सैनिटाइज़र बन सकता है मौत का कारण?

सैनिटाइज़र बन सकता है मौत का कारण?
हैंड सैनिटाइज़र का उपयोग कई जगहों पर ​अनिवार्य हुआ है.

Covid-19 से बचाव के लिए जो उपाय बताए गए, उनमें हैंड सैनिटाइज़र (Hand Sanitizer) का इस्तेमाल भी शामिल है. बाज़ारों में सैनिटाइज़र की बोतलें (Sanitizer Bottles) तो उपलब्ध हैं ही, घरेलू सैनिटाइज़र बनाने की विधियां भी बताई जा चुकी हैं. लेकिन सैनिटाइज़र बनाने, इस्तेमाल करने और अन्य प्रयोगों में लाने के दौरान सतर्क नहीं रहेंगे तो जान जोखिम में डालेंगे.

  • News18India
  • Last Updated: September 3, 2020, 4:13 PM IST
  • Share this:
कोरोना वायरस (Corona Virus) संक्रमण का खतरा लगातार देश और दुनिया में बढ़ता ही जा रहा है. ऐसे में, तमाम स्वास्थ्य विशेषज्ञ (Health Experts) और विशेषज्ञ संस्थाएं जो हिदायतें दे रही हैं, उनमें प्रमुख रूप से हैंड सैनिटाइज़र का इस्तेमाल शामिल है. मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) जैसे सुरक्षात्मक उपायों के साथ लोग सैनिटाइज़र का भी उपयोग (Use of Sanitizer) कितना कर रहे हैं, इसका उदाहरण यही है कि लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान कई बाज़ारों में सैनिटाइज़र की किल्लत (Shortage of Sanitizer) हो गई थी. लेकिन, ताज़ा खबरों की मानें तो यह जानलेवा भी साबित हो सकता है.

जी हां! सैनिटाइज़र के इस्तेमाल में कई तरह की सावधानी बरतने की ज़रूरत है, वरना इससे आपकी जान भी जोखिम में आ सकती है. महाराष्ट्र (Maharashtra) के नाशिक ज़िले में एक व्यक्ति की मौत इसलिए हो गई क्योंकि सैनिटाइज़र के असावधानीवश प्रयोग के कारण वह आग में झुलस गया. आपको जानना चाहिए कि कैसे सैनिटाइज़र से आग के हादसे हो सकते हैं.

नाशिक में सैनिटाइज़र से लगी आग
बीते 30 अगस्त को ज़िले में अनिल सूचक नाम के एक व्यक्ति के साथ गंभीर हादसा हुआ, जिससे वह करीब 68 फीसदी तक जल गया. सूचक को ज़िला अस्पताल में भर्ती कराया गया था, लेकिन 1 सितंबर को उसकी मौत हो गई. पुलिस अधिकारियों के हवाले से आ रही खबर में कहा गया कि सूचक के साथ आग लगने का हादसा उस वक्त हुआ, जब वह सैनिटाइज़र बोतल में भर रहा था और गैस चूल्हे की लौ के संपर्क में सैनिटाइज़र आ गया.
ये भी पढ़ें :- कैसे दुनिया की सबसे बड़ी नौसेना बना चीन? क्या है समुद्र में अब उसकी ताकत?



चूंकि सैनिटाइज़र में अल्कोहल की मात्रा काफी होती है इसलिए सावधानी रखना ज़रूरी है कि आप जब इस द्रव को किसी बोतल में भरें या किसी चीज़ पर छिड़कें, तो गैस चूल्हे, दीपक, मोमबत्ती, सिगरेट या जलती तीली जैसी किसी भी लौ या चिंगारी से दूर रहें. इससे पहले भी इस तरह की कुछ खबरें आती रही हैं.

corona virus updates, covid 19 updates, sanitizer use, how to make sanitizer, home made sanitizer, कोरोना वायरस अपडेट, कोविड 19 अपडेट, सैनिटाइजर उपयोग, सैनिटाइजर कैसे बनता है, सैनिटाइजर बनाने की विधि
विशेषज्ञों के मुताबिक सैनिटाइज़र इस्तेमाल करने में सावधानी रखना चाहिए.


और कैसे हो सकता है हादसा?
मई में एक खबर इस तरह की आई थी कि एक व्यक्ति ने अपने हाथों पर सैनिटाइज़र जेल लगाकर जब तुरंत एक मेटल सतह को छुआ, तो उसके हाथ सेकंड डिग्री झुलस के शिकार हुए. इसका कारण बताया गया था कि स्थैतिक बिजली और अल्कोहल के बीच हुई प्रक्रिया से यह झुलस हुई. ये भी कहा गया कि सैनिटाइज़र हाथों पर लगाकर तुरंत बिजली स्विच या तार छूने, वेल्डिंग या ग्राइंडिंग उपकरणों के संपर्क में जाने से भी खतरा हो सकता है.

इससे बचाव की तरकीब यही बताई गई कि सैनिटाइज़र लिक्विड हाथों पर लगाने के बाद कुछ देर ठहरें और जब यह द्रव हाथों पर पूरी तरह से सूख चुका हो, तभी किसी धातु या ज्वलनशील चीज़ के सुरक्षित संपर्क में जाएं. या फिर आप ग्लव्स भी पहन सकते हैं.

फेक न्यूज़ से रहें सतर्क
इस साल की शुरूआत से ही कोविड 19 के खतरे के मद्देनज़र डॉक्टर और स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने सैनिटाइज़र से समय समय पर हाथों को साफ करते रहने की हिदायतें दी थीं. हालांकि कुछ महीने पहले सोशल मीडिया पर एक पोस्ट काफी वायरल हुई थी,​ जिसमें एक व्यक्ति ने बुरी तरह झुलसे दो हाथों की तस्वीर पोस्ट कर लिखा था कि अल्कोहल ज़्यादा होने से सैनिटाइज़र के इस्तेमाल से हाथ जल गए.

ये भी पढ़ें :-

कोविड 19 से किस तरह टूटा दुनिया में हेल्थ सिस्टम

चीन में अब मंगोल आबादी क्यों है नाराज़? क्यों हो रहे हैं विरोध प्रदर्शन?

हालांकि फैक्ट चेक में पाया गया कि यह दावा और तस्वीर मेल नहीं खाते थे. जिन झुलसे हाथों की तस्वीर पोस्ट की गई थी, वो सैनिटाइज़र से नहीं जले थे. चेक रिपोर्ट में ये भी कहा गया था कि जैसे ही हाथों पर सैनिटाइज़र मला जाता है, उसका अल्कोहल हवा में उड़ जाता है और हाथ सूखने पर हाथों के आग पकड़ने का कोई खतरा नहीं रहता.

सैनिटाइज़र के इस्तेमाल और हाथों पर उसके प्रयोग को लेकर विशेषज्ञों की सलाह के मुताबिक सावधानी बरतें. बार बार या बहुत जल्दी जल्दी सैनिटाइज़र हाथों पर लगाने की ज़रूरत नहीं है. सैनिटाइज़र स्प्रे कर रहे हैं तो बहुत ध्यान रखें कि आसपास कोई ज्वलनशील या जलती हुई चीज़ न हो. इस तरह की सावधानियां न रखने से सैनिटाइज़र का इस्तेमाल जानलेवा भी हो सकता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज