लाइव टीवी

हां ये सच है! ट्विटर के ज़रिए ऐसे की गई 9 लोगों की हत्या

Bhavesh Saxena | News18Hindi
Updated: October 10, 2019, 6:20 PM IST
हां ये सच है! ट्विटर के ज़रिए ऐसे की गई 9 लोगों की हत्या
पकड़े जाने के बाद ट्विटर किलर की कई जांचें हुईं और उसे मनोरोगी नहीं माना गया.

ट्विटर (Twitter) पर खुद को खुदकुशी एक्सपर्ट (Suicide Expert) बताने वाले 27 वर्षीय सीरियल किलर (Serial Killer) की चौंकाती कहानी, जिसके फ्लैट यानी हॉरर हाउस पर जब दबिश दी गई तो पुलिस भी कांप गई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 10, 2019, 6:20 PM IST
  • Share this:
एक खतरनाक हत्यारे (Brutal Murderer) की करतूत का शायद कभी पता नहीं चलता अगर उसके हाथों मारी गई 23 साल की एक लड़की के भाई ने अपनी बहन के ट्विटर अकाउंट (Twitter Account) को हैक नहीं किया होता. इस लड़के ने अपनी बहन का ट्विटर अकाउंट हैक (Twitter Hacking) किया तो एक शख़्स के साथ चैट के बारे में पता चला और उसने पुलिस को खबर दी. पुलिस को पता चला कि उस शख़्स के दो ट्विटर अकाउंट थे जिनमें से एक वह हैंगिंग प्रो (Hanging Pro) के नाम से यूज़ करता था. इन डिटेल्स के आधार पर उसके फ्लैट पर पुलिस पहुंची तो सन्न रह गई.

ये भी पढ़ें : 'कौन बनेगा लखपति' क्यों बन गया 'कौन बनेगा करोड़पति'?

फ्लैट में एक अजीब गंध थी, जिससे चक्कर आने लगते थे. इस फ्लैट में बहुत सी डरावनी चीज़ें थीं और किसी तरह जब फ्लैट की तलाशी (Search Operation) ली गई तो लाशों की हड्डियों के 240 टुकड़े अलग अलग बक्सों में रखे हुए (Chopped Bodies) पाए गए. इस मकान को हॉरर हाउस (Horror House) कहा जाने लगा जहां 15 से 23 साल की उम्र की 8 लड़कियों और एक लड़के की लाशों के टुकड़े बरामद हुए थे. अब इस कातिल को लेकर सवाल उठे कि इतने भयानक कत्ल कैसे हुए? जानें कि उ​से ट्विटर किलर (Twitter Killer) और सोशल मीडिया (Social Media) किलर क्यों कहा जाने लगा?

ज़रूरी जानकारियों, सूचनाओं और दिलचस्प सवालों के जवाब देती और खबरों के लिए क्लिक करें नॉलेज@न्यूज़18 हिंदी

ट्विटर कैसे बना था हथियार?
'मैं सब कुछ भूल जाना चाहता हूं. मैं गायब हो जाना चाहता हूं.' अगस्त 2017 में अपने ट्विटर पर इस तरह की पोस्ट लिखने वाला यह शख़्स शिराइशी था. असल में उसका मतलब खुदकुशी करने से था. उसका यह पोस्ट पढ़ने के बाद एक शख्स ने उससे कॉंटैक्ट किया जो खुद भी आत्महत्या करना चाहता था. शिराइशी ने उसे अपने फ्लैट पर आने को कहा. जापान की राजधानी टोक्यो के ज़ामा स्थित इस छोटे से फ्लैट पर जब वह शख्स पहुंचा तो शिराइशी ने उसका खून कर दिया.

serial killer, japan serial killer, social media, brutal murder, twitter hacking, सीरियल किलर, जापान सीरियल किलर, सोशल मीडिया, खूंखार हत्यारा, ट्विटर हैकिंग
इस ट्विटर किलर के दो ट्विटर हैंडल थे, जिनमें से इस तस्वीर के साथ एक का नाम हैंगिंग प्रो था.

Loading...

फिर सितंबर में शिराइशी ने ट्विटर पर लिखा - अगर कोई ज़िंदगी के ऐसे मोड़ पर पहुंच गया है और आगे रास्ता नहीं है तो खुदकुशी करने में मैं आपकी मदद कर सकता हूं. शिराइशी ने खुद को सुसाइड एक्सपर्ट बताया और सितंबर में चार ऐसे लोग मिले जो खुदकुशी करना चाहते थे. एक एक कर चारों को उसने अपने फ्लैट पर बुलाया और बेदर्दी से कत्ल कर दिया. इसी तरह अगले महीने अक्टूबर में भी उसने चार और शिकार किए.

खुदकुशी एक्सपर्ट से कॉंटैक्ट करते थे लोग
उसके ट्विटर अकाउंट पर इस तरह के मैसेज पढ़ने के बाद जब खुदकुशी करने के इच्छुक शिराइशी से संपर्क करते थे तो वह उनसे कहता था कि मुझे भी खुदकुशी करना है, चलो साथ मरते हैं. नौ कत्ल कर चुका शिराइशी कत्ल को लेकर एक फैंटेसी की दुनिया रखता था. पहले सेक्स वर्कर के तौर पर काम कर चुके इस कातिल ने हर लाश को छोटे छोटे टुकड़ों में काटा और अपने छोटे से फ्लैट में इन टुकड़ों को आठ बक्सों में बंद करके रखा था.

मानसिक बीमार नहीं था कातिल
पुलिस के छापे के बाद अगले पांच महीनों तक सीरियल किलर ताकाहीरो शिराइशी की मनोवैज्ञानिक जांच चलती रही और साइकायट्रिस्ट की रिपोर्ट में कहा गया कि उसने ये कत्ल किसी बीमारी के चलते नहीं बल्कि पूरे होश में किए हैं और उस पर कानूनी मुकदमा चलाया जा सकता है. इस रिपोर्ट के आने के बाद हाल में शिराइशी के खिलाफ चार्जशीट पेश की गई है. ऑर्गेनाइज़ेशन फॉर इकोनॉमिक कॉपरेशन एंड डेवलपमेंट की एक रिपोर्ट के मुताबिक दुनिया में खुदकुशी के मामले में जापान सबसे आगे है.

ये भी पढ़ें:

'लिस्बन गांधी' नाम से मशहूर है पुर्तगाली PM बनने जा रहा गोवा का ये 'ब्राह्मण'
क्यों डेढ़ लाख रुपये किलो बिकते हैं मछली के ये अंडे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 10, 2019, 5:35 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...