जेठमलानी के 10 खास केस- कब हुए कामयाब और कब नाकाम?

देश के चर्चित और हाई प्रोफाइल वकीलों (High Profile Lawyer) में शुमार राम जेठमलानी (Ram Jethmalani) वकील के तौर पर चर्चा में भी रहे और कभी विवादों में भी. उन 10 खास केसों के बारे में जानें, जिनमें जेठमलानी ने पैरवी की थी.

News18Hindi
Updated: September 8, 2019, 1:17 PM IST
जेठमलानी के 10 खास केस- कब हुए कामयाब और कब नाकाम?
हमेशा अपनी फीस को लेकर चर्चा में रहने वाले जेठमलानी ने मुश्किल से शुरू किया था करियर
News18Hindi
Updated: September 8, 2019, 1:17 PM IST
नई दिल्ली. प्रतिष्ठित वकील रहे राम जेठमलानी (Ram Jethmalani) के निधन की खबर के बाद उन्हें श्रद्धंजलि देने के साथ ही उनकी यादों को ताज़ा करने का सिलसिला शुरू हो गया है. सांसद (MP) और मंत्री (Minister) तक रह चुके जेठमलानी सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) और हाई कोर्ट (High Court) में हाई प्रोफाइल केसों में अपनी पैरवी के लिए ही जाने जाते रहे. उनके लड़े कई मुकदमे चर्चित (Famous Cases) भी रहे और उनकी शोहरत की वजह भी बने. देश के कुछ चर्चित मुकदमों के बारे में जानिए, जिनमें राम जेठमलानी ने पैरवी की थी.

ये भी पढ़ें : आपको हैरान कर देंगी चिदंबरम से जुड़ीं ये 10 बातें

इससे पहले गौरतलब है कि जेठमलानी के बेटे महेश के हवाले से समाचार एजेंसी पीटीआई ने बताया कि जेठमलानी की तबीयत कुछ महीनों से ठीक नहीं थी. उन्होंने नई दिल्ली (New Delhi) स्थित अपने घर में सुबह पौने आठ बजे अंतिम सांस ली. ये भी एक तथ्य है कि अगले हफ्ते 14 सितंबर को ही राम जेठमलानी का 96वां जन्मदिन (Ram Jethmalani Birth Day) आने वाला था. बहरहाल, अपनी भारी भरकम फीस के लिए भी चर्चित रहे राम जेठमलानी के कुछ यादगार केसों के बारे में जानें.

ज़रूरी जानकारियों, सूचनाओं और दिलचस्प सवालों के जवाब देती और खबरों के लिए क्लिक करें नॉलेज@न्यूज़18 हिंदी

नानावटी बनाम महाराष्ट्र सरकार केस
साल 1959 को ये केस बेहद चर्चित रहा था, जिस पर एक से ज़्यादा फिल्में बनीं. नेवी अफसर माणिकशॉ नानावटी ने अपनी पत्नी के प्रेमी को गोली मार दी थी. इसके बाद उन्होंने खुद को सरेंडर कर दिया था. वो तीन साल जेल में रहे और आखिरकार जेठमलानी ने उनका केस लड़कर उन्हें रिहा करा लिया था.

हाजी मस्तान केस
Loading...

60 और 70 के दशक में मुंबई अंडरवर्ल्ड के डॉन के तौर पर हाजी मस्तान कुख्यात था. मस्तान पर तस्करी के कई मामलों में मुकदमे दायर हुए थे. तस्करी के ऐसे ही एक मामले में जेठमलानी ने मस्तान के बचाव के वकील के तौर पर अदालत में पैरवी की थी.

ram jethmalani age, ram jethmalani fees, ram jethmalani salary, ram jethmalani cases, who is ram jethmalani, राम जेठमलानी उम्र, राम जेठमलानी सैलरी, राम जेठमलानी कौन है, राम जेठमलानी फीस, राम जेठमलानी केस

सतवंत सिंह और बेअंत सिंह केस
पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के अंगरक्षकों सतवंत सिंह और बेअंत सिंह पर सिख दंगों के बाद इंदिरा गांधी की हत्या का आरोप था. राम जेठमलानी ने दोनों को बचाने के लिए केस लड़ा था. जेठमलानी इस केस में नाकाम भी रहे थे और ये केस लड़ने के कारण जेठमलानी की आलोचना भी हुई थी.

हर्षद मेहता स्टॉक मार्केट स्कैम
साल 1992 में स्टॉक मार्केट का हाई प्रोफाइल घोटाला सामने आया था, जिसमें मुख्य आरोप हर्षद मेहता था. इस केस में मेहता और दूसरे मुख्य आरोपी केतन पारेख के बचाव में जेठमलानी ने अदालत में केस लड़ा था.

राजीव गांधी हत्या केस
1990 के दशक में मद्रास हाईकोर्ट में राजीव गांधी के हत्यारों के खिलाफ मुकदमा बेहद चर्चित रहा था. इस केस में आरोपियों की तरफ से वकील के तौर पर पैरवी करते हुए जेठमलानी ने फांसी की सज़ा को उम्रक़ैद में तब्दील कराया था.

हवाला स्कैम
1990 के दशक में हवाला घोटाले में कई बड़े राजनीतिकों और नौकरशाहों पर गंभीर भ्रष्टाचार के आरोप लगे थे और यह मामला देखते ही देखते हाई प्रोफाइल हो गया था. इस घोटाले में वरिष्ठ भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी भी आरोपों के दायरे में आए थे और तब उन्होंने लोकसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था. जेठमलानी ने आडवाणी की ओर से केस लड़ा था.

अफज़ल गुरु केस
संसद पर हमले के आरोपी कश्मीरी आतंकी अफज़ल गुरु का केस उस फेहरिस्त में है, जिनमें जेठमलानी को कामयाबी नहीं मिली थी. अफज़ल को अदालत ने फांसी की सज़ा दी थी और इस सज़ा में रियायत बरतने के लिए जेठमलानी ने पैरवी की थी लेकिन यहां उन्हें कामयाबी नहीं मिली थी.

ram jethmalani age, ram jethmalani fees, ram jethmalani salary, ram jethmalani cases, who is ram jethmalani, राम जेठमलानी उम्र, राम जेठमलानी सैलरी, राम जेठमलानी कौन है, राम जेठमलानी फीस, राम जेठमलानी केस
देश के कई हाई प्रोफाइल केसों में पैरवी करने वाले जेठमलानी राजनीति में भी सक्रिय रहे थे.


जेसिका लाल मर्डर केस
दिल्ली के इस हाई प्रोफाइल मर्डर केस में एक राजनेता का बेटा मुख्य आरोपी था और इसी वजह से यह हाई प्रोफाइल केस लगातार सुर्खियों और चर्चा में रहा था. जेठमलानी ने इस केस में हत्या के आरोपी आरोपी मनु शर्मा के बचाव में पैरवी की थी. जेठमलानी को अपने क्लाइंट को बचाने में शुरूआती कामयाबी तो मिली लेकिन आखिरकार शर्मा को उम्र कैद की सज़ा हुई थी.

2जी स्कैम केस
यूपीए 2 के कार्यकाल में सामने आया 2जी घोटाला देश के उस वक्त तक के सबसे बड़े घोटालों में शुमार था और बेहद हाई प्रोफाइल होने के साथ ही सबसे बड़ी खबर बना रहा था. इस केस में जेठमलानी ने आरोपी और डीएमके नेता करुणानिधि की बेटी कनिमोझी के बचाव में पैरवी की थी. 2जी का मामला अभी अदालत में चल रहा है.

आसाराम बापू मामला
यौन उत्पीड़न ये जुड़े अलग-अलग मामलों में आरोपी के तौर पर आसाराम बापू फिलहाल जेल में हैं. इस केस में आसाराम के बचाव में जेठमलानी ने ही अब तक केस लड़ा और यह केस भी अब तक अदलत में है और अब जेठमलानी के निधन के बाद इस केस में बचाव के वकील को लेकर आगे और खबरें आएंगी.

ये भी पढ़ें:
चांद की सतह छूना सबसे मुश्किल, लैंडिंग में ही क्यों फेल होते हैं मून मिशन?
चंद्रयान 2 की तरह इजरायल के मून मिशन में आई थी गड़बड़ी, जानिए कहां हुई थी चूक?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नॉलेज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 8, 2019, 12:08 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...