सियासी हलचलः RSS ने BJP को दी ये सलाह, बताया- कौन दिलाएगा लोकसभा चुनाव 2019 में जीत

क्या इस बार मायावती और अखिलेश यादव लड़ेंगे लोकसभा 2019 चुनाव, जानिए

News18Hindi
Updated: March 17, 2019, 1:15 PM IST
सियासी हलचलः RSS ने BJP को दी ये सलाह, बताया- कौन दिलाएगा लोकसभा चुनाव 2019 में जीत
क्या इस बार मायावती और अखिलेश यादव लड़ेंगे लोकसभा 2019 चुनाव, जानिए
News18Hindi
Updated: March 17, 2019, 1:15 PM IST
लोकसभा चुनाव 2019 के बाबत करीब सभी अखबारों ने अलग से पूरे पन्ने की कवरेज शुरू कर दी है. हालांकि फिलहाल ज्यादातर अखबार दिनभर की अपाधपी को पन्ने पर जगह दे रहे हैं. द टाइम्स ऑफ इंडिया ने कुछ खबरें राजनेताओं के बयानबाजी और पार्टियों के धमा-चौकड़ी के इतर भी प्रकाशित की हैं.  टीओई ने आज एक भारत के पहले वोटर की कहानी प्रकाशित की है, जिन्होंने 33 साल की उम्र में पहला वोट डाला था, लेकिन अब तक वे 17 लोकसभा चुनाव के लिए वोट डाल चुके हैं. अब उनकी उम्र 101 साल है. उनका नाम श्याम शरण नेगी है और वे हिमाचल प्रदेश के रहने वाले हैं. लेकिन ज्यादातर अखबारों की सुर्खियां इन खबरों के इर्द-गिर्द हैं.

मायावती-अखिलेश लड़ेंगे चुनाव?
#मायावती और अखिलेश यादव फिलहाल जन-प्रतिनिधि के तौर किसी खास क्षेत्र का नेतृत्व नहीं करते. दोनों ही अपनी पार्टी के प्रमुख हैं. दोनों ही पार्टियों को इनके चेहरे पर वोट मिलते हैं. लेकिन सीधे तौर पर दोनों चुनाव लड़ने से बचते रहे हैं. द टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट में ऐसे अंदेशे लगाए गए हैं कि आगामी चुनाव में भी ये दोनों नेता किसी सीट पर सीधे चुनाव नहीं लड़ेंगे. बल्कि अपने प्रतिनिधियों के लिए लोगों से वोट मांगेंगे.

#बिहार की बेगूसराय सीट पर इस बार बड़ा दिलचस्प और चुनौतीपूर्ण मुकाबला देखने को मिल सकता है. क्योंकि भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने अपने पांच केंद्रीय मंत्रियों को चुनाव में उतारने का मन बनाया है. इनमें चार तो अपनी-अपनी लोकसभा सीट से ही चुनाव लड़ेंगे. लेकिन केंद्रीय मंत्री रहे गिरिराज सिंह को बेगूसराय सीट से टिकट दिया जा सकता है. यहां पहले से ही जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) के चर्चित छात्र नेता कन्हैया कुमार ने चुनाव लड़ने की घोषणा कर रखी है. द टाइम्स ऑफ इंडिया ने इस पहलू को उजागर करते हुए एक खबर प्रकाशित की है.

दिग्विजय सिंह को कमलनाथ का चैलेंज


#मध्य प्रदेश की राजनीति एक बार फिर से कांग्रेस शीर्ष नेताओं में बयानबाजियों के दौर शुरू हो गए हैं. विधानसभा चुनाव के दौरान लगातार ऐसी खबरें आती रहीं कि कमलनाथ, ज्योतिरादित्य सिंधिया और दिग्‍विजय सिंह में टसल रहती है. अब लोकसभा चुनावों के ऐन पहले कमलनाथ ने कहा कि अगर दिग्‍विजय सिंह चुनाव लड़ना चाहते हैं तो उन्हें एमपी की सबसे कठिन सीटों पर चुनाव लड़ना होगा.

दुनिया भर में इस्लाम के खिलाफ उभर रहे हैं जो आतंकवादी उनके बारे में जानिए
Loading...

# द हिन्दू की एक खबर के अनुसार कमलनाथ ने कहा है, "दिग्‍विजय सिंह को प्रदेश की उन तीन-चार सीटों का नाम चुन लेना चाहिए जहां पार्टी ने बीते 30 सालों से जीत दर्ज नहीं की है. फिर वहां जीत कर दिखाना चाहिए."

दिग्गज बीजेपी नेता के बेटे कांग्रेस में शामिल
# इंडियन एक्सप्रेस ने बिहार महागठबंधन में चल रही तनातनी में जीतनराम मांधी के उस बयान को जगह दी है, जिसमें उन्होंने कहा कि उपेंद्र कुशवाहा से कम एक सीट पर वे नहीं मानेंगे. जबकि यूपी में नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू के तीन सीटों पर चुनाव लड़ने की जानकारी को भी प्रमुखता से छापा है.

न्यूजीलैंड में मारे गए ज्यादातर मुसलमानों का रिश्ता भारत से क्यों

# इंडियन एक्सप्रेस ने आज इस खबर को भी जगह दी है कि पूर्व उत्तराखंड सीएम व दिग्गज बीजेपी नेता बीसी खंडूरी के बेटे खंडूरी ने कांग्रेस ज्वाइन कर ली है. वे अपने पिता की पौड़ी सीट से चुनाव लड़ सकते हैं. इसके अलावा उत्तराखंड में राहुल गांधी की रैली को प्रमुखता से प्रकाशित किया गया है.

RSS ने उन राज्यों पर गड़ाई नजर, जहां 2014 में पिछड़ गई थी बीजेपी
# हिन्दूस्‍तान टाइम्स आज एक खबर प्रमुखता से छापी है, जिसमें ये दावा किया गया है कि इस वक्त राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (RSS) उन सभी प्रदेशों में जमकर काम कर रहा है जहां पिछले आम चुनाव में पिछड़ गई थी.

# इसी खबर में आगे यह भी बताया गया है कि आरएसएस ने बीजेपी को 2019 चुनाव जीतने के लिए कुछ बहुत अहम मंत्र दिए हैं. इनमें सबसे बड़ा मंत्र यह है कि आगामी चुनावी गतिविधियों में ग्रामीण वोटर का बीजेपी को खास खयाल रखना चाहिए है.

# आरएसएस के मुताबिक अगर बीजेपी को 2019 का चुनाव जीतना है कि तो उसे शहरी मतदाताओं के तुलना में ग्रामीण मतदाताओं पर अधिक ध्यान देने की जरूरत है. आरएसएस ने अपने अंदरूनी सर्वे के आधार पर ऐसा आकलन किया है कि बीते पांच सालों में स्थितियां काफी बदल गई हैं. अब बीजेपी शहरी और उच्च जाति वाली पार्टी नहीं रह गई है. बल्कि बीजेपी को जिताने में ज्यादा महती भूमिका अबकी ग्रामीण मतदाता कर सकते हैं.

सबसे पुराने डायनासोर के अंडों के बारे में आप क्या जानते हैं
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...