प्रचारक और उत्पादक कहकर स्वराज ने मानवाधिकारों के हनन के आरोपों को फिर सिरे से खारिज किया था.



ये भी पढ़ें:


प्रदूषण और ग्लोबल वॉर्मिंग बढ़ाने में आप कितने भागीदार हैं, ऐसे नापें
क्या है UN की मानवाधिकार परिषद, जहां भारत को घेरने की कोशिश करेगा पाक

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पाकिस्तान से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 10, 2019, 9:17 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...