Birthday Special: जयललिता का पहला क्रश था ये भारतीय कप्‍तान, दो पसलियां टूटने के बाद भी लार्ड्स में जड़ डाले थे 81 रन

Birthday Special: जयललिता का पहला क्रश था ये भारतीय कप्‍तान, दो पसलियां टूटने के बाद भी लार्ड्स में जड़ डाले थे 81 रन
तमिलनाडु की पूर्व सीएम और एआईएडीएमके नेता जे. जयललिता ने बताया था कि उनके पहले क्रश भारतीय टेस्‍ट टीम के पूर्व कप्‍तान नरी कांट्रेक्‍टर थे.

भारतीय टेस्‍ट टीमके सबसे कम उम्र के कप्‍तान रहे नरीमन जमशेदजी कांट्रेक्‍टर (Nariman Jamshedji Contractor) को कानपुर में पाकिस्‍तान से हुए एक मैच से पहले हारने पर जान से मारने की धमकी मिली थी. वेस्‍टइंडीज (West Indies) के खिलाफ बारबाडोस में एक मैच के दौरान सिर पर गेंद लगने से आई चोट के कारण उनका करियर खत्‍म हो गया.

  • Share this:
नई दिल्‍ली. भारतीय क्रिकेट आज नई ऊचाइयों पर पहुंच चुका है. क्रिकेट खेलने वाला हर देश टीम इंडिया (Team India) को मजबूत प्रतिद्वंद्वी मानता है. हालांकि, आजादी के पहले और स्‍वतंत्रता के काफी समय बाद तक टीम इंडिया अमूमन अपने मैच या तो हार जाती थी या ड्रा करवाने की कोशिश करती रहती थी. इसी बीच 2 दिसंबर 1955 को नरीमन जमशेदजी कांट्रेक्‍टर (Nariman Jamshedji Contractor) उर्फ नरी कांट्रेक्‍टर ने न्‍यूजीलैंड (New Zealand) के खिलाफ पहला मैच खेला.

नरी कांट्रेक्‍टर ने 1960-61 में पाकिस्‍तान (Pakistan) के खिलाफ मैच से टीम इंडिया की कमान संभाली. एक साल बाद उनकी कप्‍तानी में भारत ने इंग्‍लैंड (England) के खिलाफ पहली टेस्‍ट सीरीज जीत दर्ज की. इसके बाद उनके प्रशंसकों में आम से लेकर खास तक शामिल हो गए. तमिलनाडु की कद्दावर नेता एआईएडीएमके (AIADMK) की पूर्व अध्‍यक्ष जयललिता (J. Jayalalitha) ने एक इंटरव्‍यू के दौरान बताया था कि नरी कांट्रेक्‍टर उनके पहले क्रश (First Crush) थे. हालांकि, कांट्रेक्‍टर का क्रिकेट करियर एक चोट के कारण बहुत जल्‍द खत्‍म हो गया.

चार्ली ग्रिफिथ की गेंद सिर में लगी और खत्‍म हो गया करियर
वेस्टइंडीज और भारत के बीच 1962 में बारबाडोस में टेस्ट मैच खेला जा रहा था. नरी कांट्रेक्‍टर दिलीप सरदेसाई के साथ बैटिंग कर रहे थे. वेस्‍टइंडीज के तेज गेंदबाज चार्ली ग्रिफिथ (Charlie Griffith) गेंदबाजी कर रहे थे. नरी कांट्रेक्टर के समय बल्लेबाजों की सुरक्षा के बेहतर उपाय नहीं होते थे. ऐसे में तेज गेंदबाजों को फेस करते समय बैट्समैन को चोट लगने की आशंका बनी रहती थी. हुआ भी कुछ ऐसा ही. चार्ली की तेज रफ्तार बाउंसर सीधे नरीमन के सिर में लगी. उस समय वह दो रन बनाकर खेल रहे थे. सिर की चोट (Head Injury) इतनी गंभीर थी कि नरीमन 6 दिन तक बेहोश रहे. उन्‍हें बचाने के लिए डॉक्‍टरों को सिर की कई सर्जरी करनी पड़ीं. जब उन्‍हें होश आया तो उनका क्रिकेट करियर खत्‍म हो चुका था. उन्होंने चोट के बाद बताया था कि जब गेंद लगी तो मैं पूरी तरह ब्लैंक हो गया था. जब मैं जागा तो सब खत्‍म हो चुका था.
बारबाडोस में खेले जा रहे मैच के दौरान वेस्‍टइंडीज के तेज गेंदबाज चार्ली ग्रिफिथ की बाउंसर सिर में लगने के बाद नरी कांट्रेक्‍टर का क्रिकेट करियर खत्‍म हो गया.




पाकिस्‍तान से मैच में मिली थी जान से मारने की धमकी
पाकिस्‍तानी क्रिकेट टीम 1960 में भारत दौरे पर आई थी. इसी दौरान दूसरे मैच के लिए भारतीय टीम कानपुर (Kanpur) पहुंची. पंजाब मेल ने शाम साढ़े 6 बजे टीम को कानपुर स्टेशन पर उतारा. अंधेरा होते-होते टीम इंडिया होटल पहुंची. टीम के प्‍लेयर्स ने होटल में पहुंचकर फैंस के ग्रीटिंग कार्ड्स और मेसेज देखना शुरू कर दिए. कप्‍तान नरी कांट्रेक्‍टर ने एक कार्ड उठाया. इसमें लिखा था कि मैं आपका बहुत बड़ा फैन हूं. मैं पूरी टीम का बड़ा प्रशंसक हूं. हालांकि, इस ग्रीटिंग कार्ड की आखिरी लाइन चौंकाने वाली थी. इसमें उस प्रशंसक ने कांट्रेक्‍टर को सीधे धमकी (Life Threat) थी. उसने लिखा था, 'याद रखिएगा कि आप पाकिस्तान (Pakistan) के खिलाफ मैच खेल रहे हैं. अगर जीत नहीं सकते तो हर हाल में मैच ड्रॉ करवा लीजिएगा. अगर आप हारे तो मैं आपकी जान ले लूंगा.'

जयललिता ने स्‍वीकार किया था, कांट्रेक्‍टर ही थे पहले क्रश
तमिलनाडु की पूर्व मुख्‍यमंत्री और एआईएडीएमके (AIADMK) की कद्दावर नेता जे. जयललिता को क्रिकेट भी काफी पसंद था. बॉलीवुड अभिनेत्री सिमी ग्रेवाल (Simi Garewal) को दिए एक इंटरव्‍यू में उन्‍होंने स्‍वीकार किया था कि उनका पहला क्रश नरी कांट्रेक्‍टर ही थे. उन्‍होंने बताया था कि स्‍कूल के दिनों में वह टीम इंडिया के पूर्व कप्‍तान नरी कांट्रेक्‍टर की बड़ी फैन थीं. वह उनके मैच देखने के लिए स्‍टेडियम जाती थीं. उन्‍होंने कहा कि वह सिर्फ नरी कांट्रेक्‍टर को देखने के लिए स्‍टेडियम जाती थीं. इस दौरान उन्‍होंने बताया कि वह क्रिकेटर मंसूर अली खां पटौदी की प्रशंसक थीं. नरी कांट्रेक्‍टर ने बतौर कप्तान भारत के लिए 12 टेस्ट मैच खेले थे. इस दौरान भारत को 2 टेस्ट में जीत, 2 में हार मिली थी. उनकी कप्‍तानी में भारत ने 8 टेस्ट ड्रॉ कराए थे.



भारत को इंग्‍लैंड के खिलाफ जिताई पहली टेस्‍ट सीरीज
गुजरात के गोधरा (Godhara) में 7 मार्च 1934 को जन्‍मे नरी कांट्रेक्‍टर ने टीम इंडिया के लिए 31 टेस्‍ट मैच खेले थे. बाएं हाथ के बल्‍लेबाज कांट्रेक्‍टर ने दिसंबर, 1955 में न्‍यूजीलैंड (New Zealand) के खिलाफ बंबई में टेस्‍ट करियर का आगाज किया. उन्‍होंने 1959 में लॉर्डस (Lord's) में पहली पारी के दौरान दो पसलियां (Ribs) टूटने के बाद भी 81 रनों की पारी खेली. उसी साल कानपुर में दूसरी पारी में नरी के 74 रन की बदौलत भारत ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहला टेस्ट मैच जीता. उन्‍हीं के नेतृत्व में टीम इंडिया ने 1961-62 में इंग्लैंड (England) के खिलाफ पहली टेस्ट सीरीज जीती. इस सीरीज का पहला मैच बंबई में ड्रा रहा. कानपुर-दिल्ली में खेले गए दूसरे और तीसरे टेस्ट मैच भी ड्रॉ रहे. कलकत्ता में खेला गया चौथा मैच भारत ने 187 रन से जीता. मद्रास में पांचवे मैच में कांट्रेक्‍टर ने 86 और पटौदी ने 103 रन बनाए. नरी की कप्‍तानी में भारत ने ये मैच 127 रन से जीता.

भारत के सबसे कम उम्र के कप्‍तान बने थे कांट्रेक्‍टर
नरी कांट्रेक्‍टर ने 31 टेस्‍ट मैचों (Test Match) में 31.58 के औसत से 1,611 रन बनाए. इसमें एक शतक (Century) और 11 अर्धशतक (Half Century) शामिल थे. नरी का सर्वोच्‍च स्‍कोर 108 रन रहा. पार्ट टाइम गेंदबाजी करते हुए उन्होंने 10 मैच में एक विकेट भी अपने नाम किया. घरेलू क्रिकेट में नरी कांट्रेक्‍टर ने 8,000 से ज्‍यादा रन बनाए, जिसमें 22 शतक शामिल थे. नरी को वर्ष 2007 में प्रतिष्ठित सीके नायडू अवार्ड से भी सम्‍मानित किया गया. उन्‍होंने महज 26 साल की उम्र में पाकिस्‍तान के खिलाफ मैच से टीम इंडिया की कमान संभाली और भारत के सबसे उम्र के कप्‍तान बने. दिल्ली में वेस्टइंडीज के खिलाफ 1958-59 में 92 रन की पारी खेलकर नरी ने सनसनी मचा दी थी.

ये भी पढ़ें:

कोरोना वायरस की जांच में कितने कारगर हैं हवाईअड्डों पर लगाए गए थर्मल स्‍कैनर

न्‍यूटन ने की थी 2060 में दुनिया के अंत की भविष्‍यवाणी, जानें कैसे की थी विनाश के वर्ष की गणना

अल्‍बर्ट आइंस्‍टीन के पसंदीदा खिलौने की आज होगी नीलामी, जानें कौन सा है यह गेम और किसने किया ईजाद

ये जीव बूढ़ा होने या खतरा महसूस करने पर खुद को मारकर मृत शरीर से बना लेता है अपना क्‍लोन
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading