लाइव टीवी

जानें किस तरह सीमा विवाद में उलझे हैं दक्षिण एशियाई देश

News18Hindi
Updated: May 22, 2020, 7:49 PM IST
जानें किस तरह सीमा विवाद में उलझे हैं दक्षिण एशियाई देश
भारत और पाकिस्‍तान समेत दक्षिण एशिया के ज्‍यादातर देशों के बीच सीमा ि‍विवाद हैं.

दक्षिण एशियाई देश (South Asia) भारत, पाकिस्‍तान, अफगानिस्‍तान, बांग्‍लादेश, नेपाल, भूटान, मालदीव, और श्रीलंका में ज्‍यादातर सीमा विवाद (Border Disputes) में उलझे हैं. हाल में भारत और नेपाल के बीच सीमा विवाद शुरू हो गया है. इसमें चीन (China) नेपाल को उकसाने की हरकत कर रहा है.

  • Share this:
भारत और नेपाल (Indo-Nepal) के बीच उस समय विवाद खड़ा हो गया, जब पड़ोसी देश ने अपने नए नक्‍शे में लिपुलेख, कालापानी और लिंपियाधुरा के कुल 395 वर्ग किमी के भारतीय इलाके को अपना बता डाला. नेपाल के भू-प्रबंधन और सुधार मंत्रालय की ओर से मंत्री पद्मा अरयाल ने नेपाल का यह नया नक्‍शा जारी किया. नेपाली मानचित्र को भारत ने ऐतिहासिक तथ्यों से परे और एकतरफा कदम करार दिया है. भारत ने साफ किया है कि इसे किसी हाल में स्वीकार नहीं किया जाएगा. सीमा को लेकर विवाद सिर्फ भारत और नेपाल के बीच ही नहीं है. दक्षिण एशिया (South Asia) के सभी देश सीमा विवाद (Border Disputes) में उलझे हैं. बता दें कि भारत, पाकिस्‍तान, अफगानिस्‍तान, बांग्‍लादेश, नेपाल, भूटान, मालदीव, और श्रीलंका को मिलाकर दक्षिण एशिया बनता है. कई बार इसमें म्‍यांमार को भी शामिल माना जाता है.

बंटवारे के साथ ही पाकिस्‍तान से सीमा को लेकर शुरू हुआ विवाद
क्षेत्रफल और जनसंख्या के नजरिये से भारत दक्षिण एशिया का सबसे बड़ा देश है. भारत के 17 राज्‍यों की सीमाएं सात देशों से मिलती हैं. भारत-पाकिस्तान और भारत-बांग्लादेश को रेडक्लिफ रेखा अलग करती है. मैकमोहन रेखा भारत को चीन से अलग करती है और इसका निर्धारण सर हेनरी मैकमोहन ने 1914 में किया था. डूरंड रेखा भारत को अफगानिस्तान से अलग करती है. भारत और पाकिस्‍तान के बीच बंटवारे के समय से ही सीमा विवाद चल रहा है. दोनों देशों के बीच सबसे बड़ा विवाद जम्‍मू-कश्‍मीर को लेकर है. इसके अलावा भारत पाकिस्‍तान के साथ पंजाब, गुजरात और राजस्‍थान में भी सीमाएं साझा करता है. भारत-पाकिस्तान सीमा की कुल लंबाई 3,323 किमी है. जम्मू-कश्मीर के साथ लगती सीमा की लंबाई 1,222 किमी है, जबकि राजस्थान सीमा की लंबाई 1,170 किमी है. वहीं, पंजाब 425 किमी की सीमा पाकिस्तान के साथ साझा करता है.

पाकिस्‍तान के बाद भारत का नेपाल से भी सीमा को लेकर विवाद शुरू हो गया है. वहीं, म्‍यांमार से लगती कुछ सीमा पर भी विवाद है.
पाकिस्‍तान के बाद भारत का नेपाल से भी सीमा को लेकर विवाद शुरू हो गया है. वहीं, म्‍यांमार से लगती कुछ सीमा पर भी विवाद है.




किन देशों के साथ कितनी लंबी सीमा साझाा करता है भारत


भारत के पांच राज्‍य पश्चिम बंगाल, असम, मेघालय, त्रिपुरा और मिजोरम बांग्‍लादेश के साथ 4096.7 किमी सीमा साझा करते हैं. नेपाल और भारत के बीच 1,751 किमी लंगी सीमा पर उत्‍तराखंड, उत्‍तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, सिक्किम और बिहार हैं. वहीं, म्‍यांमार के साथ भारत 1,643 किमी सीमा साझा करता है. इस सीमा पर अरुणाचल प्रदेश, नगालैंड, मणिपुर और मिजोरम हैं. भूटान के साथ भारत के संबंध हमेशा बेहतर रहे हैं. भारत के चार राज्‍य सिक्किम, पश्चिम बंगाल, असम और अरुणाचल प्रदेश भूटान के साथ 699 किमी लंबी सीमा साझा करते है. वहीं, भारत और अफगानिस्‍तान के बीच 106 किमी लंबी सीमा है.

नेपाल को उकसाकर दक्षिण एशिया में प्रभाव जमाना चाहता है चीन
भारत और भूटान के संबंध हमेशा अच्‍छे रहे हैं और दोनों के बीच सीमा को लेकर कोई विवाद नहीं है. हालांकि, चीन मौका पाते ही भूटान के इलाकों में दखल करने लगता है. भूटान में एक तबका ऐसा भी है, जो चीन के साथ संबंधों को मजबूत करने की मांग करने लगा है. भारत की ओर से समय-समय पर भूटान को सैन्य सहयोग भी दिया जाता रहा है. साल 2017 में डोकलाम विवाद के दौरान भूटान भारत के साथ मजबूती से खड़ा थाः उस समय विवादित क्षेत्र में भारतीय सैनिकों ने चीन के जवानों को सड़क बनाने से रोक दिया थाः यह गतिरोध 73 दिनों तक चला था. वहीं, नेपाल में भारत के प्रभाव को कम करने के लिए चीन वहां भारी निवेश कर रहा है. माना जाता है कि केपी शर्मा ओली के नेपाल का प्रधानमंत्री चुने जाने के बाद से भारत के हित प्रभावित हो रहे हैं.

बांग्‍लादेश और म्यांमार के बीच बंगाल की खाड़ी में समुद्री सीमा को लेकर विवाद है.
बांग्‍लादेश और म्यांमार के बीच बंगाल की खाड़ी में समुद्री सीमा को लेकर विवाद है.


ब्रिटिश काल की देन है भारत और म्‍यांमार के बीच सीमा विवाद
बांग्‍लादेश के साथ सीमा को लेकर कोई विवाद तो नहीं था लेकिन सही ढंग से सीमांकन की मांग बार-बार होती रही है. दरअसल, रेडक्लिफ रेखा के जरिये हुए बंटवारे में ऐसे बहुत से इलाके रह गए, जिनमें आधा गांव भारत में और आधा तब के पूर्वी पाकिस्‍तान में रह गया था. यहां तक कि कई घर और कुएं तो आधे-आधे दोनों देशों में बंट गए थे. इससे लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना होता है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने पहले कार्यकाल के दौरान बांग्‍लादेश के साथ सीमांकन के मुद्दे को सुलझाने की कोशिश की थी. चीन बांग्लादेश में भी निवेश कर अपना प्रभाव जमाने की कोशिश कर रहा है. यही नहीं, चीन ने बांग्लादेश को सस्ते दर पर 9 अरब डॉलर का कर्ज देने की योजना भी बनाई है. हालांकि, भारत भी बांग्लादेश में निवेश बढ़ा रहा है, जिसे वह अपने प्रभाव वाला क्षेत्र मानता है. म्यांमार के साथ भारत का सीमा-विवाद भी ब्रिटिश-राज की देन है. मणिपुर से लगते कुछ इलाकों को लेकर म्‍यांमार और भारत के बीच विवाद हैं.

अफगानिस्‍तान-पाकिस्‍तान और म्‍यांमार-बांग्‍लादेश में भी सीमा विवाद
अफगानिस्‍तान और पाकिस्तान के बीच सीमा को लेकर विवाद दशकों पुराना है. अफगानिस्‍तान के राजा और ब्रिटिश शासित भारत के विदेश मंत्री सर मोर्टिमर डूरंड के बीच हुए समझौते के बाद अफगानिस्‍तान का कुछ हिस्सा 1893 में ब्रिटिश इंडिया को दे दिया गया था. हालांकि, 1947 में पाकिस्तान के जन्म के बाद कुछ अफगान शासकों ने डूरंड समझौते की वैधता पर ही सवाल उठा दिए. क्षेत्रीय दावों ने दोनों देशों के बीच दुश्मनी के बीज बो दिए, जिसके बाद से दोनों देशों के बीच हालात सामान्‍य नहीं हो सके हैं.

दोनों देशों के बीच तोरखम सीमा को लेकर भी काफी विवाद है. भारत के साथ अच्‍छे संबंधों के कारण भी अफगानिस्‍तान को लेकर पाकिस्‍तान खफा रहता है. भारत ने अफगानिस्तान में अरबों डॉलर की विकास परियोजनाएं शुरू करने के साथ ही सैन्य सहयोग भी बढ़ाया है. बांग्‍लादेश और म्यांमार के बीच भी सीमा को लेकर विवाद काफी पुराना है. दोनों देशों के बीच बंगाल की खाड़ी में समुद्री सीमा को लेकर विवाद है. बांग्‍लादेश-म्यांमार के साथ 320 किमी लंबी सीमा का सामरिक महत्‍व है.

ये भी देखें:

ठीक 100 साल पहले इस 'साइक्‍लोन' ने प्‍लेग महामारी को खत्‍म करने में की थी बड़ी मदद

जानें बार-बार तूफान का शिकार क्यों बनती है बंगाल की खाड़ी?

जानें क्‍या है कोविड-19 का इलाज बताई जा रही साइटोकाइन थेरैपी? कर्नाटक में हो रहा है ट्रायल

क्या होता है सोनिक बूम, जिसकी वजह से घबरा गए बेंगलुरु के लोग

कुछ लोग अधिक, तो कुछ फैलाते ही नहीं हैं कोरोना संक्रमण, क्या कहता है इस पर शोध

 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नॉलेज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 22, 2020, 7:45 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading