लाइव टीवी

जब भारतीय राजा विदेशी डांसर पर मर मिटा, छठी रानी बनाने को ससुर को यूं किया खुश

Sanjay Srivastava | News18Hindi
Updated: March 19, 2020, 4:29 PM IST
जब भारतीय राजा विदेशी डांसर पर मर मिटा, छठी रानी बनाने को ससुर को यूं किया खुश
स्पेनी सुंदरी अनिता

कपूरथला के महाराजा एक शादी में शामिल होने के लिए स्पेन गए थे. वहां जब उन्होंने एक कैबरे डांसर को देखा तो उसे देखते ही रह गए. उसका डांस तो उनपर बिजलियां गिराने वाला साबित हुआ. लेकिन उसके पिता ने जब शादी से इनकार कर दिया तो क्या हुआ

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 19, 2020, 4:29 PM IST
  • Share this:
आजादी से पहले भारतीय महाराजाओं और महारानियों के इतने किस्से प्रचलित हैं कि हैरानी होती है कि राजघराने के लिए ये लोग अपना जीवन कैसे बिताते थे. कपूरथला के महाराजा जगतजीत सिंह का दिल स्पेन में एक कैबरे डांसर पर आ गया. वो उस पर इतना मोहित हो गया कि उससे प्यार करने लगा. तमाम अड़चनों के बाद भी महाराजा उससे शादी करने में कामयाब तो हो गया. उसे उसने अपनी छठी रानी बनाया. बाद में दोनों के रिश्तों में दूरियां आ गईं.

दरसअल कपूरथला के महाराजा जगतजीत सिंह ने जब स्पेन की सुंंदर अनिता डेलगाडो से शादी की तो उनकी ये शादी देशभर में काफी सुर्खियां बटोरने लगा. राजा को 1906 में स्पेनी सुंदरी से प्यार हो गया. राजा की अनिता से मुलाकात स्पेन के वार्षिक मेले में हुई थी. जहां अनिता कैबरे डांसर बनकर आई हुई थी. दरअसल राजा स्पेन वहां के राजा के निमंत्रण पर एक शादी समारोह में गया हुआ था.

अनिता का डांस महाराजा देखता ही रह गया
महाराजा ने इससे पहले ही अनिता की सुंदरता की चर्चाएं सुन रखी थीं. वाकई ये बात सच थी. जब अनिता डांस कर रही थी, तो महाराजा उसे देखता ही रह गया. वो उस पर और उसके डांस पर मोहित हो गया. राजा को इस डांस में हर मूवमेंट के साथ अनिता बिजली गिराती हुई महसूस हुई.



महाराजा ने जब अनिता डेलगाडो का कैबरे डांस देखा तो उस पर मुग्ध हो गया. और फिर खासतौर पर उससे जाकर मिला




दीवान जरमनी दास ने अपनी किताब महारानी में इस किस्से का विस्तार से वर्णन किया है. इसके अलावा जेवियर मोरो ने भी अपनी किताब में अनिता के बारे में लिखा है. इस पर बाद में एक फिल्म भी बनी.

महाराजा स्पेनी डांसर से प्यार करने लगा
महाराजा जगतजीत ने अनिता का कैबरे डांस देखने के बाद पूरी तरह उस पर मुग्ध हो गया. खासतौर पर महाराजा को डांस के बाद अनिता से मिलाया गया.दोनों की दोस्ती हो गई. ये दोस्ती गहरी हुई और फिर प्यार में बदल गई. एक दिन महाराजा ने बेझिझक अपने प्यार को जाहिर कर दिया. अनिता को भी महाराजा को लेकर एक आकर्षण महसूस होने लगा था.

स्पेनिश सुंदरी के पिता ने शादी का प्रस्ताव ठुकराया
जब राजा ने शादी का प्रस्ताव रखा तो अनिता ने कहा कि इसमें एक ही अड़चन है कि पिता की मंजूरी लेनी होगी. इसके बाद हम शादी कर लेंगे. महाराजा तब अनिता के साथ ही उसके पिता के पास उसका हाथ मांगने पहुंचा. पिता ने तो महाराजा से मिलने तक से इनकार कर दिया. वो एक मामूली आदमी था और स्पेन में अपने शहर की गलियों में उबले हुए आलू बेचने का खोंचा लगाता था. मुख्य तौर पर उसके घर का खर्च बेटी अनिता के डांस से ही चलता था. इसलिए वो बिल्कुल नहीं चाहता था कि अनिता शादी करके विदेश चली जाए.

अनिता के पिता ने जब महाराजा के साथ बेटी की शादी से इनकार कर दिया तो वो निराश तो हुआ लेकिन हार नहीं मानी. आखिरकार वो अनिता के पिता को बहुत मोटी रकम दी


तब पिता को राजा ने मोटी रकम का चेक दिया
इसीलिए अनिता का पिता महाराजा की बात सुनना तक नहीं चाहता था. अब महाराजा ने उसे इतनी मोटी रकम का चेक दिया कि वो मना नहीं कर सका. हालांकि उसके बाद भी कई दिक्कतें सामने आईं. पिता ने पूछा - क्या महाराजा की और पत्नियां भी हैं. महाराजा का जवाब था - हां. लेकिन उनमें से कोई भी अनीता की तरह सुंदरी नहीं है. इस बात पर पिता फिर अड़ गया. आखिरकार बेटी ने पिता को आश्वस्त कि उसे इससे कोई फर्क नहीं पड़ेगा, क्योंकि वो महाराजा ने बहुत प्यार करने लगी है.

फिर अनिता की शादी महाराजा से हुई
इसके बाद महाराजा की शादी हो गई. वो महल में आकर महारानी बनीं. उसका नाम बदलकर महारानी प्रेम कौर साहिबा कर दिया गया. महाराजा से उसे एक पुत्र हुआ, जिसका नाम अजीत सिंह था. अनिता इतनी सुंदर थीं कि उन्हें मैड्रिड के प्रसिद्ध पेंटर्स जूलियो रोमेरो और रिकार्डो बारोजा ने मॉडल बनने का प्रस्ताव दिया था लेकिन अनिता ने इसे ठुकरा दिया था.

बाद में हो गया अलगाव, अनिता पेरिस में जाकर रहने लगी

हालांकि बाद में दोनों में दूरियां बढ़ने लगी थीं. राजा का मन उससे भर गया था. जब राजा ने सातवीं शादी की तो अनिता वापस स्पेन लौट गई और दोनों में अलगाव हो गया. बाद में वो गुप्त रूप से सेक्रेट्री के साथ पेरिस में रहने लगी. महाराजा ने उसे लगातार धन देता रहा, वो कपूरथला से अपने जितने जेवरात लेकर लौटी थी, उसकी कीमत कई करोडो़ं में थी. अनिता का 07 जुलाई 1962 में निधन हो गया.

ये भी पढे़ं

भारत में 1 कोरोना वायरस पॉजिटिव व्यक्ति कर सकता है 1.7 लोगों को संक्रमित

10 प्‍वाइंट्स में समझें कैसे चीन ने कोरोना वायरस पर पाया काबू

इजरायल फोन ट्रैक कर तो कोरिया सख्‍त फैसले लेकर कोरोना को कर रहा काबू

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नॉलेज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 19, 2020, 2:26 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading