• Home
  • »
  • News
  • »
  • knowledge
  • »
  • दुनिया के वो 10 देश, जहां कोरोना सबसे ज़्यादा जानलेवा है

दुनिया के वो 10 देश, जहां कोरोना सबसे ज़्यादा जानलेवा है

सरकारी अस्पतालों में कोरोना मरीजों के लिए आरक्षित 60 फीसदी बेड खाली पड़े हैं. . (File Photo)

भारत में Covid-19 के कुल कन्फर्म मामले 34 लाख के आसपास पहुंच रहे हैं लेकिन मौतें 61500 से कुछ ज़्यादा हैं. भारत में कोरोना (Covid in India) से प्रति मिलियन आबादी पर मौतों का आंकड़ा काफी कम है, लेकिन एक हफ्ते में यह आंकड़ा जिन देशों में सर्वाधिक दिखा है, उससे साबित हुआ है कि अमेरिका में अब भी स्थितियां नाज़ुक हैं.

  • Share this:
    जहां कोविड 19 का कहर सबसे ज़्यादा जानलेवा हो चुका है, दुनिया के उस हिस्से का नाम कोसोवो रिपब्लिक (Republic of Kosovo) है. चारों तरफ से दूसरे देशों की ज़मीनों से घिरे इस भूभाग (Landlocked Country) में बीते हफ्ते में प्रति दस लाख की आबादी पर 54.2 मौतें औसतन दर्ज हुईं, जो अमेरिकी राज्य कोलंबिया (Columbia) से कुछ ज़्यादा हैं. यानी कोलंबिया दूसरे नंबर पर है. इस हफ्ते की ही नहीं, इस महीने की बात की जाए, तो भी कोसोवो ही इस मामले में अव्व्ल है.

    दुनिया भर में जबकि कोरोना के कुल केसों की संख्या ढाई करोड़ के आसपास पहुंच रही है और 8 लाख 32 हज़ार से ज़्यादा मौतें हो चुकी हैं, तब आपको जानना चाहिए कि दुनिया के किन हिस्सों में कोरोना सबसे ज़्यादा जानें ले रहा है. भारत में मौतों की दर बहुत कम सिर्फ 1.82% फीसदी है, ताज़ा खबरों के मुताबिक रिकवरी रेट 76% हो गई है. लेकिन कोविड से सबसे ज़्यादा जानें जा रही हैं, दुनिया के उन 10 इलाकों में अमेरिकी महाद्वीप के कई देश शामिल हैं.

    लिस्ट में कोसोवो के टॉप होने का मतलब?
    यह बाल्कन देश कोरोना के सबसे जानलेवा स्थानों में टॉप पर है, जहां करीब 18 लाख की आबादी की उम्र 25 साल से भी कम है. यह ट्रेंड विज्ञान के लिए काफी काम का हो सकता है. हालांकि इस देश में पिछले हफ्ते में नए केस आने के नंबर पहले से कम हुए ​हैं. कोसोवो के इस लिस्ट में आने के पीछे कुछ कारणों को समझना ज़रूरी है.

    corona virus updates, covid 19 updates, covid hotspot, corona hotspot, corona fatality rate, कोरोना वायरस अपडेट, कोविड 19 अपडेट, कोविड हॉटस्पॉट, कोरोना हॉटस्पॉट, कोरोना मृत्यु दर
    न्यूज़18 इलस्ट्रेशन


    एक तो ​सर्बिया के साथ सीमा विवाद के चलते लगातार युद्ध में उलझा हुआ यह देश यूरोप के सबसे गरीब देशों में से एक है. दूसरे यह देश उस रकम पर बहुत ज़्यादा निर्भर करता है, जो देश छोड़कर दूसरे इलाकों में काम करने गए लोग भेजते हैं. कुल मिलाकर यहां भ्रष्टाचार इतना फैला हुआ है कि स्वास्थ्य सिस्टम के क्षेत्र में यह देश बहुत पिछड़ा है.

    ये भी पढ़ें :- क्यों कुछ देश वैक्सीन के लिए होना चाहते हैं 'आत्मनिर्भर'?

    एक बड़ा कारण यह भी है कि यहां कोरोना के बढ़ जाने के पीछे राजनीतिक फैसलों का हाथ रहा. जैसा कि कई देशों में देखा गया कि संक्रमण को लेकर सरकारों ने समय पर उचित कदम उठाने में लापरवाही दिखाई. विशेषज्ञों ने कोसोवो की नीतियों और आंतरिक राजनीति को ज़िम्मेदार ठहराते हुए माना है कि जल्दी सही कदम नहीं उठाए गए. यहां रोज़ कोरोना टेस्ट के नंबर बढ़ाने के लिए भी कोशिशें की जा रही हैं.

    अमेरिकी महाद्वीप के देश अब भी हॉटस्पॉट
    कोरोना से सबसे ज़्यादा औसतन मौतों के मामले में कोसोवा के बाद कोलंबिया दूसरे नंबर पर है, जहां 50.4 मौतें प्रति दस लाख आबादी पर हुईं. कोलंबिया के अलावा, अर्जेंटीना, ब्राज़ील, मेक्सिको और चिली जैसे कुछ और दक्षिण अमेरिकी देश भी इस मामले में 10 देशों की लिस्ट में शामिल हैं. अर्जेंटीना और ब्राज़ील में 30 और मेक्सिको व चिली में 20 से ज़्यादा मौतें प्रति मिलियन आबादी पर हुई हैं.

    ये भी पढ़ें :-

    क्यों कुछ राज्यों में भारी बारिश और बाढ़ से हो रही है तबाही?

    महामारी-नस्लीय हिंसा: अमेरिका में 100 साल बाद कैसे दोहराया गया इतिहास?



    इनके अलावा, बोलिविया, पेरू, रोमानिया और पनामा चार देश और हैं, जहां कोरोना सबसे ज़्यादा जानलेवा नज़र आया है. एक अंतर्राष्ट्रीय समाचार एजेंसी की रिपोर्ट में कहा गया है कि 26 अगस्त तक पिछले सात दिनों में औसतन सबसे ज़्यादा मौतों के मामले में बोलिविया तीसरे नंबर पर रहा है, जबकि टॉप टेन लिस्ट में चिली सबसे आखिर में है.

    इस लिस्ट ने एक बार फिर साबित कर दिया है कि अमेरिकी देशों में अब भी कोरोना वायरस को लेकर बेहद चिंताजनक स्थिति बनी हुई है. अमेरिका के अलावा यूरोप में भी नए हॉटस्पॉट और गंभीर स्थितियों वाले इलाके सामने आ रहे हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज