Coronavirus: क्‍या यहां-वहां मंडराती मक्खियां भी फैला सकती हैं संक्रमण

वाशिंगटन में घर से बाहर निकलने पर हो सकती है 90 दिनों की जेल

कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण को फैलने से रोकने की तमाम कोशिशों के बीच द लैंसेट की एक रिपोर्ट ने सभी की चिंता बढा दी है. रिपोर्ट के मुताबिक, घरों, बाजारों, दुकानों और गली-मोहल्‍लों में मंडराती हुई मक्खियां (Bees) भी कोरोना वायरस को फैला सकती हैं.

  • Share this:
    कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए पूरी दुनिया हरसंभव तरीका अपना रही है. भारत में भी 21 दिन के लिए लॉकडाउन (Lockdown) की घोषणा कर दी गई है. केंद्र सरकार सोशल डिस्‍टेंसिंग (Social Distancing) को बरकरार रखने के लिए अपनी ओर से कोई कसर नहीं छोड रही है. इसी के तहत राज्‍य सरकारें रोजमर्रा की जरूरी चीजों को घरों तक पहुंचाने की कोशिशों में जुटी हैं ताकि हर हाल में लोग घरों में ही रहें और संक्रमण फैलने की श्रृंखला को ब्रेक किया जा सके. इस तमाम कोशिशों के बीच द लैंसेट की एक रिपोर्ट ने सभी की चिंता बढा दी है. रिपोर्ट के मुताबिक, घरों, बाजारों, दुकानों और गली-मोहल्‍लों में मंडराती हुई मक्खियां (Bees) भी वायरस को फैला सकती हैं.

    अमिताभ बच्‍चन ने लैंसेट की रिपोर्ट के हवाले से साझा किया वीडियो
    दुनिया भर में तबाही मचा रहे कोरोना वायरस को लेकर बॉलीवुड (Bollywood) अभिनेता अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) ने ट्‍विटर पर द लैंसेट की रिपोर्ट में एक स्टडी के हवाले से दी गई ये नई जानकारी साझा की है. उन्‍होंने इसका एक वीडियो बनाकर ट्विटर (Twitter) पर साझा किया है. इसमें वह बता रहे हैं कि यह वायरस मक्‍खी के जरिये भी फैल सकता है. चीन के विशेषज्ञों ने शोध में पाया है कि संक्रमित व्यक्ति अगर स्वस्थ भी हो जाए तो उसके मल (Human Excreta) में कोरोना वायरस कई दिनों तक जिंदा रह सकता है. अगर मक्‍खी संक्रमित व्‍यक्ति के मल पर बैठने के बाद फल या किसी व्‍यक्ति की स्किन पर बैठकर संक्रमण फैला सकती है.

    मक्‍खी नहीं बल्कि उसके छोड़े संक्रमित मल से फैलता है संंक्रमण
    यहां हम ये साफ कर देना चाहते हैं कि विशेषज्ञों ने अलग-अलग शोध के बाद कहा है कि ये वायरस जानवरों या पक्षियों से मानव में नहीं फैल रहा है. बल्कि मानव जनवरों को संक्रमित कर सकता है. वीडियो में साफ तौर पर कहा गया है कि संक्रमित व्‍यक्ति के मल में वायरस कई दिन तक जिंंदा रह सकता है. अगर इस पर बैठने वाली मक्‍खी मल के मामूली अंश को उठाकर खाने-पीने की चीजों पर रख देती है तो उसे खाने वाला व्‍यक्ति संक्रमित हो सकता है. वहीं, अगर  यही मक्‍खी मल का ये अंश मानव शरीर पर छोड दे तो व्‍यक्ति के संक्रमित होने की आशंका बनी रहती है.

    पीएम नरेंद्र मोदी ने भी बिग बी के ट्वीट को रीट्वीट किया
    अमिताभ ने कहा कि कोरोना से लड़ने के लिए हमें जनआंदोलन करना पड़ेगा जैसे स्वच्छ भारत अभियान देश की जनता ने कियाः इसका असर यह हुआ है कि देश में हर जगह स्वछता को लेकर जागरूकता आई है. इससे पहले हमने 2 बूंद जिंदगी की चलाकर पूरे देश को पोलियोमुक्‍त किया है. उन्होंने वीडियो में कहा कि कोरोना की जंग को भी देशवासी जीत सकते हैं. इसके लिए हमें सिर्फ 3 काम करने होंगे. पहला, हम अपने शौचालयों का ही उपयोग करें और कभी भी खुले में शौच न जाएं. उनके इस ट्‍वीट को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने भी री-ट्‍वीट किया है.

    वीडियो में हाथ धोने समेत कोरोेना वायरस से बचाव के तरीके बताए गए हैं.


    वीडियो में दिए गए हैं वायरस से बचाव के सुझाव
    वीडियो में सुझाव देते हुए अमिताभ कह रहे हैं कि कोरोना से बचाव के लिए सोशल डिस्टेंसिंग बेहद जरूरी है. बहुत जरूरी काम हो तो ही घर से निकलें. इसके अलावा उन्‍होंने लोगों को दिन में कई बार 20 सेकंड तक हाथ धोने का सुझाव दिया है. साथ ही कहा कि हाथों को नाक, आंख, मुंह पर न लगाएं. वहीं, अपने कानों को भी धोते रहें. अमिताभ ने पूरे देश से हाथ जोड़कर अपील की है कि अगर हमें कोरोना को हराना है तो इसे जनआंदोलन बनाना होगा. अंत में उन्‍होंने कहा कि शौचालय का दरवाज बंद तो बीमारी बंद.

    ये भी देखें:

    जानें महात्‍मा गांधी ने 102 साल पहले ऐसे दी थी दुनिया की सबसे बड़ी महामारी को मात

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.