Home /News /knowledge /

मंगल पर है पानी, फिर जीवन होने की संभावना है कम, जानिए क्यों है ऐसा

मंगल पर है पानी, फिर जीवन होने की संभावना है कम, जानिए क्यों है ऐसा

मंगल पर यह नया शोध जीवन की संभावना को लेकर निराशा पैदा करता है.

मंगल पर यह नया शोध जीवन की संभावना को लेकर निराशा पैदा करता है.

अध्ययन से पता चला है कि मंगल (Mars) पर तरल नमकीन पानी (Brine) बनने की संभावना बहुत ही कम है जिसके कारण वहां जीवन की अनुकूलता नहीं है.

नई दिल्ली: क्या मंगल (Mars) पर जीवन है. इस सवाल का जवाब वैज्ञानिक सालों से ढूंढ रहे हैं. कई अंतरिक्ष अभियान मंगल तक भी पहुंचे हैं, लेकिन हाल ही में एक शोध ने इस दिशा में निराशा व्यक्त की है. शोध के मुताबिक मंगल ग्रह पर जीवन होने (Life sustainability) की संभावना कम हो गई है क्योंकि वहां लवण जल (Brinie), जो जीवन की अनुकूलता के लिए बहुत जरूरी है, बनने की संभावना कम ही है.

क्या पता चला शोध से
हाल ही में मंगल ग्रह पर किए गए बहुत से अवलोकन से पता चला है कि  मंगल पर आज भी तरल पानी हो सकता है. नेचर एस्ट्रोनॉमी में प्रकाशित शोधपत्र में शोधकर्ताओं की एक टीम ने दर्शाया है कि मंगल ग्रह पर जो तरल पदार्थ अभी मौजूद हैं, वे स्थलीय जीवन के वातारवरण के लिए उपयुक्त नहीं हैं.

मंगल पर लवण जल की भूमिका
 शोध पत्र के लेखक लूनार प्लैनेटररी इंस्टीट्यूट में यूनिवर्सिटी स्पेस रिसर्च एसोसिशन के वैज्ञानिक डॉ एडगार्ड जी रिवेरा वैल्टीन ने कहा कि पहले उनके शोध का मकसद मंगल ग्रह की धरती पर हाल ही में बहाव के देखे गए कुछ स्वरूपों के निर्माण में लवण जल की भूमिका अध्ययन करना था.

केवल तरल पदार्थ ही होना काफी नहीं
डॉ एडगार्ड ने कहा, “पृथ्वी पर जीवन की कुछ वातरवण संबंधी सीमाएं होती हैं.  हमारी यही जानने की कोशिश रही कि मंगल ग्रह पर तरल पदार्थों के होने और उसके वितरण का जीवन की संभावना पर क्या असर होगा. हमने इसकी भी पड़ताल की कि ऐसे वातावरण पृथ्वी पर जीवन का कितना समर्थन कर सकेंगे.”

तरल पानी के लिए कैसे हैं वहां के हालात
मंगल ग्रह पर तापमान कम होता है और वहां हालात काफी शुष्क होते हैं. इस वजह से तरल पानी की एक बूंद भी वहां छोड़ दी जाए तो वह या तो जम जाएगी, उबल जाएगी या फिर वाष्प बन कर उड़ जाएगा. ऐसा तब होगा जब उसमें नमक न हो. नमकीन पानी होने पर उसका जमाव तापमान कम होगा और उसके वाष्पीकरण के दर भी शुद्ध पानी की तुलना में कम होगी.

Mars
मंगल ग्रह पर शोधकार्य अब बढ़ता ही जा रहा है.


पानी तो है मंगल पर लेकिन
मंगल पर नमक बहुत सी जगहों पर पाया गया है. नमकीन पानी भी वहां हो सकता है. शोधकर्ताओं का कहना है कि साल 2008 में जब मंगल पर फीनिक्स रोवर उतरा था तो उसके खंबे के ऊपर नमकीन पानी की बूंदे के होने क प्रमाण मिले थे. वे शायद स्पेस क्राफ्ट के उतरने के दौरान उसकी गर्मी से बने थे.

नमकीन पानी भी बन सकता है
जब नमक को सभी तापमान और आर्द्रता मिल जाए तो वह नमकीन पानी में बदल जाता है. शोधकर्ताओं ने मंगल के इन्हीं हालातों को पृथ्वी पर बनाकर आर्कान्सस यूनिवर्सिटी में इन अभिक्रियाओं को समझने के लिए अध्ययन किया. उनका कहना है कि जो उन्होंने लैब में पाया वे बता सकते हैं कि मंगल पर क्या होने की संभावना है.

कब और कितनी देर तक बन सकता है लवण जल
शोधकर्ताओं ने लैब के नतीजों और मंगल की जलवायु की जानकारी का उपयोग कर एक मॉडल बनाया जो यह बता सकेगा की मंगल की सतह पर कब कहां और कितने समय से यह नमकीन पानी की स्थायी रह सकेंगे. शोधकर्ताओं ने पाया कि इस तरह मंगल की 40 प्रतिशत सतह पर नमक से बना पानी बन सकता है. लेकिन यह मंगल के साल के केवल 2 प्रतिशत समय के दौरान ही हो सकता है.

तापमान है समस्या
शोधकर्ताओं ने पाया कि मंगल पर स्थायी लवण जल (नमकीन पानी) होने का सबसे अधिक तापमान -48 डिग्री सेल्सियस है. यह उस तापमान से काफी नीचे है जो जीवन सहन कर सकता है. सालों से हमें इस बात कि चिंता थी कि मंगल पर स्थलीय जीवन  हो सकता है. लेकिन इन नतीजों ने इसकी संभावनाओं को काफी कम कर दिया है.

ऐसे में कितने अनुकूल है जीने के हालात
शोध से यह स्पष्ट होता कि मंगल की सतह स्थलीय जीवन के अनुकूल नहीं है क्योंकि तरल पदार्थ कभी कभी ही वहां बन सकते हैं. इसके अलावा जब भी वे बनते हैं तो कठोर हालात में बनते हैं. हालांकि यह भी हो सकता है कि इस तरह के हालात में पृथ्वी पर ही जीवन हो.

उम्मीद की जा रही है कि अगले साल मंगल के जजीरो क्रेटर पर पर्सवियरेंस रोवर के उतरने के बाद मंगल पर जीवन संबंधी हालात के बारे में नई जानकारी मिल सकती है.

यह भी पढ़ें:

क्या पृथ्वी के बाहर, दूसरे ग्रह से आ सकता है कोई वायरस, जानिए क्या है सच

जानिए क्या है डार्क मैटर और क्यों अपने नाम की तरह है ये रहस्यमय

जानिए क्या है Helium 3 जिसके लिए चांद तक पर जाने को तैयार हैं हम

पहली बार मिला ऐसा जीव जिसे ऑक्सीजन की जरूरत नहीं पड़ती, जानिए इसके मायनेundefined

Tags: Research, Science, Space

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर