• Home
  • »
  • News
  • »
  • knowledge
  • »
  • क्या है जिनेवा कन्वेंशन जो पाकिस्तान में बना अभिनंदन का सुरक्षा 'कवच'

क्या है जिनेवा कन्वेंशन जो पाकिस्तान में बना अभिनंदन का सुरक्षा 'कवच'

पायलट अभिनंदन को पाकिस्तान में जिनेवा कन्वेंशन के तहत मिलेंगे अधिकार! (प्रतीकात्मक फोटो)

पायलट अभिनंदन को पाकिस्तान में जिनेवा कन्वेंशन के तहत मिलेंगे अधिकार! (प्रतीकात्मक फोटो)

जिनेवा समझौते के तहत विंग कमांडर अभिनंदन को पाकिस्तान न तो डरा धमका सकता है और न ही अपमानित कर सकता

  • Share this:
भारतीय सीमा में घुस आए पाकिस्तानी विमान के खिलाफ कार्रवाई के दौरान भारतीय वायुसेना का एक मिग 21 दुर्घटनाग्रस्त हुआ है.  साथ ही भारत सरकार ने पुष्टि की कि पाकिस्तान ने वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान को बंदी बना लिया है. सरकार ने पाकिस्तान से उन्हें जल्द वापस भारत भेजने की मांग की है.

विंग कमांडर अभिनंदन के लिए पाकिस्तान में सुरक्षा कवच का काम करेगी एक अंतरराष्ट्रीय संधि. जिसे हम जेनेवा कन्‍वेंशन या जेनेवा समझौता (Geneva Convention) कहते हैं. किसी देश का सैनिक जैसे ही पकड़ा जाता है उस पर ये समझौता लागू होता है. किसी भी युद्धबंदी के साथ अमानवीय बर्ताव नहीं करने के लिए ये समझौता विवश करता है. आइए जानते हैं कि आखिर यह समझौता है क्या? (ये भी पढ़ें: पायलट अभिनंदन को दुश्मन देश में मिलेंगी ये सुविधाएं, इनकार नहीं कर सकता पाकिस्तान!)

 विंग कमांडर अभिनंदन, wing commander abhinandan, flight lieutenant nachiketa, geneva-convention, जिनेवा कन्वेंशन, जेनेवा समझौता, mirage 2000, india, iaf, india pakistan, india map, india pakistan news, india attack pakistan, kargil, india strikes back, balakot attack, mirage 2000 fighter jet, india air strike, india attack on pakistan, f16, Surgical Strike 2, india-pakistan-war, jaish-e-mohammed,terror camp, indian air force, pok, IAF strike, PM narendra modi, मिराज 2000, भारत, भारतीय वायुसेना, भारत पाकिस्तान, भारत पाकिस्तान समाचार, भारत का पाकिस्तान पर हमला, बालाकोट हमला, मिराज 2000 फाइटर जेट, सर्जिकल स्ट्राइक 2, भारत पाकिस्तान-युद्ध, जैश-ए-मोहम्मद, पाकिस्तान के आतंकी शिविर, पीओके, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
          जिनेवा कन्वेंशन (प्रतीकात्मक फोटो)


राजनीति विज्ञान के विशेषज्ञों का कहना है कि अलग-अलग देशों के बीच उनके राजनयिकों और नागरिकों के मानवाधिकारों की रक्षा के लिए जेनेवा कनवेंशन अहम हथियार है. दिल्ली यूनिवर्सिटी में पॉलिटिकल साइंस के एसोसिएट प्रोफेसर सुबोध कुमार का कहना है कि इस समझौते के तहत युद्धबंदियों को सही सलामत उसके देश को वापस लौटाना होता है.

प्रो. सुबोध का कहना है कि जेनेवा सम्मेलन में चार संधियां और तीन अतिरिक्त प्रोटोकॉल यानी मसौदे को मंजूरी देते हुए पास किया गया था, जो युद्धबंदियों को अधिकार देते हैं. इसका उद्देश्य युद्ध के दौरान मानवीय मूल्यों को बनाए रखना है. इस समझौते के तहत घायल सैनिक की उचित देखरेख की जाएगी. अमानवीय बर्ताव नहीं किया जाएगा. खाना पीना और जरूरी सभी चीजें दी जाएंगी.



इसके तहत दुश्मन देश में ना तो उन्हें तंग किया जाएगा, न डराया धमकाया जाएगा. अपमानित नहीं किया जाएगा. ना ही मेडिकल सुविधा से वंचित रखा जाएगा. यहां तक कि युद्धबंदी की जाति, धर्म के बारे में नहीं पूछे जाने का प्रावधान है. युद्धबंदी से सिर्फ उसका नाम, सेना में पद और यूनिट के बारे में पूछा जा सकता है. (ये भी पढ़ें: भारत-पाकिस्तान के वर्तमान हालात पर क्या बोले नवजोत सिंह सिद्धू!)

 विंग कमांडर अभिनंदन, wing commander abhinandan, flight lieutenant nachiketa, geneva-convention, जिनेवा कन्वेंशन, जेनेवा समझौता, mirage 2000, india, iaf, india pakistan, india map, india pakistan news, india attack pakistan, kargil, india strikes back, balakot attack, mirage 2000 fighter jet, india air strike, india attack on pakistan, f16, Surgical Strike 2, india-pakistan-war, jaish-e-mohammed,terror camp, indian air force, pok, IAF strike, PM narendra modi, मिराज 2000, भारत, भारतीय वायुसेना, भारत पाकिस्तान, भारत पाकिस्तान समाचार, भारत का पाकिस्तान पर हमला, बालाकोट हमला, मिराज 2000 फाइटर जेट, सर्जिकल स्ट्राइक 2, भारत पाकिस्तान-युद्ध, जैश-ए-मोहम्मद, पाकिस्तान के आतंकी शिविर, पीओके, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी        भारत-पाकिस्तान (प्रतीकात्मक फोटो)

पहला जेनेवा समझौता 1864 में हुआ था. दूसरा समझौता 1906 और तीसरा 1929 में हुआ. दूसरे वर्ल्ड वार के बाद 1949 में 194 देशों ने मिलकर चौथी संधि की थी. इसके तहत युद्धबंदियों पर मुकदमा चलाया जा सकता है. लेकिन युद्धबंदी को लेकर प्रोपेगेंडा नहीं फैलाया जा सकता.

ये भी पढ़ें:

पाकिस्तान भारत से कोई बड़ा युद्ध करने की हालत में नहीं: रिटायर्ड मेजर जनरल

Surgical Strike 2.0: 'युद्ध हुआ तो पाकिस्तान का साथ नहीं देगा चीन'

भारत-पाकिस्‍तान के बीच सबसे खतरनाक है बॉर्डर, ये है सुरक्षा इंतजाम!

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन