क्यों हर चीज नीचे गिरती है धरती पर, जानिए कैसे काम करता है गुरुत्वाकर्षण

पृथ्वी (Earth) की ओर गिरने के पीछे उसका गुरुत्वाकर्षण बल (Gravitational Force) काम करता है. (प्रतीकात्मक तस्वीर: Pixabay)
पृथ्वी (Earth) की ओर गिरने के पीछे उसका गुरुत्वाकर्षण बल (Gravitational Force) काम करता है. (प्रतीकात्मक तस्वीर: Pixabay)

गुरुत्वाकर्षण (Gravitation) के बारे में हम सब जानते हैं, लेकिन यह कैसे काम (Work) करता है इस पर बहुत ही कम लोगों को ध्यान जाता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 7, 2020, 9:29 PM IST
  • Share this:
कई बार हम अपने बहुत से सवालों (Questions) को बीच में छोड़ देते हैं. ऐसा ज्यादातर लोगों के बचपन में होना अच्छी बात नहीं मानी जाती है. कई बार हमारे सवालों को टाला जाता है तो कभी हमारी जिज्ञासा को दबा दिया जाता है. ऐसे में हमारे अंदर की जानने की प्रवृत्ति को नुकसान होता है जो हमारे विकास (Development) में बाधक होता है. एक सवाल सभी के मन में आता है कि चीजें आखिर नीचे गिरती (Fall) क्यों हैं. बचपन में लगभग सभी लोगों को यह जवाब मिलता है कि पृथ्वी (Earth) सभी चीजों को खींचती है. लेकिन ऐसा क्यों होता है आज हम इस पर चर्चा करेंगे.

गुरुत्वाकर्षण शक्ति है रहस्य
इस सवाल का सीधा जवाब है कि पृथ्वी में एक गुरुत्वाकर्षण शक्ति होती है जिसके कारण हर वस्तु जिसमें कुछ पदार्थ होता है वह पृथ्वी की ओर खिंचती है. 17वीं सदी के उत्तरार्ध में वैज्ञानिक आइजैक न्यूटन ने इस सवाल का जवाब खोजा. यह जानना वाकई रोचक है कि आखिर न्यूटन ने ऐसा क्या खोजा जो हम पहले से नहीं जानते थे या नहीं नहीं जान पाए थे.

गुरूत्वाकर्षण हर जगह
न्यूटन ने ही सबसे पहले गुरुत्वाकर्षण का सार्वभौमिक सिद्धांत (Universal Law) दिया था. उन्होंने बताया था कि मूलतः हर वो वस्तु जिसमें कोई पदार्थ होता है या भार होता है, वह दूसरे भार वाली वस्तु को आकर्षित करती है. यह सिद्धांत न्यूटन ने व्यवहारिक रूप से सिद्ध भी किया. लेकिन यह गुरूत्वाकर्षण का सिद्धांत लागू कैसे होता है यह समझने पर ही इससे संबंधित हमारे सभी सवालों का जवाब मिल सकेगा.



Earth, Gravity, Gravitational force
पृथ्वी (Earth) का भार (Mass) इतना ज्यादा है कि उसके गुरुत्व बल (Gravitational force) के आगे दूसरी वस्तुओं के गुरुत्व बल बहुत छोटे हो जाते हैं. (तस्वीर: Pixabay)


हर वस्तु में है गुरुत्वाकर्षण
अगर न्यूटन की बात सच मानी जाए तो गुरुत्वाकर्षण हर वस्तु में है. ऐसे में मैं अपने मोबाइल को भी आकर्षित करूंगा और मेरा मोबाइल भी मुझे. मेरे घर की दीवारें भी मुझे आकर्षित करेंगी और मैं भी उन्हें. यानी हर चीज एक दूसरे को आकर्षित करेगी तो ऐसा क्यों होता है कि चीजें नीचे की ही ओर गिरती हैं.

Gravity, Gravitational Force, Newton
गुरुत्वाकर्षण (Gravitational Force) के सिद्धांत की व्याख्या न्यूटन (Newton) ने सबसे पहले
दी थी. (प्रतीकात्मक तस्वीर)


भार का है महत्व
इसके लिए हमें पहले गुरूत्वाकर्षण बल को समझना होगा. यह सच है कि हर चीज दूसरी चीज को आकर्षित करती है. मैं, मेरा मोबाइल, दीवार सभी कुछ एक दूसरे को आकर्षित कर रहे हैं, खींच रहे हैं. लेकिन यह प्रभाव इसलिए नजर नहीं आता क्योंकि यह बल बहुत कम होता है. इसी वजह है दो वस्तुओं का भार.

आसमान क्यों दिखाई देता है नीले रंग का

कितना प्रभाव होता है भार का
जिन वस्तुओं के न खिंचने की बात हम करते हैं उनका भार इतना कम होता है कि वह प्रभावी नहीं होता. इसलिए हम अपने आसपास की वस्तुओं को खिंचते नहीं देख पाते है. दो वस्तुओं का खिंचाव उनके भार का गुणा के समानुपातिक होता है. अगर न्यूटन के दिए फार्मूलों में दोनों वस्तुओं के भार और उनके बीच की दूरी  को रखा जाए तो यह बल बहुत ही कम आएगा और उसका व्यवहारिक प्रभाव दिखाई नहीं देगा.

जानिए पक्षियों की तरह क्यों नहीं उड़ सकता इंसान

तो पृथ्वी की ओर खिंच जाती है हर चीज. इसकी वजह है पृथ्वी का भार. पृथ्वी का भार बहुत ही ज्यादा है इसी वजह से हर हल्की चीज भी पृथ्वी की ओर खिंचती है, जबकि बाकी चीजों का प्रभाव हमें दिखाई नहीं देता है. गुरुत्वाकर्षण का प्रभाव से ही पृथ्वी सूर्य का चक्कर लगाती है और बाकी ग्रह भी. और हमारे महासागरों में ज्वार भाटा का असर भी चंद्रमा के गुरुत्वाकर्षण का प्रभाव है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज