लाइव टीवी

INX मीडिया केस: घूस की रकम 9.96 लाख, जानिए चिदंबरम के खिलाफ CBI चार्जशीट की पूरी डिटेल्स

News18Hindi
Updated: October 19, 2019, 1:13 PM IST
INX मीडिया केस: घूस की रकम 9.96 लाख, जानिए चिदंबरम के खिलाफ CBI चार्जशीट की पूरी डिटेल्स
पी चिदंबरम के खिलाफ सीबीआई ने चार्जशीट दाखिल कर दी है

सीबीआई (CBI) ने पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम (P Chidambaram) और उनके बेटे कार्ति चिदंबरम (Karti Chidambaram) के खिलाफ आईएनएक्स मीडिया (INX Media Case) मामले में चार्जशीट दाखिल कर दी है. सीबीआई को 9.96 लाख रुपए की घूस देने का पता चला है...

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 19, 2019, 1:13 PM IST
  • Share this:
सीबीआई (CBI) ने आईएनएक्स मीडिया केस (INX Media Case) में पूर्व वित्तमंत्री पी चिदंबरम (P Chidambaram) के खिलाफ चार्जशीट दाखिल कर दी है. चार्जशीट में चिदंबरम पर भ्रष्टाचार, धोखाधड़ी और फर्जीवाड़े का आरोप लगाया गया है. सीबीआई ने आईएनएक्स मीडिया केस को दो साल पहले दर्ज किया था. दो साल की जांच के बाद अब इस मामले पर सीबीआई ने चार्जशीट दाखिल की है.

चार्जशीट में पी चिदंबरम और उनके बेटे कार्ति चिदंबरम के साथ 12 दूसरे लोगों को आरोपी बनाया गया है. इसमें नीति आयोग के पूर्व सीईओ सिंधुश्री खुल्लर, तत्कालीन डिपार्टमेंट ऑफ इकोनॉमिक अफेयर के एडिशनल सेक्रेटरी, मिडियम एंड स्मॉल स्केल इंडस्ट्री के पूर्व सचिव अनूप के पुजारी, हिमाचल प्रदेश के प्रिंसिपल सेक्रेटरी प्रबोध सक्सेना, FIPB यूनिट के तत्कालीन अंडर सेक्रेटरी रबिन्द्र प्रसाद, डिपार्टमेंट ऑफ इकोनॉमिक अफेयर में ऑफिसर ऑन स्पेशल ड्यूटी प्रदीप कुमार बग्गा के नाम शामिल हैं. इनके साथ ही FIPB के सेक्शन ऑफिसर अजीत कुमार, कार्ति चिदंबरम के सीए एस भास्कररमन, कार्ति की कंपनियों के नाम शामिल हैं.

5 देशों से मांगी जा रही है चिदंबरम के एकाउंट की जानकारी

सीबीआई ने कार्ति चिदंबरम और दूसरे आरोपियों पर आपराधिक साजिश रचने, धोखाधड़ी करने, गलत तरीके से पैसा इकट्ठा करने, गलत तरीके से सरकारी अफसरों को प्रभावित करने और आपराधिक व्यवहार करने के आरोप लगाए हैं. इन सभी आरोपों को चार्जशीट में लिखा गया है. पी चिदंबरम और उनके बेटे कार्ति चिदंबरम ने सभी आरोपों से इनकार किया है. उन्होंने कहा है कि सभी आरोप बेबुनियाद और राजनीतिक बदले की भावना से प्रेरित हैं.

know full details of cbi chargesheet against p chidambaram in inx media case
पी चिदंबरम


आईएनएक्स मीडिया मामले की जांच के लिए सीबीआई ने 5 देशों के पास आवेदन भेजे हैं. अगर उन देशों से कुछ रिस्पॉन्स मिलता है तो सीबीआई सप्लीमेंटरी चार्जशीट भी दाखिल कर सकती है. आवेदन सिंगापुर, मॉरिसस, बरमूडा, यूके और स्विटजरलैंड को भेजे गए हैं. इन सभी देशों से संदिग्ध एकाउंट और उनके ट्रांजैक्शन की जानकारी मांगी गई है.

आईएनएक्स मीडिया मामले में घूस की रकम सिर्फ 9.96 लाख रुपए
Loading...

एजेंसी के मुताबिक आईएनएक्स मीडिया मामले में घूस की रकम कार्ति के कहने पर ऑफशोर एकाउंट में डाले गए. सीबीआई की जांच जारी है लेकिन सीबीआई ने चार्जशीट में लिखा है कि उसे सिर्फ 9.96 लाख के घूस का पता चला है. चार्जशीट के मुताबिक 9.96 लाख के घूस की रकम के सबूत मिले हैं.

हजारों करोड़ के घोटाले के दौर में घूस की ये बहुत ही मामूली रकम है. लेकिन फिलहाल सीबीआई के पास यही जानकारी है. सीबीआई के चार्जशीट में फिलहाल घूस की रकम यही बताई गई है. चार्जशीट दाखिल करते वक्त सीबीआई की ओर से कहा गया है कि ‘मुंबई की एक मीडिया कंपनी ने 9.96 लाख रुपए की रकम एक कंसलटिंग कंपनी को भुगतान किए, जबकि कंसलटिंग कंपनी ने इसके एवज में कोई सर्विस नहीं दी थी.’

सीबीआई के मुताबिक वो मीडिया कंपनी आईएनएक्स मीडिया कंपनी है और जिस कंसलटिंग कंपनी को पैसे दिए गए वो कार्ति चिदंबरम की कंपनी बताई जा रही है.

सीबीआई ने चार्जशीट आरोप लगाया है कि चिदंबरम ने वित्तमंत्री रहते हुए आईएनएक्स मीडिया केस को गलत तरीके से फॉरेन इनवेस्टमेंट प्रमोशन बोर्ड (FIPB) का अप्रूवल दिलवाया. इसके बदले में चिदंबरम को घूस दी गई.

know full details of cbi chargesheet against p chidambaram in inx media case
कार्ति चिदंबरम


कार्ति चिदंबरम की कंपनी को दिए गए घूस के पैसे

सीबीआई ने जो चार्जशीट दाखिल की है, उसमें फर्जीवाड़े का भी आरोप लगाया गया है, जबकि इस मामले की जब 15 मई 2017 को एफआईआर दर्ज की गई थी, तब इसका जिक्र नहीं था.

इकोनॉमिक टाइम्स के मुताबिक इस मामले के एक आरोपी भास्कररमन ने गवाही दी है कि उनकी कंपनी ASCPL ने पी चिदंबरम के यात्रा खर्च और कुछ दूसरे खर्चे उठाए थे. ASCPL के खर्चों वाले ये दस्तावेज सीबीआई ने जब्त किए हैं. इन दस्तावेजों में वर्क के एक कॉलम में कई बार पीसी सर लिखा है.

सीबीआई का आरोप है कि आईएनएक्स मीडिया के खिलाफ चल रहे टैक्स के एक मामले को प्रभावित करने के लिए कार्ति चिदंबरम ने पैसे लिए थे. आईएनएक्स मीडिया में FIPB के नियमों की अनदेखी कर मॉरिशस से निवेश किया गया था.

सीबीआई ने कहा है कि आईएनएक्स मीडिया ने ये माना है कि ASCPL को FIPB से क्लियरेंस दिलवाने के एवज में 9.96 लाख रुपए का भुगतान किया गया.

ये भी पढ़ें: सुब्रह्मण्यम चंद्रशेखर: चाचा के नक्शेकदम पर चलते हुए भतीजे ने जीता था नोबेल पुरस्कार
 सबसे अमीर शहर के कोने में है गरीब नगर, इंदिरा गांधी से है रिश्ता
इंदिरा सरकार में चीफ जस्टिस की नियुक्ति में हुआ था विवाद, जानें कैसे बनते हैं मुख्य न्यायाधीश
पाकिस्तान ब्लैक लिस्ट हुआ तो उसका कितना बुरा हाल होगा?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नॉलेज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 19, 2019, 1:13 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...