लाइव टीवी

जानें कोरोना वायरस फैलने के बीच डब्ल्यूएचओ ने क्यों कहा, पत्ता गोभी से रहें दूर

News18Hindi
Updated: April 3, 2020, 9:03 PM IST
जानें कोरोना वायरस फैलने के बीच डब्ल्यूएचओ ने क्यों कहा, पत्ता गोभी से रहें दूर
जब भी पत्ता गोभी बनाएं उसे अच्‍छी तरह से जरूर धो लें.

सोशल मीडिया (Social Media) पर वायरल हो रहे एक मैसेज में किए गए दावे के मुताबिक, विश्‍व स्‍वाास्‍थ्‍य संगठन (WHO) ने कहा है कि कोरोना वायरस (Coronavirus) पत्ता गोभी पर सबसे ज्यादा देर तक जिंदा रह सकता है. ऐसे में पत्‍ता गोभी (Cabbage) या उससे बनी हुई चीजें खाने से संक्रमण हो सकता है. जानें सच...

  • Share this:
कोरोना वायरस (Coronavirus) फैलने के साथ ही सोशल मीडिया पर इससे बचाव को लेकर कई तरह के दावे और उपाय भी वायरल होने लगे. कुछ वायरल मैसेज में दावा किया गया कि पानी पीने और गरम पानी से गरारे करने पर कोरोना वायरस से बचाव होता है. ये दावे गलत निकले. इसी बीच कुछ मैसेज में बताया गया कि शराब पीने से बचाव हो सकता है. ये दावा भी गलत था. फिर विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन (WHO) समेत कई स्‍वास्‍थ्‍य विशेषज्ञों के नाम से मैसेज वायरल (Viral Message) होने लगे. ऐसे ही एक वायरल मैसेज के मुताबिक, डब्‍ल्‍यूएचओ ने कहा है कि कोरोना वायरस पत्‍ता गोभी (Cabbage) पर सबसे ज्‍यादा देर तक जिंदा रह सकता है. इसलिए पत्‍ता गोभी और इससे बनी चीजों से दूर रहें.

दावा - पत्‍ता गोभी पर 30 घंटे से ज्‍यादा जिंदा रहता है कोरोना
मैसेज में कहा गया है कि डब्ल्यूएचओ के मुताबिक कोरोना वायरस पत्ता गोभी पर 30 घंटे से भी ज्यादा देर तक जिंदा रह सकता है. इस मैसेज के वायरल होने के बाद खुद डब्‍ल्‍यूएचओ ने बताया कि यह दावा सच नहीं है. वहीं, भारत सरकार की समाचार एजेंसी प्रेस इंफॉर्मेशन ब्‍यूरो (PIB) के मुताबिक सोशल मीडिया पर किया जा रहा यह दावा बेबुनियाद है. ब्‍यूरो ने कहा कि डब्‍ल्‍यूएचओ ने ऐसी कोई भी रिपोर्ट जारी नहीं की है. लोग ऐसी जानकारियों से भ्रमित न हों. वायरल पोस्‍ट में लिखा गया था कि डब्‍ल्‍यूएचओ की रिपोर्ट के अनुसार जहां बाकी सतहों पर यह वायरस 9-12 घंटे जिंदा रहता है.

दावा किया गया है कि डब्‍ल्‍यूएचओ के मुताबिक, पत्ता गोभी की परतों में यह 30 घंटे से ज्‍यादा देर तक ठहर सकता है. हालांकि, डब्‍ल्‍यूएचओ की कुछ रिपोर्ट्स में पत्तागोभी में टेपवॉर्म का लार्वा पाए जाने की बात की गई है. ठीक से पकाए बिना खाने पर ये शरीर में पहुंचकर बीमार कर सकता है. इस बारे में स्‍वास्‍थ्‍य विशेषज्ञों का मानना है कि अगर पत्‍ता गोभी संक्रमित हो गई है तो ये कोरोना वायरस को आगे फैला सकती है. इसलिए बेहतर होगा कि पत्‍ता गोभी बनाने से पहले गरम पानी से धो लें और अपने हाथों को सही से सैनेटाइज कर लेना चाहिए. वहीं, अधपकी पत्‍ता गोभी नहीं खानी चाहिए.



स्‍वास्‍थ्‍य विशेषज्ञों के मुताबिक, बेहतर होगा कि पत्‍ता गोभी और उससे बनी चीजों को अच्‍छे से पका कर ही खाएं.




बेकरी में बने आइटम्‍स से भी फैल सकता है कोरोना वायरस
इसके अलावा डब्ल्यूएचओ के नाम से ही एक और एडवाइजरी वायरल हो रही है. इसमें लोगों से बेकरी में बनी चीजें नहीं खरीदने की अपील की गई है. दावा किया गया है कि बेकरी आइटम्स वॉशेबल नहीं होते. इसलिए यह आपको संक्रमण का शिकार बना सकते हैंः डब्ल्यूएचओ के नाम से वायरल एडवाइजरी में लिखा है कि बेकरी आइटम्स खाना बंद करो. सख्ती से यह सलाह दी जाती है कि बेकरी आइटम न खाएं क्योंकि चे वॉशेबल (धोने योग्य) नहीं हैंः ये आसानी से संक्रमण फैला सकते हैं. जानकारी जुटाने की कोशिश में पता चला कि डब्‍ल्‍यूएचओ ने ऐसी कोई एडवाइजरी जारी नहीं की है. अभी तक ऐसा कोई भी प्रमाण सामने नहीं आया है, जिससे साबित हो कि बेकरी आइटम्स आसानी से संक्रमण फैला सकते हैं.

डब्‍ल्‍यूएचओ ने बेकरी आइटम्‍स को लेकर कोई एडवाइजरी जारी नहीं की है.


फूड पैकेजिंग से भी संक्रमण फैलने के नहीं मिले कोई सबूत
यूनाइटेड स्टेट्स फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन के मुताबिक, अभी तक फूड और पैकेजिंग से कोरोना वायरस के फैलने का कोई सबूत नहीं मिला है. हालांकि, अगर किसी सरफेस या चीज पर पहले से ही वायरस हो और आप उसे छूने के बाद बिना धोऐ अपने हाथ मुंह, आंख, नाक पर लगा लेते हैं तो आप संक्रमण का शिकार हो सकते हैं. सेंटर्स फॉर डिजीज एंड प्रिवेंशन (CDC) की रिपोर्ट के मुताबिक, सरफेस पर कोरोना वायरस बहुत लंबे समय तक जिंदा नहीं रह पाता है. इसलिए फूड प्रोडक्ट्स और पैकेजिंग पर भी इसके रहने का खतरा कम है क्योंकि ये अलग-अलग तापमान से गुजरते हैं.

ये भी देखें:

क्या वाकई उत्तर कोरिया में नहीं फैला कोरोना वायरस, जानें क्या है सच्चाई

Coronavirus: लॉकडाउन के चलते पूरी दुनिया में जमकर देखी जा रही हैं पॉर्न वेबसाइट्स

Coronavirus: जानें वैज्ञानिक कैसे खुद को संक्रमण से बचाकर करते हैं रिसर्च

Coronavirus: आइसोलेशन के तरीकों में स्वीडन का जवाब नहीं, जानें अब तक क्‍यों नहीं किया लॉकडाउन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नॉलेज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 3, 2020, 8:54 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading