जानें क्‍या है स्‍वामित्‍व योजना 2020 और ई-ग्राम स्‍वराज पोर्टल-ऐप से किसको होगा फायदा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ग्रामीण इलाकों के इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर को मजबूती देने वाली योजनाएं शुरू कीं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने आज ग्रामीण क्षेत्रों के इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर को मजबूत करने वाली योजनाएं लांच की हैं. आइए जानते हैं कि इन योजनाओं से ग्रामीणों को कैसे मिलेगा फायदा?

  • Share this:
    कोरोना वायरस संकट के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने सभी ग्राम पंचायतों के लिए दो योजनाएं शुरू कर दी हैं. पंचायती राज दिवस के मौके पर पीएम मोदी ने स्वामित्व योजना 2020 (Swamitva scheme 2020) की शुरुआत करने के साथ ही ग्राम स्वराज पोर्टल और ऐप (E-Gram Swaraj Portal and App) भी लॉन्च किया.

    केंद्र सरकार ने शहरों और गांवों की दूरी को कम करने के लिए ये दो परियोजनाएं शुरू की हैं. इन योजनाओं से देश के ग्रामीण इलाकों के इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूती देने में मदद मिलेगी. इसे पंचायतों के डिजिटलीकरण की शुरुआत के तौर पर देखा जा रहा है. ग्राम स्‍वराज पोर्टल औरर ऐप की मदद से देश के ग्रामीण हर तरह की जानकारी अपने स्‍मार्टफोन पर रख सकेंगे.

    ई-ग्राम स्‍वराज पोर्टल पर होगी ग्राम पंचायत की हर जानकारी
    ई-ग्राम स्‍वराज पोर्टल के जरिये ग्राम पंचायतों की समस्या, उनसे जुड़ी जानकारी एक ही जगह पर उपलब्‍ध हो सकेगी. पीएम मोदी (PM Modi) ने कहा, 'कोरोना संकट (Coronavirus in India) से हमें सबक मिला है कि अब आत्मनिर्भर होना काफी जरूरी है. कोरोना संकट के बीच गांव वालों ने दुनिया को बड़ा संदेश दिया. गांव वालों ने सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) नहीं बल्कि 'दो गज दूरी' का संदेश दिया, जिसने कमाल कर दिया.' पीएम मोदी ने कहा कि बिना आत्मनिर्भरता के कोरोना वायरस से भयंकर संकटों को झेल पाना मुश्किल है. ऐसी मुसीबतों से निपटने में ग्राम पंचायतों की अहम भूमिका होगी, जिससे लोकतंत्र भी मजबूत होगा.

    ई-ग्राम स्‍वराज ऐप की मदद से ग्राम पंचायतों के कामकाज में पारदर्शिता आने के साथ ही परियोजनाओं को पूरा करने के काम में भी तेजी आएगी.


    ई-ग्राम ऐप पर होगा पंचायत के फंड और कामकाज का ब्‍योरा
    ई-ग्राम ऐप के जरिये ग्राम पंचायतों के फंड (Funds), उसके कामकाज की पूरी जानकारी ग्रामीणों को उपलब्‍ध होगी. इससे ग्राम पंचायतों के कामकाज में पारदर्शिता आने के साथ ही परियोजनाओं (Projects) को पूरा करने के काम में भी तेजी आएगी. ई-ग्राम स्वराज ऐप (E-Gram Swaraj App) पंचायतों का लेखाजोखा रखने वाला सिंगल डिजिटल प्लेटफॉर्म होगा.

    ई-ग्राम स्वराज ऐप से पंचायत में होने वाले विकास कार्यों, खर्च होने वाले फंड और आने वाली योजनाओं की जानकारी मिलेगी. इस ऐप के जरिये गांव के हर व्यक्ति को पता होगा कि उसके क्षेत्र में क्या योजना चल रही है. उस पर कितना पैसा खर्च हो रहा है. ये दोनों जान‍कारियां हर ग्रामीण के पास होने से पंचायतों के काम में पारदर्शिता आना तय है.

    स्‍वामित्‍व योजना 2020 के तहत शहरों की ही तरह अब गांवों में भी लोग बैंकों से कर्ज ले सकेंगे.


    स्‍वामित्‍व योजना 2020 से खत्‍म होंगे संपत्ति को लेकर झगड़े
    स्वामित्व योजना 2020 के जरिये ग्रामीण इलाकों में रहने वालों को कई फायदे होंगे. इससे संपत्ति को लेकर भ्रम और झगड़े खत्म हो जाएंगे. इससे गांव में विकास कार्यों की योजना बनाने में मदद मिलेगी. इसके अलावा शहरों की ही तरह अब गांवों में भी लोग बैंकों से कर्ज ले सकेंगे. स्वामित्व योजना के तहत गांवों में ड्रोन से एक-एक संपत्ति की मैपिंग की जाएगी.

    इससे लोगों के बीच झगड़े खत्म हो जाएंगे. साथ ही विकास कार्यों को रफ्तार मिलेगी. वहीं, शहरों की ही तरह ग्रामीण इलाकों में संपत्तियों पर बैंक आसानी से कर्ज दे सकेंगे. अभी स्‍वामित्‍व योजना को उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, कर्नाटक, हरियाणा और उत्तराखंड में ट्रायल के तौर पर शुरू किया जा रहा है. इसके बाद इसे देश के हर गांव में लागू किया जाएगा.

    ये भी देखें:

    पाकिस्‍तान के साथ मिलकर कोरोना वायरस वैक्‍सीन का क्‍लीनिकल ट्रायल करेगा चीन

    कोरोना वायरस से निपटने में महिला लीडर्स ने किया है सबसे बढ़िया काम, कम हुईं मौतें

    कोरोना वायरस संकट के बीच दुनिया पर कैसे हावी हो रहा है चीन, 5 प्‍वाइंट्स में समझें

    जानें 3 से 5 संदिग्‍धों का सैंपल मिलाकर लैब में क्‍यों किया जा रहा है कोरोना टेस्‍ट, क्‍या हैं फायदे-नुकसान

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.