कितनी है जयललिता की कुल संपत्ति? जिसका हक भतीजे-भतीजी को मिला

कितनी है जयललिता की कुल संपत्ति? जिसका हक भतीजे-भतीजी को मिला
छह बार तमिलनाडु की मुख्यमंत्री रहीं जे जय​ललिता. फाइल फोटो.

113 करोड़ या 1000 करोड़ से ज़्यादा? कभी साड़ियों, कभी सैंडलों, कभी वाइन गिलासों को लेकर चर्चा में रहीं और कभी भ्रष्टाचार (Corruption) के आरोपों से घिरीं तमिलनाडु की पूर्व सीएम जयललिता (Jayalalitha) की चल अचल संपत्ति की कुल मार्केट वैल्यू कितनी है? जानिए कि क्यों इस पहेली को समझना वाकई बेहद माथापच्ची का काम है.

  • Share this:
तमिलनाडु (Tamil Nadu) की पूर्व मुख्यमंत्री जे जयललि​ता (Ex CM Jayalalithaa) की कुल संपत्ति के सिलसिले में ताज़ा खबरों में कहा गया है कि मद्रास हाईकोर्ट (Madras High Court) ने जयललिता की 900 करोड़ से ज़्यादा की चल अचल संपत्ति का वारिस उनके भतीजे और भतीजी को माना है. लेकिन, जयललिता की कुल संपत्ति (Total Property) कितनी है? यह शायद हमेशा एक रहस्य बना रहेगा. जानिए कि क्यों ऐसा कहा जा सकता है कि जयललिता की कुल संपत्ति को जानने व उसकी कीमत (Market Value) समझने के लिए एक पूरी ज़िंदगी भी कम पड़ सकती है.

कोर्ट में प्रस्तुत नहीं हो सकी कुल कीमत
छह बार तमिलनाडु की मुख्यमंत्री चुनी गईं जयललिता की कुल संपत्ति को लेकर मद्रास हाईकोर्ट में दावेदार इस संपत्ति की कुल कीमत सबूतों के साथ प्रस्तुत नहीं कर सके. जयललिता के कानूनी वारिस माने गए भतीजे भतीजी जे दीपक और जे दीपा ने 188 करोड़ रुपए की संपत्ति का दावा किया, जबकि एआईएडीएमके के सदस्यों ने जयललिता की 913.14 करोड़ रुपए की कुल संपत्ति पर प्रशासन हासिल करने के लिए दावा किया. सुनवाई के दौरान यह भी कहा गया कि इस संपत्ति की कुल कीमत 1 हज़ार करोड़ से ज़्यादा भी हो सकती है.

कुल संपत्ति पर क्यों है रहस्य?
अस्ल में, कोर्ट में जो दावे प्रस्तुत किए गए, टीओआई की रिपोर्ट के मुताबिक ये आंकड़े सिर्फ उस संपत्ति के थे, जो 1991 से 1996 के दौरान जयललिता की संपत्ति से जुड़े थे. इसके बाद के 25 सालों में चल अचल प्रॉपर्टी कितनी बढ़ी, इसके बारे में सिर्फ अंदाज़े हैं. यह भी जानिए कि 1996 के बाद तीन बार और जयललिता सीएम रही थीं.



jayalalitha total property, jayalalitha property issue, jayalalitha total assets, jayalalitha jewellery, jayalalitha corruption case, jayalalitha property heirs, madras high court, jayalalitha court case, जयललिता कुल संपत्ति, जयललिता प्रॉपर्टी

वारिसों के सामने खड़ी है मुश्किल
कोर्ट के फैसले के बाद दीपा और दीपक को जयललिता की प्रॉपर्टी पर क्लेम कर उसे अपने कब्ज़े में लेना है, लेकिन जय​ललिता की कुल प्रॉपर्टी को समझना उनके लिए बेहद मुश्किल काम साबित हो रहा है. आंध्रविशेष की रिपोर्ट की मानें तो दूसरी उलझन यह भी है कि जिस प्रॉपर्टी पर दीपा और दीपक दावा नहीं करेंगे, उस पर राज्य सरकार का अधिकार हो जाएगा.

क्यों मुश्किल है कुल प्रॉपर्टी को समझना?
14 साल से ज़्यादा समय तक तमिलनाडु की मुख्यमंत्री रहने वाली जय​ललिता की कुल प्रॉपर्टी को समझने के दो ही तरीके हैं :
1. निगरानी और भ्रष्टाचार निरोधी संचालनालय ने जय​ललिता के खिलाफ आय के मुकाबले असंगत संपत्ति का मामला दर्ज कर जांच की थी और उस समय 66.65 करोड़ रुपए की संपत्ति पर सवालिया निशान लगाया था. तब डायरेक्टोरेट ने जयललिता की प्रॉपर्टीज़ की लिस्ट तैयार की थी.
2. जय​ललिता ने कई चुनावों के दौरान जो घोषणा पत्र भरे थे, उनमें अपनी संपत्तियों का जो ब्यारो खुद उन्होंने दिया था.

लेकिन, यहां मुश्किल यह है कि जयललिता की घोषित संपत्तियों में क्या वो संपत्तियां शामिल हैं, जो उन्होंने घोषित नहीं की थीं? जानिए कि क्या है ये पूरा माजरा.

जयललि​ता के एफिडेविट का ब्योरा
साल 1987 तक जयललिता ने अपनी कुल संपत्ति 7.5 लाख रुपए तक की घोषित की थी. इसके अलावा ज्वैलरी और 1 लाख रुपए कैश अलग था. 1991 में उन्होंने घोषणा की कि 52 प्रॉपर्टी समेत कुल संपत्ति 2.02 करोड़ रुपए थी. 1996 में जब भ्रष्टाचार के आरोप उन पर लगे हुए थे, तब उन्होंने 9.34 करोड़ रुपए की संपत्ति घोषित की थी. कर्ज, किराये व ब्याज से आय, कृषि से आय, हायर व ब्रोकरेज की रकम अलग से बताई थी. साथ ही, सीएम रहते हुए एक रुपए प्रतिदिन के हिसाब से 27 महीनों की सैलरी भी इस घोषणा में बताई गई थी.

संपत्ति लगातार बढ़ी और 2011 में जयललिता ने 51.4 करोड़ रुपए और 2016 में 113.73 करोड़ रुपए की कुल संपत्ति घोषित की. इसके अलावा, उन्होंने यह भी कहा कि ज़ब्त की जा चुकी उनकी 21,280 ग्राम से ज़्यादा की ज्वैलरी इस संपत्ति में शामिल नहीं थी.


कोडनाड एस्टेट की कीमत
गर्मियां बिताने के लिए जयललिता के पसंदीदा रिट्रीट कोडनाड एस्टेट की कीमत समझना बेहद मुश्किल है. कथित तौर पर नीलगिरी ज़िले में स्थित 900 एकड़ से ज़्यादा क्षेत्र में फैले इस एस्टेट को 1992 में जयललिता ने खरीदा था. तबसे अब तक इस टी एस्टेट का क्षेत्र बहुत बढ़ चुकने की खबरें भी हैं. ताज़ा मार्केट वैल्यू देखें तो एक करोड़ रुपए प्रति एकड़ की दर यहां लागू है. इसके दाखिल खारिज स्थिति को लेकर कई स्थितियां स्पष्ट नहीं हैं.

jayalalitha total property, jayalalitha property issue, jayalalitha total assets, jayalalitha jewellery, jayalalitha corruption case, jayalalitha property heirs, madras high court, jayalalitha court case, जयललिता कुल संपत्ति, जयललिता प्रॉपर्टी
जयललिता की संपत्ति को लेकर उनकी मृत्यु के बाद से विवाद की स्थिति रही है. फाइल फोटो.


32 कंपनियों को लेकर भी संशय
भ्रष्टाचार के केसों में फंसी शशिकला और अन्य सहयोगियों के साथ मिलकर जयललिता ने 1991 से ही कई कंपनियां शुरू की थीं और इन 32 कंपनियों का क्या हुआ? इनका क्या स्टेटस और कीमत है? टीओआई की रिपोर्ट कहती है कि इसके बारे में भी कुछ पता नहीं चलता है.

और ज्वैलरी की कीमत भी है अहम
ज्वैलरी को लेकर पूरे देश में एक समय चर्चित रहीं जयललिता की सोने की ज्वैलरी की कीमत 1996 में साढ़े 5 करोड़ रुपए से ज़्यादा थी. साथ ही, चांदी, ​एफडी और अन्य शेयरों की कीमत तब 4 करोड़ रुपए तक थी. इस संपत्ति को हासिल करने के लिए भी दीपा और दीपक कोशिश कर रहे हैं, जो कर्नाटक सरकार ने ज़ब्त की हुई थी.

जयललिता के कई कंपनियों में कई किस्म के रोल रहे और कई कंपनियां उन्होंने खुद शुरू की थीं या करवाई थीं. लेकिन, इस बारे में कभी पूरी तरह खुलासे नहीं हुए इसलिए ये कहा जाता है कि जयललिता की कुल संपत्ति एक रहस्य ही बनी रहेगी.

ये भी पढ़ें :-

कैसे पाकिस्तान में पनप रहे हैं भारत आने वाले टिड्डियों के दल?

देश में लू के पीछे पछुआ हवाओं और चक्रवात अम्फान का हाथ है?
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading