ब्रिटेन के PM बोरिस जॉनसन के इस मंत्री का है आगरा से तगड़ा कनेक्शन

आलोक शर्मा का जन्म आगरा में हुआ है. उनके पैरेन्ट्स 70 के दशक में यहां से ब्रिटेन चले गए. उस वक्त आलोक शर्मा की उम्र महज 5 साल की थी...

News18Hindi
Updated: July 26, 2019, 1:16 PM IST
ब्रिटेन के PM बोरिस जॉनसन के इस मंत्री का है आगरा से तगड़ा कनेक्शन
आलोक शर्मा को बोरिस जॉनसन की कैबिनेट में अंतरराष्ट्रीय विकास राज्य मंत्री के रूप में नियुक्त किया गया है.
News18Hindi
Updated: July 26, 2019, 1:16 PM IST
ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने अपनी कैबिनेट में भारतीय मूल के 3 लोगों को शामिल किया है. ये तीन लोग प्रीति पटेल, ऋषि सुनक और आलोक शर्मा हैं. ये तीनों ही बोरिस जॉनसन के पक्के समर्थक हैं. भारतीय उपमहाद्वीप के लिए ये अच्छी बात है कि यहां के 3 लोगों को ब्रिटेन के कैबिनेट में जगह मिली है. आलोक शर्मा को बोरिस जॉनसन की कैबिनेट में अंतरराष्ट्रीय विकास राज्य मंत्री के रूप में नियुक्त किया गया है.

आलोक शर्मा का ताल्लुक उत्तर प्रदेश के आगरा से है. आलोक शर्मा को ब्रेग्जिट के मुद्दे पर जॉनसन का साथ देने का इनाम मिला और उन्हें बोरिस जॉनसन ने अपने मंत्रिमंडल में जगह दी. बोरिस जॉनसन का जिसने भी विरोध किया, उनको किनारे लगा दिया गया. बहुत कम लोग ऐसे हैं, जो टेरेसा मे के मंत्रिमंडल में शामिल रहे हों और उन्हें फिर से मंत्री बनाया गया हो.

आलोक शर्मा की खास बात ये है कि वो टेरेसा मे के मंत्रिमंडल में भी शामिल थे. ब्रेग्जिट के मुद्दे पर बोरिस जॉनसन ने नो डील की बात की है. आलोक शर्मा इसके समर्थक हैं. आलोक शर्मा ने बोरिस जॉनसन को प्रधानमंत्री बनवाने के लिए जबरदस्त कैंपेनिंग की थी. बोरिस ने इसलिए भी उनपर भरोसा जताया है.

know all about alok sharma britain boris johnson cabinet minister agra connection preeti patel rishi sunak
आलोक शर्मा का जन्म आगरा में हुआ है


आलोक शर्मा का जन्म आगरा में हुआ है

आलोक शर्मा ने चार्टर्ड एकाउंटेंसी की पढ़ाई की है. उनका जन्म आगरा में 7 जनवरी 1967 को हुआ. आलोक शर्मा के पैरेन्ट्स 70 के दशक में इंग्लैंड चले गए थे. उस वक्त आलोक की उम्र सिर्फ 5 साल की थी. वो अपने माता-पिता के साथ ब्रिटेन आ गए. यहीं उन्होंने अपनी पढ़ाई पूरी की. आलोक का लालन-पालन रीडिंग के उपनगरों अर्ली और व्हाइटली वुड में हुआ. उनकी शुरुआती पढ़ाई रीडिंग ब्लू कोट स्कूल में हुई. उन्होंने 1988 में सालफोर्ड यूनिवर्सिटी से अप्लाइड फिजिक्स में बीएससी की है.

इसके बाद उन्होंने चार्टर्ड एकाउंटेंट की ट्रेनिंग ली. मानचेस्टर में ट्रेनिंग लेने के बाद लंदन के कई फायनेंसियल फर्मों में वो ऊंचे पदों पर रहे. आलोक शर्मा बो ग्रुप के इकोनॉमिक अफेयर्स कमिटी के थिंकटैंक के चेयरमैन भी रहे हैं.
Loading...

know all about alok sharma britain boris johnson cabinet minister agra connection preeti patel rishi sunak
बोरिस जॉनसन के साथ आलोक शर्मा


आगरा में उनका जन्म कहां पर हुआ है, इसकी जानकारी नहीं मिलती है. ऐसा लगता है कि वो यहां से जाने के बाद दोबारा कभी वापस नहीं आए. वो पूरी तरह से वहीं बस गए.

कंजर्वेटिव पार्टी के लो प्रोफाइल नेता रहे हैं आलोक शर्मा

2010 से पहले आलोक शर्मा चार्टर्ड एकाउंटेंट के बतौर काम कर रहे थे. 2010 में उन्होंने रीडिंग वेस्ट से चुनाव जीता और सांसद बने. 2016 में टेरेसा में ने उन्हें बड़ी जिम्मेदारी सौंपी. आलोक शर्मा को विदेश और राष्ट्रमंडल कार्यालय में पार्लियामेंट्री एडिशनल सेक्रेटरी नियुक्त किया गया. 2017 में आलोक शर्मा को प्रमोशन देकर आवास और योजना मंत्री बनाया गया. 2018 में वो रोजगार मंत्री बने.

know all about alok sharma britain boris johnson cabinet minister agra connection preeti patel rishi sunak
बैशाखी के मौके पर सिख समुदाय के साथ आलोक शर्मा


आलोक शर्मा कंजर्वेटिव पार्टी के लो-प्रोफाइल नेता रहे हैं. उनके मंत्रिमंडल में शामिल होने से भारत को कितना फायदा होगा, ये कहना मुश्किल है. हालांकि देखा जाए तो ब्रिटेन के भारतीय समुदाय का झुकाव लेबर पार्टी की तरफ रहा है. लेकिन चुनाव के दौरान बोरिस जॉनसन ने भारत के लिए कुछ अच्छे संकेत दिए थे. उन्होंने कहा था कि भारत और बांग्लादेश के लोगों को अपने रेस्त्रां में काम करने के लिए अपने देश से लोगों को लाने की अनुमति मिलेगी. वो वीज पॉलिसी को और उदार बनाएंगे.

आलोक शर्मा के साथ भारतीय मूल की प्रीति पटेल और ऋषि सुनक को भी मंत्रिमंडल में जगह मिली है. प्रीति पटेल को गृहमंत्री बनाया गया है. वहीं ऋषि सुनक को ट्रेजरी विभाग का मंत्री बनाया गया है. ऋषि सुनक इंफोसिस के संस्थापक नारायण मूर्ति के दामाद हैं. जॉनसन ने उन सभी लोगों को प्रमोशन दिया है, जिन्होंने ब्रेग्जिट मुद्दे पर उनका साथ दिया था.

ये भी पढ़ें: 4 जुलाई को ही भारतीय सेना ने रख दी थी करगिल जीत की बुनियाद, ऐसे आया टर्निंग पॉइंट

 कारगिल दिवस: शहीद बेटे की आखिरी झलक के लिए मां को करना पड़ा 43 दिन का इंतजार

कैंसर पर आई चौंकाने वाली रिपोर्ट, इस राज्य की हालत सबसे खराब
First published: July 26, 2019, 1:06 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...