• Home
  • »
  • News
  • »
  • knowledge
  • »
  • भारत-चीन तनाव: नक्शे पर कहां है पैंगोंग त्सो, जहां ​दोनों सेनाएं भिड़ीं

भारत-चीन तनाव: नक्शे पर कहां है पैंगोंग त्सो, जहां ​दोनों सेनाएं भिड़ीं

 सारा विवाद पैंगोंग त्सो झील के आसपास हुआ है.  (प्रतीकात्मक तस्वीर)

सारा विवाद पैंगोंग त्सो झील के आसपास हुआ है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

India-China Border Tension: जून में गलवान वैली (Galwan Valley) में भारत और चीन के सैनिकों के बीच हिंसा हुई थी, जिसमें 20 भारतीय जवान शहीद हो गए थे. तबसे सीमा पर तनाव (Border Tension) और शांति बहाली के लिए वार्ताओं के दौर के बावजूद हाल में चीन ने फिर अपना हमलावर रुख दिखाया, जिसके चलते दोनों आर्मी पैंगोंग त्सो में आमने सामने आ गईं.

  • Share this:
    भारतीय आर्मी (Indian Army) ने सोमवार को कहा है कि 29 और 30 अगस्त की दरमियानी रात वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर चीनी सैन्य बलों ने अतिक्रमण करने की कोशिश की, जिसे देश की सेना ने नाकाम कर दिया. आर्मी की मानें तो भारतीय सैनिकों ने चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (China's Peoples Liberation Army) के नापाक इरादे को पहले ही भांप लिया और पैंगोंग त्सो (Pangong Tso Lake) के दक्षिणी किनारे पर अपने मोर्चे मज़बूत कर अतिक्रमण होने से बचा लिया.

    आर्मी ने एक बयान जारी करते हुए कहा कि चीनी बलों ने यह 'उकसाने वाली सैन्य कार्रवाई' करते हुए आपसी सहमति का उल्लंघन किया. इस घटनाक्रम के बाद पूर्वी लद्दाख क्षेत्र में भारत और चीन के बीच एलएसी पर फिर तनाव की स्थिति बन गई है. मई के महीने से ही इस इलाके में चीन के नापाक इरादों के कारण तनाव बना हुआ है, और तभी से तीन पॉइंट्स हॉट स्प्रिंग्स, गलवान वैली और पैंगोंग त्सो, झड़पों और कड़ी निगरानी के क्षेत्र बने हुए हैं.

    बीते जून महीने में गलवान वैली में भारतीय और चीनी सैन्य बलों के बीच जो हिंसक झड़प हुई थी, उसमें भारत के 20 जवान शहीद हुए थे. चीन के भी कई जवानों के मारे जाने की खबरें रहीं, लेकिन चीन ने अब तक अपने मारे गए जवानों के बारे में पुष्टि नहीं की. बहरहाल, पैंगोंग त्सो किस तरह से मुकाबले का पॉइंट बना हुआ है और यह कितनी अहम लोकेशन है? यह जानना चाहिए.

    india china tension, india china border dispute, india china border clash, ladakh border stand off, china india talks, भारत चीन तनाव, भारत चीन सीमा विवाद, भारत चीन सीमा तनाव, लद्दाख बॉर्डर तनाव, चीन भारत
    एलएसी के बहुत करीब स्थित है विशाल पैंगोंग त्सो झील.


    ये भी पढ़ें :- भारत रत्न प्रणब मुखर्जी के परिवार के बारे में क्या जानते हैं आप?

    कहां हैं पैंगोंग त्सो?
    बीते 15 जून को भारत और चीन के बीच जो फेस-ऑफ हुआ था, उसकी लोकेशन अलग थी और हालिया मुकाबला जहां हुआ, उसकी अलग. इस बार पैंगोंग झील के दक्षिणी किनारे के पास चीनी सेना ने अतिक्रमण की कोशिश की. गलवान वैली के दक्षिण में स्थित यह एक बड़ी झील है, जिसके कुछ हिस्से पर भारत और कुछ पर चीन का नियंत्रण है.

    ये भी पढ़ें :- तारीख दर तारीख : 1 रुपये जुर्माने तक इस तरह पहुंचा प्रशांत भूषण का केस

    पैंगोंग झील का उत्तरी हिस्सा और वैली 80 किलोमीटर की दूरी पर है, जहां चीनी बलों ने मुकाबले की कोशिश की. यह एलएसी पर चीन के कथित फिंगर 4 इलाके में है. पैंगोंग त्सो का फिंगर एरिया मुख्य मार्ग से निकला हुआ रास्ता है, जो इस झील के किनारे तक फैला है.

    भारत के दावे के मुताबिक, एलएसी फिंगर 8 एरिया में है. मई में जब इस पूरे क्षेत्र में तनाव की स्थिति बनी, उससे पहले फिंगर 4 और फिंगर 8 के बीच के बड़े खाली हिस्से में दोनों तरफ की सेनाएं अपनी पोज़ीशन्स की निगरानी के लिए लगातार पैट्रोलिंग किया करती थीं. शुरूआती जुलाई में खबरें आईं कि चीनी सनेा ने पैंगोंग त्सो के उत्तरी किनारे पर विशालकाय सूचना पटल लगाए, जो चीनी भाषा में थे. इस बोर्डों में 'चीन' लिखा हुआ था.

    ये भी पढ़ें :-

    'इस बार हारेंगे ट्रंप'- 36 सालों से सारी सटीक भविष्यवाणियां कर रहे शख्स का दावा

    कौन हैं भारत की 'प्रिंसेस' नूर इनायत, जिन्हें ब्रिटेन में मिला ऐतिहासिक सम्मान

    भारत और चीन तनाव का अंजाम?
    पिछले कुछ समय में भारत ने चीन पर सीमा पर तनाव पैदा करने सहित ये इल्ज़ाम भी लगाए हैं कि चीन बॉर्डर के पास कुदरती संरचनाओं से छेड़छाड़ करने के साथ ही कई तरह के निर्माण कर रहा है. यही नहीं, चोरी छुपे बॉर्डर से घुसपैठ की कोशिशें भी की जा रही हैं. रॉयटर्स की रिपोर्ट की मानें तो गलवान वैली में हुए संघर्ष पर कई राउंड की वार्ताओं के बाद दूसरे पॉइंट्स पर सैनिकों की भिड़ंत जारी है.

    india china tension, india china border dispute, india china border clash, ladakh border stand off, china india talks, भारत चीन तनाव, भारत चीन सीमा विवाद, भारत चीन सीमा तनाव, लद्दाख बॉर्डर तनाव, चीन भारत
    नक्शे पर एलएसी की अहम लोकेशनें.


    पूरी पैंगोंग त्सो झील के किनारे इस तरह की झड़पों के गवाह बन रहे हैं, जिस पर दोनों देश दावा करते हैं. हालांकि विशेषज्ञ मान रहे हैं कि ताज़ा हिंसा चिंताजनक है. भारत चीन संबंधों पर विशेषज्ञ ब्रह्मा चेलानी के हवाले से रिपोर्ट में कहा गया है कि बातचीत सार्थक नतीजे तक पहुंचे, इसलिए भारत चीनी अति​क्रमण की कोशिशों को हल्के ढंग से उठाता रहा, लेकिन इससे चीन को केवल और शह ही मिली है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज