लाइव टीवी

जानिए असल में कितने रुपये की है आपकी फेसबुक प्रोफाइल

News18Hindi
Updated: February 6, 2020, 6:28 PM IST
जानिए असल में कितने रुपये की है आपकी फेसबुक प्रोफाइल
अमेरिका में एक औसत फेसबुक प्रोफाइल की कीमत करीब 10,000 रुपए आंकी गई है

हम लोग फेसबुक पर बहुत सी बातों को लाइक करते हैं. अपनी बातें और तस्वीरें उस पर पोस्ट करते हैं. तमाम इवेंट्स में जाने के लिए रजामंदी जाहिर करते हैं. आप फेसबुक पर जो कुछ भी करते हैं, उसके जरिए ये आपको समझता और एडवर्टाइजर्स के लिए आपका खास डेटा तैयार करके उन्हें बेच देता है

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 6, 2020, 6:28 PM IST
  • Share this:
फेसबुक (Facebook) का मुनाफा हर साल के साथ अरबों रुपये बढ़ रहा है. फेसबुक अपना मुनाफा दो तरीके से कमाता है. पहला फेसबुक पर एड और कंटेंट प्रमोशन के जरिए और दूसरा आपके डेटा के जरिए. डेटा के हिसाब से एक अमेरिकी फेसबुक यूजर की फेसबुक प्रोफाइल की कीमत भारतीय रुपयों में 10,000 की कीमत के ऊपर है. ये जानना रोचक होगा कि एक भारतीय यूजर की फेसबुक प्रोफाइल कितने की होगी.

फेसबुक की लोकप्रियता घटी पर बिजनेस पर नहीं पड़ा कोई असर
वर्ष 2018 और 2019 में फेसबुक डेटा प्राइवेसी के तमाम विवादों से घिरा रहा, इसके बावजूद उसने 2019 की अंतिम तिमाही में 6.88 बिलियन डॉलर का मुनाफा कमाया. जिससे उसका कुल मुनाफा 30 फीसदी बढ़कर 16.64 बिलियन तक पहुंच गया. रोज फेसबुक यूज करने वाले यूजर्स और महीने के हिसाब से फेसबुक यूज करने वाले यूजर्स दोनों में ही करीब 9 फीसदी की बढ़ोतरी पाई गई है. अब रोज दो करोड़ फेसबुक यूजर रोज एक्टिव रहते हैं.

फेसबुक पर आप एक डिजिटल प्रॉडक्ट बन चुके हैं

इंटरनेट का गणित समझने वाले जानते हैं कि फेसबुक और उसके जैसी सारी फ्री वेबसाइटें हमारे डेटा के जरिए पैसे कमाती हैं. हमें वेबसाइट तो फ्री में यूज करने को मिलती है, लेकिन यह हमारा सारा डेटा इकट्ठा करती हैं, फिर इस डेटा के जरिए हमारे लिए बने ऐड दिखाकर पैसे कमाती हैं.



हालांकि यह बात सुनते ही आपके मन में एक सवाल जरूर उठ रहा होगा कि अगर फेसबुक हमारे डेटा यानी हमारी डिजिटल इमेज से पैसे कमा रहा है तो इसका (आपकी फेसबुक प्रोफाइल का) असली दाम क्या है? सीधे कहें तो कितने रुपये का है हमारा फेसबुक अकाउंट?मेरे फेसबुक डेटा की पूरी फाइल 940 एमबी की है. मैं पिछले 10 सालों से फेसबुक पर हूं. इस फाइल में वो सारा डाटा है, जिसे मैंने आज तक फेसबुक के साथ शेयर किया है. चाहे वो मेरे बारे में पर्सनल जानकारी हो, मेरी पोस्ट्स हों, तस्वीरें हों या फिर दोस्तों के साथ की गई चैट. इसके अलावा वे इवेंट भी जिनमें जाने का मेरा मन था. साथ ही वह भी जिनमें मैं आखिरी वक्त पर नहीं गया.

यह भी कि मैंने कब शादी की और कब कॉलेज गया? कितने दिन किसी रिलेशनशिप में रहा? यहां तक कि फेसबुक के पास इस बात की जानकारी भी है कि मैंने कब किस लिंक पर या ऐड पर क्लिक किया था? इतने सब के बाद भी मेरे सारे डेटा को एनलाइज करके फेसबुक ने मेरे बारे में कुछ अनुमान भी बना रखे हैं. जिसके चलते वह मुझे वैसी चीजें प्रायरिटी में दिखाता है, भले ही मैं इन चीजों पर क्लिक करूं या नहीं.

अमेरिकी यूजर्स का डेटा औसत फेसबुक यूजर से पांच गुना महंगा है
फेसबुक आपकी सारी पसंद और नापंसद के साथ आपकी पोस्ट की गई सभी गतिविधियों को एनालाइज करके हर किसी का एक खास डेटा तैयार करता है. जिसे सीधे एडवरटाइजर्स को बेचा जा सकता है. अमेरिकी लोगों की फेसबुक प्रोफाइल, आम फेसबुक प्रोफाइल के मुकाबले पांच गुना ज्यादा कीमती हैं.

हर यूजर के जरिए फेसबुक कितने रुपये कमाता है?
पहले फेसबुक की कुल कमाई की बात करते हैं. 30 सितंबर, 2018 तक पिछले 1 साल की फेसबुक की कमाई करीब 52 बिलियन डॉलर थी. जो साल की आखिरी तिमाही में करीब-करीब 55 बिलियन डॉलर तक पहुंच गई है.



इसे अगर एक्टिव यूजर के डेटा से भाग दिया जाए तो एक यूजर के एक साल के डेटा की वैल्यू तो आ जाएगी. लेकिन दुनिया भर के यूजर के डेटा की वैल्यू बराबर नहीं है. क्योंकि जो कंपनियां फेसबुक से यूजर डेटा लेकर उसे एड देती हैं, वे ऐसे यूजर्स का डेटा चाहती हैं जो औसत लोगों के मुकाबले अमीर हों और किसी प्रॉडक्ट का एड देखकर उसे खरीद सके. जैसा कि पहले भी बताया गया कि एक साल पहले एक औसत फेसबुक यूजर के मुकाबले अमेरिकी यूजर का डेटा पांच गुना ज्यादा महंगा था.

क्या है भारतीय यूजर के प्रोफाइल की कीमत
एक साल पहले के रेट से हिसाब लगाएं तो एक अमेरिकी का एक साल का डेटा औसतन 200 डॉलर यानी करीब 14 हजार रुपये का था. वहीं औसत फेसबुक यूजर जिसमें भारतीय भी शामिल हैं, उनका डेटा हुआ करीब 2800 रुपये का हुआ यानी आपकी फेसबुक प्रोफाइल की कीमत हुई करीब 2800 रुपये.

सोशल मीडिया वेबसाइट्स से अलग है विकिपीडिया
अगर फेसबुक आपको इस सोशल साइट पर समय गुजारने के लिए पैसे दे तो शायद आपको हर घंटे के हिसाब से मात्र 6 से 7 रुपये मिलेंगे. हालांकि फेसबुक इसके लिए एक भी पैसा नहीं देता है. लेकिन आपके डेटा से खुद पैसे कमाता है. वैसे ही जैसे गूगल, ट्विटर और ऐसी दूसरी कई सारी कंपनियां कमाती हैं.

ये भी पढ़ें :-

अगर किसी ने आपके खिलाफ लिखवा दी है झूठी FIR तो क्या है बचने का रास्ता
यहां है भगवान राम का ननिहाल, भांजे के रूप में पूजता है पूरा इलाका
केवल 5 रुपये फीस पाने वाले नेहरू के पिता मोतीलाल कैसे बने देश के सबसे महंगे वकील
राममंदिर निर्माण के लिए पहले से जमा है दान में मिली इतनी रकम
क्या है सुन्नी वक्फ बोर्ड, जिसे राममंदिर मामले में 5 एकड़ जमीन दी जा रही है

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नॉलेज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 6, 2020, 5:22 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर