चीन क्‍यों बंद कर रहा है कोरोना वायरस के मरीजों का इलाज करने के लिए खोले गए अस्‍पताल?

चीन क्‍यों बंद कर रहा है कोरोना वायरस के मरीजों का इलाज करने के लिए खोले गए अस्‍पताल?
चीन में पिछले कुछ दिन से कोरोना वायरस के नए मरीज सामने आ रहे हेंं. ऐसे में चीन ने अवैध तरीके से लौट रहे अपने नागरिकों की सूचना देने पर इनाम की घोषणा कर दी है.

चीन में कोरोना वायरस (Coronavirus) के नए मामलों की संख्‍या लगातार घटती जा रही है. वुहान (Wuhan) को छोड़कर किसी दूसरे शहर से नए मामले सामने नहीं आ रहे हैं. वुहान में सोमवार को 40 नए मामले सामने आए थे, जबकि आज पूरे देश में अब तक 18 नए मामले सामने आए हैं. ऐसे में चीन कोरोना वायरस के इलाज के लिए बनाए गए अस्‍थायी अस्‍पताल बंद कर रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 12, 2020, 5:54 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. दुनिया भर में कहर बरपा रहे कोरोना वायरस (Coronovirus) की शुरुआत चीन में हुवेई प्रांत के वुहान (Wuhan) शहर से हुई. इस वायरस की चपेट में सबसे ज्‍यादा 80,796 लोग चीन में ही आए हैं. इसके अलावा चीन समेत पूरी दुनिया में अब तक 1,27,771 संक्रमित हो चुके हैं. इनमें 4,716 लोगों की मौत हो चुकी है. चीन में अब भी रोज वायरस संक्रमित नए मामले (New Cases) सामने आ रहे हैं. हालांकि, इनकी संख्‍या घटती जा रही है. अकेले चीन में अब तक 3,180 लोगों की इस वायरस की जद में आने से मौत (Killed) हो चुकी है. बावजूद इसके चीन ने पिछले कुछ दिनों में दर्जनों ऐसे अस्‍पताल बंद कर दिए हैं, जिन्‍हें खासतौर पर कोरोना वायरस के इलाज के लिए ही तैयार किया गया था.

दो दिन पहले वुहान में बंद किए 11 अस्‍थायी अस्‍पताल
चीन में कोरोना वायरस के इलाज के लिए बनाए गए अस्‍थायी अस्‍पतालों (Temporary Hospitals) को बंद करने के कई कारण सामने आए हैं. सबसे पहला, वहां हर दिन नए मामलों की संख्‍या घटती जा रही है. आज चीन में अब तक 18 नए मामले सामने आए हैं, जबकि कोरोना वायरस के संक्रमण (Infection) की शुरुआत में हर दिन चीन में सैकड़ों मामले सामने आ रहे थे. वहीं, 8 मार्च के बाद वुहान को छोड़कर चीन के किसी शहर से नए मामले सामने नहीं आ रहे हैं. चीन ने दावा किया है कि उसने कोरोना वायरस पर काबू पा लिया. दो दिन पहले अकेले वुहान में 11 अस्‍थायी अस्‍पताल बंद कर दिए गए.

चीन ने कोरोना वायरस के 60 हजार से ज्‍यादा मरीजों को ठीक कर लिया है.

100 साल के बुजुर्ग को पूरी तरह ठीक कर भेजा घर


चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग (NHC) ने दो दिन पहले बताया था कि देश में 40 नए मामलों की पुष्टि हुई है. इनमें 36 वुहान में पाए गए, जबकि चार मामले गांसू प्रांत में मिले. चारों लोग ईरान (Iran) से लौटे थे. वहीं चीन की सरकार ने आगाह किया है कि निगरानी और रोकथाम को बनाए रखने की जरूरत है. इसके अलावा चीन (China) में 100 साल के एक बुजुर्ग को कोरोना वायरस से पूरी तरह ठीक कर लिया गया है. उन्हें 24 फरवरी को हुवेई प्रांत के अस्पताल में भर्ती कराया गया था. वह अल्जाइमर, हाई ब्‍लडप्रेशर और हृदय रोग के मरीज थे. ऐसे संक्रमित व्‍यक्ति को ठीक करने को चीन बड़ी उपलब्धि मान रहा है.

चीन ने सबसे ज्‍यादा संक्रमित मरीजों को किया ठीक
दुनिया भर में कोरोना वायरस के मरीज लगातार ठीक कर घर लौटाए जा रहे हैं. अब तक पूरी दुनिया में 1.27 लाख से ज्‍यादा लोग कोरोना वायरस की चपेट में आ चुके हैं. वर्ल्‍डोमीटर की रिपोर्ट के मुताबिक, इनमें 68,335 संक्रमित मरीजों का इलाज कर पूरी तरह ठीक कर लिया गया है. ये लोग अब अपने घरों को लौट चुके हैं. इनमें भी 62,813 मरीज चीन में ही ठीक किए गए हैं. इस समय चीन में कोरोना वायरस के 4,257 मरीजों की हालत गंभीर बनी हुई है. यानी चीन बड़ी हद तक वायरस पर काबू कर चुका है. चीन के बाद सबसे ज्‍यादा 12,462 संक्रमित इटली में पाए गए हैं. इनमें 827 की मौत हो चुकी है. इटली की स्थिति चीन से ज्‍यादा गंभीर इसलिए मानी जा सकती है क्‍योंकि यहां सिर्फ 1,045 लोगों को ही ठीक किया जा सका है्

ये भी पढ़ें:

क्‍या HIV/AIDS की दवा से ठीक होकर घर लौट रहे हैं Coronavirus के मरीज

किस हाल में हैं कांग्रेस छोड़ बीजेपी का दामन थामने वाले नेता

WHO ने कोरोना वायरस को घोषित किया 'पैनडेमिक', एपिडेमिक से कैसे है अलग और क्‍या पड़ेगा फर्क
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज