एलओसी: क्या है पाकिस्तानी बॉर्डर एक्शन टीम? जिसे भारतीय सेना ने मार गिराया

भारतीय सेना ने पाकिस्तान की घुसपैठ की जिस कोशिश को नाकाम करते हुए कश्मीर में सीमा पर पांच से सात घुसपैठियों को मार गिराया, वो पाकिस्तान की बॉर्डर एक्शन टीम से ताल्लुक रखते थे. जानिए क्या है ये टीम 'बैट' और क्या हैं इसके नापाक इरादे.

News18Hindi
Updated: August 4, 2019, 10:57 PM IST
एलओसी: क्या है पाकिस्तानी बॉर्डर एक्शन टीम? जिसे भारतीय सेना ने मार गिराया
प्रतीकात्मक तस्वीर.
News18Hindi
Updated: August 4, 2019, 10:57 PM IST
इस सप्ताह की बड़ी खबर यह रही कि भारतीय सेना कश्मीर में एलओसी के पास केरन सेक्टर में पाकिस्तानी सेना की बैट यानी बॉर्डर एक्शन टीम के पांच से सात सदस्यों को मार गिराया. मारे गए लोग पाकिस्तान के स्पेशल सर्विसेज़ ग्रुप यानी एसएसजी के सदस्य थे या फिर आतंकी, इस बारे में फिलहाल जांच जारी है. लेकिन, इस खबर के बाद आपकी दिलचस्पी इस बात में हो सकती है कि आखिर ये बैट है क्या. पाकिस्तान की सेना में बैट नाम की इस टीम के बारे में वो सब बातें जानिए, जो इस वक्त तक सामने आ चुकी हैं.

पढ़ें : क्या हैं खतरनाक और प्रतिबंधित क्लस्टर बम? जिन्हें लेकर पाकिस्तान ने बोला झूठ

अस्ल में, 778 किमी लंबी भारत-पाकिस्तान सीमा पर हमला करने के लिए ये पाकिस्तान की एक खास रणनीति है, जिसके तहत बैट हमलों को अंजाम देती है. इस रणनीति के तहत पहले पा​क सेना भारतीय सीमा की जगहों को चिह्नित करती है, जहां हमला आसानी से किया जा सकता है. फिर, भारतीय सेना की पेट्रोलिंग का पैटर्न और जवानों की तैनाती की लोकेशन समझने के लिए बैट के ज़रिए हमले को अंजाम दिया जाता है. टीओआई की रिपोर्ट के मुताबिक़ बैट ऐसी टीम है, जिसमें पाक सेना के छह से सात सैनिक कुछ आतंकियों के साथ शामिल होते हैं. बैट के बारे में और विस्तार से जानें.

घुसपैठ के इरादे से बनी टीम

पाकिस्तान सेना इस तरह के हमले को इसलिए अंजाम देती है ताकि गोलीबारी का फायदा उठाकर घुसपैठियों को भारत की सीमा के अंदर पहुंचा सके. बैट की इस तरह की स्ट्राइक में पाक सेना के एसएसजी के कमांडो शामिल होते हैं, जिन्हें ड्रेस की वजह से ब्लैक कमांडो भी कहा जाता है. 1999 में कारगिल से लगी एलओसी को पार कर घुसपैठ करने और भारतीय सीमा में मज़बूत गढ़ बनाने के मकसद से इस तरह की पहली घुसपैठ हुई थी.

ज़रूरी जानकारियों, सूचनाओं और दिलचस्प सवालों के जवाब देती और खबरों के लिए क्लिक करें नॉलेज@न्यूज़18 हिंदी

बैट अटैक 2017 में हुआ था चर्चित
Loading...

पुंछ में कृष्णा घाटी सेक्टर में तैनात दो भारतीय जवानों के सिर काटने की जो घटना मई 2017 में हुई थी, उस हमले को अंजाम देने के पीछे बैट का ही हाथ था. पाकिस्तानी सेना के कवर हमले की आड़ में बैट ने जवानों के सिर काटे थे, जिसे बाद में बर्बरता करार दिया गया था और सीमा पर तनाव बेहद बढ़ गया था. इससे पहले भी 2013 में बैट ने ही भारत के लांस नायक हेमराज को मार डाला था और शव को विक्षत कर दिया था.

पिछले दो सालों की रणनीति
बैट के ज़रिए हमलों और घुसपैठ को बढ़ावा देने की रणनीति पर पाकिस्तान लगातार काम कर रहा है. पिछले दो सालों में पाकिस्तान ने बैट के ज़रिए भारतीय सीमा में घुसपैठ के ज़रिए भारतीय कश्मीर में आतंकियों को भेजने की आधा दर्जन से ज़्यादा कोशिशें की हैं. ताज़ा हमले को भारतीय सेना ने नाकाम करते हुए बैट के पांच से सात घुसपैठियों को मार गिराया है, जिसके बाद से सीमा पर चौकसी बढ़ गई है और पाकिस्तान की तरफ से क्लस्टर बमबारी का आरोप भारत पर लगाया गया है, जिसे भारत ने बेबुनियाद और छल करार दिया है.

ये भी पढ़ें:
ममता के खेवैया बने 'पीके' ने किस-किसकी नैया लगाई है पार?
बारिश से आख़िर क्यों बार-बार मुंबई के सामने खड़ी होती है आफ़त?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पाकिस्तान से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 4, 2019, 8:27 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...