जानें हांगकांग ने कोरोना वायरस की सेकेंड वेव को कैसे कर लिया काबू

जानें हांगकांग ने कोरोना वायरस की सेकेंड वेव को कैसे कर लिया काबू
हांगकांग में चूहों की वजह से इंसानों में एक घातक वायरस फैल रहा है

हांगकांग ने कोरोना वायरस (Coronavirus in Hong Kong) की सेकेंड वेव को काबू में करने के लिए कई तरह की पाबंदियां लगाईं. पिछले 20 दिन से यहां स्‍थानीय संक्रमण का एक भी नया मामला सामने नहीं आया है.

  • Share this:
कोरोना वायरस (Coronavirus) को फैलने से रोकने के लिए हांगकांग (Hong Kong) में भी प्रतिबंध लगाए थे, जिनमें शुक्रवार से ढील दी गई थी. आज यानी शुक्रवार को चीन (China) से सटे इस देश में कोरोना संक्रमण का एक भी नया मामला सामने नहीं आया है. पिछले एक हफ्ते में चार मौतों के साथ ही कोरोना पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा 1,045 हो गया है. कुछ समय पहले तक आशंका जताई जा रही थी कि हांगकांग में कोरोना फिर से रफ्तार (Second Wave) पकड़ सकता है, लेकिन सरकारी प्रयासों ने इसे गलत साबित कर दिया है.

लगातार 20वें दिन शनिवार को भी स्थानीय संक्रमण का कोई नया मामला नहीं आया है. इससे पहले स्‍वास्‍थ्‍य विशेषज्ञों ने कहा था कि अगर संक्रमण का कोई नया मामला 28 दिन के बाद भी सामने नहीं आता है तो हांगकांग को स्थानीय संक्रमण मुक्त मान लिया जाएगा. अब तक कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में हांगकांग के प्रदर्शन को काफी अच्‍छा माना जा रहा है.

सेकेंड वेव को ध्‍यान में रखकर लगाईं पाबंदी
हांगकांग ने पिछले कुछ हफ्तों में वैश्विक महामारी (Pandemic) को काबू में रखने के लिए कई कदम उठाए हैं. कोरोना वायरस की सेकेंड वेव को ध्‍यान में रखते हुए हांगकांग ने बाहरी लोगों के प्रवेश पर रोक लगा दी थी. इसके अलावा यात्रियों को स्थानीय हवाई अड्डों से गुजरने से रोक दिया गया था. वहीं, शहर आने वालों के लिए क्‍वारंटीन और जांच उपायों को सख्ती से लागू किया गया. होम क्‍वारंटीन किए गए लोगों को इलेक्ट्रॉनिक ब्रेसलेट पहनाए गए ताकि उनकी आसानी से निगरानी की जा सके.
हांगकांग ने सेकेंड वेव के खतरे को ध्‍यान में रखते हुए बाहर से आने वालों पर रोक लगाने के साथ ही कई तरह की पाबंदियां लगाई थीं.




नतीजा ये निकला कि कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) के नए मामले सामने आना एकदम कम हो गए. पिछले 20 दिन से हांगकांग में कोरोना संक्रमण का एक भी स्‍थानीय केस दर्ज नहीं किया गया है. इससे पहले फरवरी और मार्च में सरकार की तरफ से कुछ सख्त फैसले लिए गए थे. तब प्रशासन ने शराब की बिक्री रोकने के साथ ही जिम और खेल परिसरों को पूरी तरह बंद कर दिया गया था.

अब पटरी पर लौटने लगा है सामान्‍य जीवन
कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए हांगकांग में रेस्‍टोरेंट और कैफे बंद कर दिए गए थे. वहीं, अनुमति पर खोले गए रेस्‍टोरेंट और कैफे में सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का कड़ाई से पालन किया गया. हालांकि, हांगकांग में कभी भी लॉकडाउन नहीं लगाया गया था. इसके लिए शुरुआत में काफी आलोचना भी हुई थी, लेकिन अब सरकार के फैसलों की तारीफ की जा रही है. बता दें कि हांगकांग में संक्रमण का आखिरी मामला 19 अप्रैल को दर्ज किया गया था.

हांगकांग प्रशासन ने स्‍पोर्ट्स कॉम्‍प्‍लेक्‍स के साथ ही मनोरंजन के साधनों पर लगाई गई पाबंदियों में भी ढील दे दी है.


बाहर से यात्रा कर लौटे नए पॉजिटिव मामलों के साथ हांगकांग में संक्रमितों की कुल संख्या 1,045 हो गई है. इनमें चार लोगों को मौत हो चुकी है. बता दें कि कोरोना वायरस ने 24 जनवरी को हांगकांग में प्रवेश किया और फिर पूरी दुनिया में फैल गया. कोरोना के फैलने पर नियंत्रण के बाद अब हांगकांग में सामान्य जीवन पटरी पर लौट हो रहा है.

जिम, ब्‍यूटी पॉलर, बार, रेस्‍टोरेंट्स खोले गए
हांगकांग के अधिकारियों की ओर से शुक्रवार को शर्तों के साथ कुछ कारोबार को आंशिक तौर पर खोलने की अनुमति दे दी गई है. इनमें जिम, ब्यूटी पार्लर, बार, रेस्‍टोरेंट्स और अन्य सार्वजनिक स्थानों पर अब लोग बिना किसी रुकावट के जा सतिे हें. इसके अलावा सरकार ने टेनिस कोर्ट और खेल स्थलों को फिर से खोल दिया है. एक्‍सप्लिका की रिपोर्ट के मुताबिक, सरकार ने ड्राइविंग लाइसेंस टेस्ट और विकलांग व बुजुर्गों के लिए सामुदायिक सेवाओं को भी शुरू कर दिया है.

हालांकि, स्कूल-कॉलेज अभी भी पूरी तरह से बंद हैं. ज्‍यादातर बच्चे ऑनलाइन क्लास ले रहे हैं. प्रशासनिक अधिकारी गर्मी की छुट्टी से पहले नए शैक्षणिक सत्र के आखिरी कुछ हफ्तों के लिए स्कूलों को फिर से खोलने की संभावना पर विचार कर रहे हैं. माना जा रहा है कि अगले कुछ दिनों में जरूरी एहतियात बरतते हुए स्‍कूल-कॉलेज भी खोल दिए जाएंगे.

ये भी देखें:

इस बीमारी के मरीजों में कोरोना संक्रमित होने पर तीन गुना बढ़ जाती है मौत की आशंका

तो इसलिए चमगादड़ कोरोना वायरस शरीर में होते हुए भी नहीं पड़ते हैं बीमार

जानें कौन हैं कोरोना संकट के बीच गुजरात भेजे गए डॉ. रणदीप गुलेरिया

अब घर पर ही लार से किया जा सकेगा कोरोना टेस्‍ट, अमेरिका में नई टेस्‍ट किट को मिली मंजूरी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading